“बड़ी सोच का बड़ा जादू”… सकारात्मक सोच आपकी ज़िंदगी के मायने बदल देगी!

527
Badi Soch Ka Bada Jadoo book
PLAYING x OF y
Track Name
00:00
00:00


कई बार हम भरपूर कोशिशों के बाद भी अपने लक्ष्य को पाने में सफल नहीं हो पाते हैं। ये असफलता हमें निराशाओं से तो घेरती ही है… साथ ही जीवन में आगे बढ़ने से भी रोकती है। हम अक्सर नाकामियों से घबराकर हाथ पर हाथ रख कर बैठ जाते हैं… लेकिन ये विचार नहीं करते हैं कि हमारी कोशिशों में कहां कमी रह गई। दरअसल ये कमी कहीं ना कहीं हमारी ‘सोच’ में होती है। महात्मा बुद्ध ने कहा है “जैसा आप सोचते हैं वैसा आप बन जाते हैं”। यही सीख देती है डेविड जे. श्वार्टज की किताब “बड़ी सोच का बड़ा जादू” । हमारी बड़ी सोच ही बड़े अविष्कार कराती है। बेहतर सोच ही एक बेहतर इंसान और कामयाब इंसान बनाती है। सकारात्मक सोच सपनों को सच करने में मददगार साबित होती है, तो महसूस कीजिए बड़ी सोच के बड़े जादू को।


“बड़ी सोच का बड़ा जादू” पुस्तक
में जिक्र किया गया है कि आप किस तरह अपनी सोच के दम पर सफलता की ऊंचाइयों को छू सकते हैं। ये किताब हमें बताती है कि किस तरह एक बड़ी सोच, आपको हर मुसीबत से बाहर निकाल लेती है… एक बेहतर और बड़ी सोच ही आपको अपने लक्ष्य के प्रति केंद्रित रहना सिखाती है… और साथ ही सफलता प्राप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका भी अदा करती है। एक सकारात्मक सोच हमारे जीवन को एक बेहतर रूप देने में सहायक होती है। डेविड कि ये पुस्तक बताती है कि कैसे मनुष्य स्वंय को भीड़ से अलग कर एक उम्दा व्यक्तित्व कायम कर सकता है… कैसे खुद को औरों से बेहतर बनाकर अपनी एक अलग पहचान दर्ज कर सकता है। खुद को बेहतर और सफल बनाने के लिए डेविड की “बड़ी सोच का बड़ा जादू” पुस्तक जीवन में एक बार जरूर पढ़नी चाहिए।

“बड़ी सोच का बड़ा जादू” पुस्तक The Magic Of Thinking Big का अनुवाद है। इसका हिंदी अनुवाद डॉक्टर सुधीर दीक्षित ने किया है । अब तक डेविड की ये किताब 40 लाख से भी ज्यादा लोगों के बीच पहुंच चुकी है और लाखों लोग इस पुस्तक से प्रेरित होकर लाभ उठा रहे हैं। इस पुस्तक में 13 अध्याय हैं… हर अध्याय में मनुष्य को सफलता प्राप्त करने के महत्वपूर्ण आयाम बताएं गए हैं… साथ ही मनुष्य को एक सफल जीवन पाने के लिए किन-किन विचारों पर विजय हासिल करना है… इस पर भी मुख्य रूप से ध्यान आकर्षित किया गया है।

आपकी सफलता का स्तर आपके दृढ़ विश्वास से निर्धारित होता है, यदि आपके लक्ष्य छोटे होंगे तो आपकी सफलता भी छोटी ही होगी।”…. डेविड जे.श्वार्टज

“बड़ी सोच का बड़ा जादू” पढ़कर लाखों लोगों ने अपने जीवन में सफलता हासिल की हैं। इस चर्चित पुस्तक के लेखक डेविड जे.श्वार्टज एक अमेरिकी मोटिवेशनल स्पीकर और ट्रेनर हैं। लेखक जार्जिया स्टेट युनिवर्सिटी में प्रोफेसर रह चुके हैं। डेविड दुनिया भर में अपनी मोटिवेशनल स्पीच के लिए जाने जाते हैं। डेविड ने क्रिएटिव एडुकेशनल सर्विसेज इंक (CREATIVE EDUCATIONAL SERVICES INC) के नाम से एक फर्म की भी स्थापना की थी। डेविड कहते हैं कि एक आम मनुष्य भी अपनी सकारात्मक सोच के द्वारा बहुत ऊंचे लक्ष्यों की प्राप्ति कर सकता है। मनुष्य बड़ा या छोटा सिर्फ अपनी सोच से होता है। आपकी सोच जिस तरह की होगी… आपके रास्ते भी उसी तरह से तय होंगे। इसलिए लाल बहादुर शास्त्री की ये पंक्ति हमेशा से चर्चा में रहती है… “सादा जीवन उच्च विचार।”

जब आप मानते हैं कि कुछ किया जा सकता है, तो वास्तव में विश्वास करें, आपका मन इसे करने के तरीके ढूंढ लेगा। एक समाधान पर विश्वास करने से समाधान का मार्ग प्रशस्त होता है। …. “ बड़ी सोच का बड़ा जादू

हमारा समाज अक्सर कोई सकारात्मक काम करने से पहले  हमें रोकने की कोशिश करता है। बार-बार हमें यह जताया जाता है कि हम कोई भी बड़ा काम नहीं कर सकते हैं। हमें कामयाबी मिलने की गुंजाइश बहुत कम है। हमें अपने सपने अपनी हैसियत के अनुसार ही देखने चाहिए। पुरानी कहावत है कि जितनी चादर हो, उतना ही पैर पसारना चाहिए। लेकिन हमें चादर के बाहर की सोच रखने की दरकार हैं…. पैर चादर के बाहर जाएंगे तब ही हम चादर को बड़ी करने की सोच रखेंगे, वरना तो जितनी चादर है उतने में ही सिकुड़ के रह जाएंगे।

