Hero (The Secret) by Rhonda Byrne: आपकी जिंदगी का दर्पण

399
Hero (The Secret) by Rhonda Byrne summary
PLAYING x OF y
Track Name
00:00

00:00


Hero (The Secret) by Rhonda Byrne एक ऐसी किताब है, जो आपके अंदर के हीरो को जगाती है और उन सपनों को पूरा करने के लिए प्रेरित करती है, जिसके लिए आप इस दुनिया में आए हैं।

कोई चलता पदचिह्नों पर, कोई पदचिह्न बनाता है।

है वही सूरमा इस जग में, दुनिया में पूजा जाता है।

जी हां दोस्तों, सूरमा से मतलब हीरो से है। वह हीरो जो आपके अंदर छिपा हुआ है। वह हीरो, जिसे यदि आपने पहचान लिया, तो इसके बाद आपको अपनी ज़िन्दगी को जीने का एक मकसद मिल जाएगा। Rhonda Byrne की किताब हीरो (दी सीक्रेट) आपको अपने अंदर छिपे इसी हीरो को पहचानने में मदद करती है। इस किताब को यदि आपने पढ़ना शुरू कर दिया, तो जैसे-जैसे आप इसके पन्नों को पलटते जाएंगे, वैसे-वैसे आपके अंदर का हीरो बाहर आने के लिए अपने कदम बढ़ाना शुरू कर देगा। यदि हम यह कहें कि यह किताब दुनिया की सबसे ज्यादा प्रेरित करने वाली किताबों में से एक है, तो यह कहना बिल्कुल भी गलत नहीं होगा।

इस लेख में हम आपको Hero (The Secret) by Rhonda Byrne book summary in Hindi बताने जा रहे हैं, जिसे पढ़ लेने के बाद हमें पूरा यकीन है कि आप इस किताब को पढ़े बिना रह नहीं पाएंगे। तो चलिए अब हम शुरू करते हैं आपके अंदर छिपे हीरो को बाहर लाने का सफर।

हमारे अंदर छिपा एक ‘खास’

हो सकता है कि हम एक ऐसी जिंदगी जी रहे हों, जहां कि हमारे पास बहुत कुछ नहीं है। हम अभाव का सामना कर रहे हैं। ऐसे में लाजमी है कि हमारे अंदर यह सोच विकसित होने लगे कि जब हमारे पास कुछ है ही नहीं, तो भला हम अपनी ज़िन्दगी में क्या कर पाएंगे। ऐसी ही सोच को चुनौती देती है किताब Hero (The Secret) by Rhonda Byrne, जो यह बताती है कि अभाव का आपके सपनों से कोई लेना-देना नहीं है।

अपनी जिंदगी के लक्ष्य को, अपनी ज़िन्दगी के वास्तविक सपने को यदि आपने एक बार पहचान लिया, तो आपके अंदर जो हीरो छुप कर बैठा हुआ है, वह हर तरह की कमी जिंदगी में होने के बाद भी उन सपनों को पाने के लिए रास्ता बना ही लेगा। हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि हमारे अंदर एक ‘खास’ छिपा हुआ है। यह खास हमें बाकी लोगों से अलग बनाता है। यह खास ही हमारे हीरो बनने की वजह बनता है। यह खास ही हमें प्रेरित करता है कि अपने अंदर के हीरो को बाहर निकाल कर अब हम अपने सपनों की दुनिया तैयार करने की नींव डाल दें।

जब तक ‘संतोष’ नहीं, हर कामयाबी है अधूरी

हो सकता है कि अपनी ज़िन्दगी में आप बहुत काम कर रहे हों। जो काम आप कर रहे हैं, उसमें आपको कामयाबी भी मिल रही है। आप बहुत पैसे भी कमा रहे हैं। इतना सबकुछ होने के बाद भी यदि आपको इससे खुशी नहीं मिल रही है, तो इसका यही मतलब हुआ कि आपकी ज़िन्दगी का मकसद कुछ और है। आपके सपने कुछ और हैं। जब तक आप अपने सपनों को नहीं जीते हैं, तब तक आपको खुशी नहीं मिल सकती।

जब तक कि आप वह काम नहीं करते हैं, जिसे करने का सपना आपने हमेशा देखा है, तब तक आपको संतुष्टि नहीं मिलती है। इसलिए यह जरूरी है कि अपने सपनों को पूरा करने के लिए अब आप अपने कदम बढ़ाने शुरू कर दें। जो हीरो आपके अंदर छिपा है, इसे बाहर निकालकर इसे ही अपनी पहचान बनाने के लिए आप प्रयास करना शुरू कर दें।

आपके अंदर के हीरो की चाहत

किताब Hero (The Secret) by Rhonda Byrne यह कहती है कि आप खुद से बात करें और यह पता करें कि यदि आपके पास ज़िन्दगी में सभी तरह के संसाधन मौजूद हों, तो ऐसे में भला आप कौन-सा काम करना चाहेंगे। इस सवाल का जो जवाब आपको मिलता है, यकीन मानिए आप अपनी ज़िन्दगी में केवल उसी काम को करके खुश हो सकते हैं। इसका मतलब यह हुआ कि आप अपने सपने को पहचान चुके हैं। इसका अर्थ यह हुआ कि आपके अंदर के हीरो का चेहरा क्या है, अब वह आपको नजर आ चुका है।

