क्या है ई-संजीवनी ओपीडी? | What is eSanjeevani OPD?

199
What is eSanjeevani OPD
PLAYING x OF y
Track Name
00:00

00:00


दोस्तों, हमारा जीवन तेजी से डिजीटल होता जा रहा है। इससे पहले वाले लेख में हमने लोगों को डिजीटल रूप से कानूनी सलाह देने के सम्बन्ध में बात की थी और आज का हमारा लेख लोगों को डिजीटल रूप से चिकित्सकीय परामर्श देने के सम्बन्ध में हैं। आज हम बात करने वाले हैं, ई-संजीवनी ओपीडी के विषय में। देश में कोरोना संकट के दौरान लोगों को घर में रहकर देखभाल करने की सलाह दी जा रही थी, ऐसे समय में लोगों को डॉक्टर्स के साथ जोड़ने के लिए भारत सरकार द्वारा eSanjeevaniOPD एप्लीकेशन शुरू की गयी थी। आइये जानते हैं क्या है ई-संजीवनी ओपीडी? और कैसे हम इसका लाभ उठा सकते हैं?

क्या है ई-संजीवनी? | What is eSanjeevani?

  • ई-संजीवनी एक इंटरनेट आधारित टेलीमेडिसन समाधान मंच है। ई-संजीवनी डॉक्टर-से-डॉक्टर(AB-HWC) और मरीज-से-डॉक्टर (eSanjeevani OPD) टेली-विमर्शों दोनों को सुविधाजनक बनाने के लिए एक स्वतंत्र, ब्राउज़र आधारित अनुप्रयोग है। ‘ई-संजीवनी’ ग्रामीण क्षेत्रों और अलग समुदायों दोनों में आम जनता के लिए विशेष स्वास्थ्य सेवाओं की पहुंच का भी विस्तार करता है।
  • ई-संजीवनी का उद्देश्य ग्रामीण बनाम शहरी, अमीर बनाम गरीब के बीच का अंतर कम करना तथा इनके बीच डिजिटल डिवाइड को कम करके स्वास्थ्य सेवाओं को न्यायसंगत बनाना है।
  • ई-संजीवनी की शुरुआत 16 जून 2009 को तात्कालिक राज्य मंत्री (संचार और सूचना प्रौद्योगिकी) श्री सचिन पायलट द्वारा की गयी थी। ई-संजीवनी केंद्रीय परिवार कल्याण मंत्रालय तथा सूचना प्रौद्योगिकी विभाग की एक संयुक्त डिजिटल पहल है।
  • स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, स्वास्थ्य सेवा वितरण के एक डिजिटल तरीके के रूप में, ई-संजीवनी धीरे-धीरे भारतीय स्वास्थ्य सेवा वितरण प्रणाली के लिए समानांतर धारा के रूप में आकार ले रही है।

क्या है संजीवनी ओपीडी? | What is eSanjeevani OPD?

  • ई-संजीवनी महत्वाकांक्षी पहल का दूसरा संस्करण ई-संजीवनी ओपीडी टेलीमेडिसिन प्लेटफॉर्म है। इसे 13 अप्रैल 2020 को प्रारम्भ किया गया था।
  • ई-संजीवनी ओपीडी को कोरोना महामारी के पहले लॉकडाउन के दौरान शुरू किया गया था। इसको शुरू करने का उद्देश्य लॉकडाउन के दौरान चरमराई स्वास्थ्य सेवा को संजीवनी प्रदान करना था।
  • प्रथम लॉकडाउन के दौरान अस्पतालों में सभी डॉक्टर व्यस्त थे और OPD बंद थी। उस समय देश की सेना के रिटायर डॉक्टर्स ने आगे आकर ई-संजीवनी ओपीडी की शुरुआत की थी।
  • यह प्लेटफार्म व्यक्तियों को मुफ्त परामर्श प्रदान करता है। ई-संजीवनी ओपीडी में मरीज की जांच रिपोर्ट जाँच कर उसके अनुसार परामर्श की सुविधा भी है। रोगी इसके द्वारा अपनी जाँच रिपोर्ट की फोटो खींचकर अपलोड कर सकता है।
  • यह सुविधा उन मरीजों के लिए मददगार साबित हुई है, जो कोरोना से पीड़ित न होकर किसी अन्य बीमारी से पीड़ित थे और उन्हें अस्पताल केवल रूटीन परामर्श के लिए जाना पड़ता था।
  • इसके अतिरिक्त इस OPD सुविधा से अस्पतालों में जुटने वाली भारी भीड़ में भी कमी देखी गयी है। अस्पतालों में सभी प्रकार के मरीजों को जाँच से पहले कोरोना टेस्ट करना पड़ रहा है। जो की काफी उबाऊ एवं लम्बी प्रक्रिया है, ई-संजीवनी ओपीडी के आ जाने से रोगी को अस्पताल की ओपीडी और कोरोना जाँच की अनिवार्यता से मुक्ति मिल गयी है।