एक आम इंसान कोई भी बड़ा काम करने से पहले डर जाता है। यह डर उसे कोई भी नया काम शुरू करने नहीं देता। उसके पास जितना है, उतने में ही संतुष्ट हो जाता है। वह जीवन में रिस्क उठाने से डरता है। वह हार और जीत के बीच की कड़ी से डरता है।

तो एक बेहतर और सफल मनुष्य बनने के लिए सबसे पहले अपनी सोच पर विजय हासिल करना सबसे ज्यादा अहम है। डेविड की पुस्तक “बड़ी सोच का बड़ा जादू” आपके लिए अपनी सोच को सकारात्मक और बेहतर बनाने में मददगार साबित होगी। जहां यह पुस्तक सकारात्मक और बड़ी सोच के वैल्यू को बताती है, वहीं एक बड़ी सोच के जरिए सफलता की सीढ़ियों को चढ़ना भी सिखाती हैं। शेक्सपियर ने सोच को लेकर कहा है कि “कोई भी चीज बुरी या अच्छी नहीं होती। हमारा नज़रिया ही उसे अच्छी या बुरी बनाता है।” आप इस बात को ऐसे समझ सकते हैं… जैसे एक चोर के लिए चोरी करना उसकी जीविका का साधन है, लेकिन एक शरीफ इंसान के लिए चोरी करना एक अपराध है। यहां सिर्फ एक नज़रिया है, जो अच्छा और बुरा है।

डेविड ने अपनी पुस्तक “बड़ी सोच का बड़ा जादू” में इस बात को माना है कि अगर मनुष्य में अपने सपनों को पूरा करने का दृढ़ विश्वास होगा तो वह अवश्य ही अपने सपनों को पूरा करने में सफल हो जाएगा। हर एक आम इंसान चाहता है कि वह एक औसत जिंदगी से बेहतर जीवन जीये। एक बेहतर और सफल जीवन पाने के लिए मनुष्य को अपने आत्मविश्वास के साथ साथ अपनी सकारात्मक सोच पर भी काम करने की दरकार है। आपकी सोच आपको बेहतर ज़िंदगी देने में आपकी पूरी मदद करेगी। लेखक ने अपनी पुस्तक “बड़ी सोच का बड़ा जादू” में कई कामयाब लोगों के उदाहरण दिए हैं। जिन्होंने सिर्फ अपनी बड़ी सोच के बलबूते, अपना नाम महानतम लोगों की लिस्ट दर्ज करा लिया है। कहते हैं कामयाबी का कोई शॉर्टकट नहीं होता, हमें कामयाब होना है तो बाकियों के मुकाबले हमें दोगुनी शक्ति, लगन और क्षमता से काम करने की दरकार है। यह तभी संभव है जब हम अपनी सोच को सकारात्मक रखें। सकारात्मक सोच मनुष्य को सकारात्क ऊर्जा प्रदान करता है। सकारात्मक सोच, मनुष्य को कभी थकने नहीं देता है। सकारात्मक सोच, कभी पीछे मुड़ना नहीं सिखाती है। सकारात्मक सोच, समाज और नकारात्मक लोगों से लड़ना सिखाती है। सकारात्मक सोच, आपको खुद ब खुद नकारात्मक विचारों से दूर कर देती है। सकारात्मक सोच, मानसिक मजबूती देती है। बेहतर और सकारात्मक सोच से अपने लक्ष्य को पाना और सपनों को साकार करना आसान हो जाता है।

एक बेहतर सोच आपको जीवन में वह सब दिला सकती है, जिसके आप सिर्फ सपने देखते हैं … आलिशान घर, बड़ी गाड़ी, सुख सुविधा और बड़ा नाम। “बड़ी सोच का बड़ा जादू” पुस्तक से प्रेरणा लेकर लाखों लोगों ने अपनी ज़िंदगी को पहले से बेहतर बनाया हैं। आप भी इस पुस्तक की मदद से अपनी जिंदगी के अधूरे सपने पूरे कर सकते हैं। नए ख्वाब बुन सकते हैं।

सकारात्मक सोच के साथ-साथ मनुष्य को खुद पर भरोसा होना भी बहुत जरूरी है। बिना भरोसा के आप किसी भी काम में सफल नहीं हो पाएंगे। सकारात्मक सोच को बनाए रखने के लिए मनुष्य को एक बेहतर इंसान होना भी जरूरी है। एक बेहतर इंसान ही सकारात्मक सोच को कायम रख सकता है। सकारात्मक सोच के द्वारा ही एक अच्छी सेहत और स्वास्थ्य का विकास होता है। सकारात्मक सोच ही आपको अपने सपनों को साकार करने में भरसक मदद करती है।

महात्मा बुद्ध ने कहा था कि “आज आप जो हैं, वह अपने कल के विचारों और निर्णय के कारण हैं। और कल जो होंगे वह आज के विचारों और निर्णय के अनुरूप होंगे।”

डेविड जे.श्वार्टज की पुस्तक “बड़ी सोच का बड़ा जादू” के अनुसार आपकी सोच पर ही आपका आज और आने वाला कल निर्भर है। कहते है कि “जैसा बोओगे, वैसा काटोगे”। इस पुस्तक को पढ़कर प्रेरणा मिलती है कि अच्छी सोच रखिए तो अच्छे फल की प्राप्ति होगी। “बड़ी सोच का बड़ा जादू” किताब को हर वर्ग को पढ़ना चाहिए, जिससे वो अपने आने वाले कल को संवार सकें, अपने सपनों को हकीकत बना सकें।

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.