इसलिए अब आपको कोशिश करनी है अपने अंदर छिपे हीरो की चाहत को अंजाम तक ले जाने की। जो सपना आपके अंदर का हीरो देख रहा है, उसे साकार करने के लिए अब आपको अपने कदम आगे बढ़ाने होंगे। किताब में लेखक ने सारा बैठली नाम की एक महिला का उदाहरण भी दिया है कि किस तरीके से उसने अपने अरबपति बनने के सपने को पहचाना और इसे पूरा करके भी दिखाया।

बाधाओं को चीर कर रास्ता बनाता है हीरो

यदि कोई भी इंसान यह सोचता है कि उसकी ज़िन्दगी में कभी भी किसी भी तरह की कोई परेशानी, कोई बाधा या कोई विपत्ति ना आए,।तो उससे बड़ा बेवकूफ और कोई भी नहीं हो सकता। यह ज़िन्दगी बिल्कुल एक नदी की तरह बह रही है। नदी के रास्ते में चाहे कोई भी चट्टान, कोई भी पहाड़ या कोई भी बाधा क्यों न आ जाए, नदी उसे चकनाचूर करते हुए आगे बढ़ जाती है और अपनी मंजिल तक पहुंच जाती है।

उसी तरीके से आपके अंदर जो हीरो छिपा हुआ है, उसे अपनी मंजिल तक पहुंचने के लिए अपना रास्ता इन्हीं बाधाओं के बीच से बनाना पड़ता है। जीवन में आने वाली तमाम मुश्किलों, हर तरह की कठिनाइयों, सभी प्रकार की बाधाओं को पार करते हुए और उन्हें मात देते हुए अपने सपनों की दहलीज तक पहुंचना ही असली ज़िन्दगी है। हमारे अंदर का हीरो बिल्कुल ऐसा होना चाहिए-

देता संघर्षों को न्योता मानवता की खातिर जग में।

ठोकर से करता दूर सदा जो भी बाधा आती मार्ग में।

जिंदगी दूसरों से है

दोस्तों हम में से अधिकतर लोग यही सोचते हैं कि जिंदगी हमारे खुद के लिए है, हमारे अपनों के लिए है, लेकिन Hero (The Secret) by Rhonda Byrne book summary in Hindi पढ़ने के बाद इस चीज का एहसास होता है कि यह ज़िन्दगी वास्तव में दूसरों से है। अपनी ज़िन्दगी में चाहे हम कितना कुछ भी क्यों न पा लें, लेकिन जो चीजें हमने पाई हैं, उनका आनंद लेने की भी एक सीमा बनी हुई है। उस सीमा के बाहर जाकर हम उस चीज का लुत्फ नहीं उठा सकते। उस सीमा के आगे जाकर उसका स्वाद हम नहीं ले सकते। अपने पास जो सुख-सुविधाएं हैं, जो खुशियां हैं, उनकी एक सीमा बनी हुई है।

वहीं, जब बात दूसरों की मदद करने की, दूसरों को खुशियां देने की और दूसरों के लिए जीने की आती है, तो इसमें कोई भी सीमा नहीं होती। जब हम ज़िन्दगी दूसरों के लिए जीना शुरू करते हैं, तब हमें इस बात का एहसास होता है कि हमारे अंदर का हीरो अब बाहर निकल आया है। यह हीरो हमें यह बताता है कि यह ज़िन्दगी दूसरों से ही है। वर्तमान परिप्रेक्ष्य में हमारे अंदर का जो यह हीरो कहीं खो गया है, उसे ढूंढ निकालने की बड़ी आवश्यकता है। इसलिए मैथिलीशरण गुप्त ने भी लिखा था-

हम कौन थे, क्या हो गए और क्या होंगे अभी?

आओ विचारे आज मिलकर ये समस्याएं सभी।

कल्पना से हकीकत तक

किताब Hero (The Secret) by Rhonda Byrne एक बहुत ही महत्वपूर्ण सीख यह भी देती है कि आप अपनी ज़िन्दगी में जिस तरह का हीरो बनना चाहते हैं, यानी कि अपने जीवन में आप जिस लक्ष्य को हासिल करना चाहते हैं, उसके बारे में सबसे पहले आप अपने दिमाग में एक तस्वीर बना लें कि वहां तक आप किस तरीके से पहुंचेंगे। इसके बाद इस पर विचार करते हुए चरणबद्ध तरीके से इस ओर जब आप आगे बढ़ेंगे, तो आखिरकार आप अपनी उस मंजिल तक पहुंच ही जाएंगे। अजीम प्रेमजी ने भी यही बताया है कि कामयाबी आपको एक बार अपने दिमाग में मिलती है और दूसरी बार असली दुनिया में।

और अंत में बात पते की

Hero (The Secret) by Rhonda Byrne book summary in Hindi  पढ़ने के बाद हमें यही एहसास होता है कि हमारे अंदर जो हीरो छिपा हुआ है, इसे यात्रा पर जाने के लिए तैयार करना जरूरी है। यह एक ऐसी यात्रा है, जिसकी मंजिल जीवन के सपने हैं और जिसका रास्ता हमारी ज़िन्दगी का बीत रहा हर एक लम्हा है। यह यात्रा पूरी होगी या नहीं, यह इस पर निर्भर करता है कि अपने अंदर के हीरो को हमने किस हद तक पहचाना है।

1 COMMENT

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.