CBSE 12th Board Exam 2020 के Difficulty Level को यूं बनाएं आसान

1726
CBSE 12th Board Exam 2020 difficulty level and exam pattern

CBSE 12th Board Exam 2020 में कई changes देखने को मिलने वाले हैं। इसमें internal assessment लागू करने से लेकर प्रश्नपत्रों के format में बदलाव तक शामिल हैं। नये exam pattern के अनुसार CBSE ने school-based/internal assessment को अधिक weight दिया है। यहां हम आपको सभी तरह के बदलावों के बारे में बता रहे हैं, ताकि परीक्षा की तैयारी इसके अनुरूप करके आप अच्छे अंक प्राप्त कर सकें।

CBSE 12th board exam pattern 2020: ये हैं बड़े बदलाव

CBSE की ओर से 12वीं बोर्ड की परीक्षा में जो बदलाव किये गये हैं, वे निम्नवत हैं:

Objective Type questions की संख्या में इजाफा

  • परीक्षा में 25 फीसदी सवाल बहुवैकल्पिक (MCQs) होंगे।
  • 80 में से 60 अंकों के सवालों के ही descriptive answers देने होंगे।
  • इससे exam में स्कोर करना आसान होगा और MCQs की वजह से स्टूडेंट्स हर topic को अच्छी तरह से समझने की कोशिश करेगे।

विभिन्न सवालों में Internal Choices की संख्या बढ़ी

  • सभी विषयों के question papers के सभी sections में बोर्ड वर्ष 2019 की बोर्ड परीक्षा से ही internal choices की संख्या को 33 फीसदी तक बढ़ा चुका है।
  • वर्ष 2020 में भी यही व्यवस्था जारी रहेगी।
  • इससे स्टूडेंट्स को वह विकल्प चुनने में आसानी होती है, जिसमें वे खुद को अधिक confident पाते हैं और इससे वे अच्छा स्कोर कर पाते हैं।

सभी विषयों में Internal Assessment

  • पहले कई विषयों जैसे कि Mathematics, Languages और Political Science में internal assessment की व्यवस्था नहीं थी, मगर अब सभी विषयों में 20 फीसदी अंक internal assessment के लिए आवंटित कर दिये गये हैं।
  • इस तरह से वर्ष 2020 से सभी विषयों की लिखित परीक्षा 80 फीसदी अंकों की होगी और internal assessment 20 फीसदी अंकों का होगा। Science और Fine Arts में कोई बदलाव नहीं हुआ है।

Final Result में School Exams का Weight 10 अंकों का

  • स्कूल में ली जाने परीक्षाओं में भी स्टूडेंट्स को बेहतर प्रदर्शन करना पड़ेगा, क्योंकि इन परीक्षाओं का weight 10 अंक के बराबर कर दिया गया है।
  • Internal Assessment जो 20 अंक के होंगे, उनमें से 10 अंक स्कूल की परीक्षाओं के रिजल्ट के आधार पर दिये जाएंगे।

English में Speaking and Listening (ASL) के Assessment के लिए 20 अंक

  • CBSE 12th Board Exam 2020 में English में internal assessment के 20 अंक ASL के आधार पर दिये जाएंगे।
  • स्टूडेंट्स की English में speaking और listening skills की जांच की जाएगी, जिसके आधार पर अंक दिये जाएंगे।
  • External Examiner इसका आयोजन करेंगे।

External Examination Centres पर हो सकते हैं Practical Exams

  • Theory exam की तरह ही practical exam भी CBSE 2020 से external examination centres पर ले सकता है।
  • CBSE के नोटिफिकेशन के मुताबिक practical exams अगले महीने यानी कि दिसंबर में शुरू हो सकते हैं और theory exams 15 फरवरी, 2020 से हो सकते हैं। हालांकि अब भी बोर्ड की ओर से इसकी पुष्टि होनी बाकी है।

