साप्ताहिक करेंट अफेयर्स- 10 से 16 फरवरी, 2020

1948
current affairs in Hindi

वायु प्रदूषण से हर साल 10.7 लाख करोड़ रुपये का नुकसान उठा रहा भारत

  • पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में काम कर रही अंतरराष्ट्रीय संस्था ग्रीनपीस की ओर से जारी की गई एक रिपोर्ट में बताया गया है कि जीवाश्म इंधन के परिणामस्वरूप हो रहे वायु प्रदूषण से भारत को सालाना 10.7 लाख करोड़ रुपए का नुकसान उठाना पड़ रहा है। इस रिपोर्ट में वायु प्रदूषण की वजह से हर साल चीन को जहां 64 लाख करोड़ रुपए का नुकसान होने की बात कही गई है, वहीं अमेरिका को हर वर्ष 42 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है।
  • रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि भारत में वायु प्रदूषण के कारण हर साल 10 लाख लोग अपनी जान गंवा रहे हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन की तरफ से भी भारत में हर साल वायु प्रदूषण के कारण इतने लोगों की मौत की पुष्टि की गई है। WHO के अनुसार चीन में इसकी वजह से हर साल 18 लाख लोगों की मौत हो जाती है, जबकि दुनियाभर में वायु प्रदूषण हर साल 45 लाख लोगों की जिंदगी लील लेता है। फेफड़ों के कैंसर, स्ट्रोक, हृदय रोग और तीव्र श्वसन संक्रमण जैसे बीमारियों की वजह से अधिकांश लोगों की मौत होती है।

FIH प्लेयर ऑफ द ईयर का खिताब जीतने वाले पहले भारतीय बने मनप्रीत सिंह

  • अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (FIH) की ओर से भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह को वर्ष 2019 का सर्वश्रेष्ठ हॉकी खिलाड़ी चुना गया है. उन्हें FIH प्लेयर ऑफ द ईयर के खिताब से सम्मानित किया गया है। वर्ष 1999 से इस पुरस्कार की शुरुआत की गई थी, जिसे प्राप्त करने वाले मनप्रीत सिंह पहले भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं। सर्वाधिक 35.2 प्रतिशत वोट हासिल करके मनप्रीत सिंह ने यह पुरस्कार जीता है। दूसरे स्थान पर बेल्जियम के आर्थर वॉन डोरेन और तीसरे स्थान पर अर्जेंटीना के लुकास विला रहे हैं।
  • बीते वर्ष ओलिंपिक क्वालीफायर के दौरान जीत हासिल करके मनप्रीत सिंह के नेतृत्व में भारतीय हॉकी टीम ने 2020 टोक्यो ओलंपिक में अपना स्थान सुरक्षित कर लिया। मनप्रीत सिंह ने वर्ष 2012 एवं 2016 के भी ओलिंपिक में भारतीय पुरुष हॉकी टीम का नेतृत्व किया है। मनप्रीत सिंह पंजाब के जालंधर के रहने वाले हैं और वर्ष 2011 में उन्होंने भारतीय पुरुष हॉकी टीम से अपना अंतरराष्ट्रीय करियर शुरू किया था। भारत की ओर से मनप्रीत अब तक 260 अंतर्राष्ट्रीय हॉकी मैच भी खेल चुके हैं।

भारतीय मूल के ऋषि सुनक बने ब्रिटेन के वित्त मंत्री

  • ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की ओर से हाल ही में भारतीय मूल के ऋषि सुनक को ब्रिटेन के वित्त मंत्री का कार्यभार सौंपा गया है। यह पहला ऐसा मौका है जब ब्रिटेन की संसद में वित्त मंत्रालय का प्रभार किसी भारतीय मूल के व्यक्ति को मिला है। इससे पहले यह मंत्रालय पाकिस्तानी मूल के साजिद जाविद संभाल रहे थे। ऋषि सुनक भारत की अग्रणी आईटी क्षेत्र की कंपनी इंफोसिस के संस्थापक एनआर नारायण मूर्ति के दामाद भी हैं।
  • भारतीय मूल की ही प्रीति पटेल ब्रिटेन में इस वक्त गृह मंत्री के पद पर हैं। बोरिस जॉनसन के मंत्रिमंडल में ऋषि सुनक वित्त मंत्री बनकर दूसरे सबसे ऊंचे पद पर आसीन होने वाले भारतीय मूल के व्यक्ति बन गए हैं। ऋषि सुनक राजनीति में आने से पहले एक कामयाब कारोबारी के तौर पर जाने जाते थे।