क्या है संजीवनी AB-HWC? | What is eSanjeevani AB-HWC?

  • eSanjeevani AB-HWC यानि Ayushman Bharat-Health and Wellness Centre को स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा नवंबर 2019 में लॉन्च किया गया था।
  • eSanjeevani AB-HWC डॉक्टर-से-डॉक्टर टेलीमेडिसन परामर्श के लिए प्रारम्भ की गयी है , जिसमे दो या दो से अधिक भिन्न स्थानों में बैठे डॉक्टर डिजिटल माध्यम से सलाह मशवरा कर सकते हैं।
  • इसे दिसंबर 2022 तक केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना के तहत चिन्हित मेडिकल कॉलेज अस्पतालों के संयोजन में 1,55,000 स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों पर लागू किया जाना है।
  • वर्तमान में eSanjeevani AB-HWC लगभग 4,000 स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों पर काम कर रहा है और इतनी ही संख्या में HWCs को शामिल करने का काम चल रहा है।

गूगल प्ले स्टोर में उपलब्ध है eSanjeevaniOPD | eSanjeevaniOPD on Google Play Store

अब आप  eSanjeevani के एंड्राइड app को सीधे गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। यह 9.9 एमबी के साइज में उपलब्ध है तथा इसे 1 मिलियन से अधिक लोगों ने डाउनलोड किया है। इसे C-DAC द्वारा डेवलप किया गया है। इस app के इस्तेमाल के लिए आपको अपने फोन नंबर की जरूरत पड़ेगी। इसमें लॉगिन के लिए कुछ जरुरी जानकारी भरनी होगी तथा इसके पश्चात इसमें आपको Patient Registration/Generate Token, patient Login तथा patient Profile आदि विकल्प दिखाई देंगे। अपनी सुविधा के अनुसार विकल्प का चुनाव करके आप एप्लीकेशन का इस्तेमाल कर सकते हैं।

eSanjeevniOPD – अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न? | Frequently Asked Questions

Q1- क्या मुझे इस सेवा के इस्तेमाल के लिए कुछ फीस देनी होगी?

  • नहीं, आपको राष्ट्रीय दूरसंचार सेवा का उपयोग करने के लिए किसी को कुछ भी भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है।

Q2 -राष्ट्रीय टेलीकंसल्टेंट सेवा के लिए डॉक्टरों को कौन सूचीबद्ध करता है?

  • प्रत्येक राज्य में राष्ट्रीय दूरसंचार सेवा पर डॉक्टरों का पैनल राज्य सरकारों द्वारा तैयार किया जाता है।

Q3- टेलीमेडिसन क्या है?

  • विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, टेलीमेडिसिन स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं की डिलीवरी है, जहां सभी स्वास्थ्य देखभाल पेशेवरों द्वारा निदान, उपचार और बीमारी और चोटों की रोकथाम, अनुसंधान और मूल्यांकन आदि के लिए आईटी का उपयोग करने वाले सभी स्वास्थ्य देखभाल पेशेवरों द्वारा सभी हितों में एक महत्वपूर्ण कारक है। व्यक्तियों और उनके समुदायों के स्वास्थ्य को आगे बढ़ाने के लिए।

Q4टेलीकंसल्टेशन क्या है?