वर्ष 2019 के प्रश्नपत्रों का विश्लेषण

Mathematics

  • प्रश्न 1 से 4 तक – 1 अंक प्रत्येक।
  • प्रश्न 5 से 12 तक – 2 अंक प्रत्येक।
  • प्रश्न 13 से 23 तक – 4 अंक प्रत्येक।
  • प्रश्न 24 से 26 तक – 6 अंक प्रत्येक।
  • सवाल थोड़े tough आये थे और इनमें से कई tricky भी थे। पेपर lengthy था और समय पर complete करना भी थोड़ा मुश्किल था। पिछले वर्ष के question papers से भी कई सवाल आये थे। कुछ सवाल class 12th के NCERT के Math textbook से भी पूछे गये थे। कुल मिलाकर पेपर moderate से difficult level का था।

Physics

  • प्रश्न 1 से 5 तक Very short-answer type questions- 1 अंक प्रत्येक।
  • प्रश्न 6 से 12 तक Short-answer type questions- 2 अंक प्रत्येक।
  • प्रश्न 13 से 24 तक Long-answer I type questions- 3 अंक प्रत्येक।
  • प्रश्न 25 से 27 तक Long-answer II type questions- 5 अंक प्रत्येक।
  • पेपर आसान था। Section D थोड़ा tough और Section C थोड़ा tricky था। Numericals से अधिक सवाल पूछे गये थे। इसके पिछले साल के question papers से भी 2-4 सवाल आये थे।

Chemistry

  • अंकों की details Physics के समान
  • पेपर ज्यादा lengthy नहीं था। कुछ सवाल numericals से और अधिकतर सवाल Organic Chemistry से पूछे गये थे। से कुछ tricky सवाल पूछे गये थे। कुल मिलाकर प्रश्नपत्र moderate level का था।

Biology

  • अंकों की details Physics & Chemistry के समान
  • Chemistry और Physics की तुलना में Biology का पेपर आसान था। Difficulty level भी लगभग समान ही था। यह ज्यादा lengthy भी नहीं था।

English

  • सेक्शन A में Unseen Passage- 20 अंक।
  • सेक्शन B में Writing Skill- 30 अंक।
  • सेक्शन C में Literature- 30 अंक।
  • English का पेपर time consuming और lengthy भी था। Question paper का difficulty level आसान था। इसके पिछले साल के पेपर के मुकाबले questions आसान थे।

Other subjects

  • Economics का difficulty level average था। लेटेस्ट Economic Syllabus से ही सवाल पूछे गये थे। National Income से संबंधित questions थोड़े tricky थे। Class 12 Economics Sample Paper 2019 (Issued by CBSE) से भी कई सवाल मिलते-जुलते आये थे।
  • History का difficulty level moderate था। लेटेस्ट History syllabus से ही सवाल पूछे गये थे। इसके पिछले साल के पेपर से दो-तीन सवाल repeat हुए थे।
  • Geography का difficulty level न तो ज्यादा कठिन और न ही ज्यादा आसान था। Sample papers से कई सवाल मिलते-जुलते पूछे गये थे।
  • Political Science का difficulty level moderate था। कई स्टूडेंट्स का कहना था कि पेपर बहुत lengthy आया था।
  • Business Studies का difficulty level low था। एक अंक के 3 सवाल में, 3 अंक के 2 सवाल में, 4 अंक के 2 सवाल में, 5 अंक के एक सवाल में और 6 अंक के एक सवाल में internal choices दिये गये थे, जिनमें से किसी एक का जवाब देना था। पिछले साल के question papers से दो-तीन सवाल repeat भी हुए थे।
  • Accountancy का difficulty level moderate था। पार्ट बी में Financial Statement के सवाल आसान थे। कई स्टूडेंट्स ने बताया था कि पेपर बहुत lengthy आया था। कुछ tricky सवालों ने परेशान किया था।
  • Physical Education का difficulty level average था। इसके पिछले साल के question papers से भी कई सवाल repeat हुए थे।
  • Computer Science का difficulty level moderate था। इसके पिछले साल के questions papers से मिलते-जुलते बहुत से सवाल पूछे गये थे, जिससे स्टूडेंट्स को जवाब देने में आसानी हुई थी।

चलते-चलते

CBSE के 12th board exam pattern 2020 का अंदाजा आपको इसे पढ़ने के बाद हो गया होगा। इसके difficulty level को ध्यान में रखते हुए आप अपनी तैयारी कर लें। आपको अच्छा score करने से कोई नहीं रोक पायेगा। हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.