नहीं रहे TERI के संस्थापक और पर्यावरणविद् डॉ. आरके पचौरी

  • संयुक्त राष्ट्र अंतर-सरकारी जलवायु परिवर्तन पैनल (IPCC) के चेयरमैन का पद संभालने के दौरान जलवायु परिवर्तन को लॉकर चर्चा का आगाज करने वाले और ऊर्जा एवं संसाधन संस्थान (TERI) की स्थापना करने वाले डॉ. आरके पचौरी का 79 वर्ष की आयु में निधन हो गया है। लंबे समय से बीमार चल रहे पचौरी की दिल्ली के एक अस्पताल में ओपन हार्ट सर्जरी भी हुई थी। वे लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर थे। TERI के प्रमुख के पद से उन्हें वर्ष 2015 में तब इस्तीफा देना पड़ा था, जब उन पर एक महिलाकर्मी ने यौन शोषण का आरोप लगा दिया था।
  • वर्ष 2012 से 2015 तक पचौरी IPCC के चेयरमैन रहे थे। इसी दौरान अमेरिका के पूर्व उपराष्ट्रपति अल गोर के साथ IPCC को भी संयुक्त रूप से शांति का नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया था। पर्यावरण के क्षेत्र में डॉक्टर आरके पचौरी का योगदान अतुलनीय रहा और इसलिए भारत सरकार की ओर से वर्ष 2001 में उन्हें जहां पद्मभूषण, वहीं 2008 में पद्म विभूषण अवार्ड से सम्मानित किया गया था। नैनीताल में 20 अगस्त, 1940 को जन्मे डॉ आरके पचौरी का पूरा नाम डॉ राजेंद्र कुमार पचौरी था।

पुलेला गोपीचंद को IOC ने प्रदान किया लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड

  • भारत के बैडमिंटन कोच पुलेला गोपीचंद को अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) की ओर से वर्ष 2019 का लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड प्रदान किया गया है। यह अवार्ड उन्हें भारत में खेल के क्षेत्र में विशेष योगदान देने के लिए दिया गया है। पुरस्कार के पुरुष वर्ग में ‘आनरेबल मेंशन’ से उन्हें सम्मानित किया गया है।
  • इस सम्मान को प्राप्त करने वाले पुलेला गोपीचंद पहले भारतीय भी बन गए हैं। सायना नेहवाल के साथ पीवी सिंधु और किदांबी श्रीकांत जैसे भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ियों को पुलेला गोपीचंद का मार्गदर्शन प्राप्त हुआ है। मूल रूप से आंध्र प्रदेश के रहने वाले पुलेला गोपीचंद भारत के पूर्व बैडमिंटन खिलाड़ी भी रहे हैं, जो प्रकाश पादुकोण के बाद ऑल इंग्लैंड ओपन बैडमिंटन चैंपियनशिप का खिताब अपने नाम करने वाले दूसरे भारतीय खिलाड़ी भी हैं।

हॉलीवुड स्टार ब्रैड पिट को मिला ऑस्कर अवॉर्ड

  • हाल ही में लॉस एंजेलिस में 92वें ऑस्कर अवॉर्ड्स समारोह में हॉलीवुड अभिनेता ब्रैड पिट को ऑस्कर अवॉर्ड प्रदान किया गया, जो कि उनका पहला ऑस्कर अवॉर्ड भी है। वन्स अपॉन ए टाइम इन हॉलीवुड फिल्म में उनके बेजोड़ अभिनय के लिए पिट को सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता का ऑस्कर अवॉर्ड प्राप्त हुआ। प्रोडक्शन डिजाइन का भी इस फिल्म को ऑस्कर अवॉर्ड हासिल हुआ। इस दौरान सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का ऑस्कर अवॉर्ड वाकीन फीनिक्स को मिला, जिन्होंने फिल्म जोकर में बेहद शानदार अभिनय किया था। साथ ही सर्वश्रेष्ठ अंतरराष्ट्रीय फीचर फिल्म के लिए ऑस्कर अवॉर्ड दक्षिण कोरिया की फिल्म पैरासाइट को प्राप्त हुआ। सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का ऑस्कर अवॉर्ड इसी फिल्म के निर्देशक बॉन्ग जून को प्रदान किया गया।
  • ऑस्कर पुरस्कार दरअसल ऑस्कर अकादमी पुरस्कार के लिए प्रयुक्त होता है, जिसे अमेरिका के एकेडमी ऑफ मोशन पिक्चर आर्ट्स एंड साइंसेज की ओर से हर वर्ष सर्वश्रेष्ठ निर्देशकों से लेकर कलाकारों, लेखकों और तकनीशियनों को भी प्रदान किया जाता है। पहली बार ऑस्कर अवॉर्ड्स समारोह का आयोजन वर्ष 1929 में 16 मई को हुआ था।

अरविंद केजरीवाल ने तीसरी बार ली दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ

  • दिल्ली विधानसभा चुनाव में जीत हासिल करने के बाद आम आदमी पार्टी के संयोजक और इससे पहले भी लगातार दो बार दिल्ली के मुख्यमंत्री रहे अरविंद केजरीवाल ने लगातार तीसरी बार बीते 16 फरवरी को मुख्यमंत्री के तौर पर दिल्ली के रामलीला मैदान में शपथ ली। दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने उन्हें पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई।
  • केजरीवाल के साथ उनके मंत्रिमंडल के छ: सदस्यों ने भी इस दौरान शपथ ली। आप को दिल्ली विधानसभा चुनाव में 70 में से 62 सीटों पर जीत मिली थी। पहली बार केजरीवाल 28 दिसंबर, 2013 से 14 फरवरी, 2014 तक मुख्यमंत्री रहे थे। दूसरी बार वे 14 फरवरी, 2015 को दिल्ली के मुख्यमंत्री बने थे।

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.