  • इंटरनेट ने आईटी एप्लिकेशन की गति और दायरे को तेज कर दिया है और लगभग पूरा उद्योग आईटी का लाभ उठा रहा है। स्वास्थ्य सेवा में, टेलीमेडिसिन आईटी के अनुप्रयोगों में से एक है और अब इसे दुनिया भर में स्वास्थ्य सेवा वितरण प्रणाली की सहायता के लिए एक सेवा वितरण चैनल के रूप में उपयोग किया जा रहा है। टेलीकंसल्टेशन टेलीमेडिसिन के अनुप्रयोगों में से एक है।
  • टेलीकंसल्टेशन आईटी का उपयोग रोगी और डॉक्टर के बीच संचार की सुविधा के लिए करते हैं जो अन्यथा भौगोलिक रूप से अलग हो जाते हैं। सरकार की राष्ट्रीय दूरसंचार सेवा। भारत सरकार इंटरनेट पर टेलीकंसल्टेशन को सक्षम बनाती है।

Q5- क्या मैं राष्ट्रीय टेलीकंसल्टेंट सेवाओं पर अपने मौजूदा स्वास्थ्य रिकॉर्ड डॉक्टरों के साथ साझा कर सकता हूं?

  • हां, पंजीकरण के समय आप अधिकतम तीन इलेक्ट्रॉनिक/डिजिटल स्वास्थ्य रिकॉर्ड अपलोड कर सकते हैं। टेलीकंसल्टेशन के दौरान डॉक्टर आपके द्वारा अपलोड किए गए स्वास्थ्य रिकॉर्ड देख सकेंगे।

Q6- क्या मुझे हर बार eSanjeevaniOPD का उपयोग करने के लिए फिर से पंजीकरण करना होगा?

  • हर बार जब आप ई-संजीवनी का उपयोग करते हैं तो आपको पंजीकरण करने की आवश्यकता नहीं होती है। हालाँकि, आपको हर बार समान चरणों को निष्पादित करने की आवश्यकता होगी अर्थात आप अपना टोकन जनरेट करने के लिए पंजीकरण पृष्ठ/फॉर्म से गुजरेंगे। यदि आप चाहें तो इस समय अपना विवरण अपडेट कर सकते हैं।

Q7- मुझे eSanjeevaniOPD का उपयोग करनेके लिए किन-किन चीज़ो की आवश्यकता है?

  • eSanjeevaniOPD का उपयोग करने के लिए आपको एक वेबकैम, क्रोम ब्राउज़र, इंटरनेट कनेक्शन (1 एमबीपीएस) के साथ एक लैपटॉप/पीसी की आवश्यकता है। यदि आप एमएस विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम का उपयोग कर रहे हैं, तो कृपया सुनिश्चित करें कि आपके लैपटॉप/पीसी में विंडोज 10 या बाद का संस्करण है।

Q8- क्या eSanjeevaniOPD स्मार्टफोन पर काम करती है?

  • वेबएप होने के अलावा eSanjeevaniOPD एक Android मोबाइल एप्लिकेशन के रूप में भी उपलब्ध है। इसे गूगल प्ले से डाउनलोड किया जा सकता है।

चलते चलते

दोस्तों,आज के इस लेख में आपने ऑनलाइन तरीके से डॉक्टर्स के साथ परामर्श करने के विषय में जानकारी प्राप्त की है। इसी प्रकार से बहुत सी ऐसी ऑनलाइन मेडिसिन मोबाइल एप्लीकेशन भी हैं, जिनके माध्यम से हम ऑनलाइन दवायें भी मंगा सकते हैं। जिसमे PharmEasy, NetMeds, Tata 1Mg, Apolo Pharmacy, Medlife आदि प्रमुख हैं। यह बात बिल्कुल सत्य है कि विज्ञान वरदान भी है और अभिशाप भी। जिस तरीके से एक विज्ञान प्रयोगशाला से कोरोना वायरस के दुर्घटनापूर्ण संचरण से पूरी दुनिया में मौत का तांडव मच गया है, ऐसे समय में विज्ञान के डिजीटल वरदान ने लोगों के स्वास्थ्य देखभाल, खाने-पीने, मनोरंजन आदि का भी पूरा ख्याल रखा है। ई-संजीवनी ओपीडी देश के डिजीटल भारत मिशन को संदर्भित करता है। इसी आशा के साथ कि हमारा देश डिजीटल क्षेत्र में रोज नये-नये आयाम स्थापित करेगा। हम इस लेख को यहीं समाप्त करते हैं। जय हिन्द !

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.