UP Board 2019 – 10वी की परीक्षा के लिए क्या है सिलेबस और कैसें करें इसकी तैयारी

526
UP Board history exam

ज्यादातर लोगों का मानना है कि इतिहास रट्टा मारने वाला विषय है। इस वजह से ये बोरिंग और ऊबाउ विषय भी है। लेकिन क्या आपको मालूम है कि इतिहास परीक्षा अच्छे नंबर लाने वाला एक अहम विषय भी है। इतिहास को रट्टा मारने के बजाए अगर थोड़ा ध्यानपूर्वक समझ कर पढ़ा जाए तो ये बहुत ही रोचक विषय है। यूपी बोर्ड 2019 की परीक्षा शुरू होने में अब केवल कुछ ही दिन हैं। ज्यादातर छात्र साल भर साइंस, मैथ्स को सॉल्व करने में अपना समय लगाते हैं। सोशल साइंस के विषयों को छात्र अक्सर अंतिम समय के लिए छोड़ देते हैं। यही वजह है कि अंतिम समय में ये विषय आपके लिए बोझिल बन जाते हैं। आज हम आपको बताएंगे कि कैसे इतिहास को पढ़ा जाए, जिससे वो मजेदार लगे। हम आपको ये भी बताएंगे कि आखिरकार यूपी बोर्ड 2019 के 10वीं की परीक्षा के लिए कैसे करें इतिहास की तैयारी।

UP Board 2019 के 10वीं के लिए इतिहास का रिवाइज्ड सिलेबस

ऐतिहासिक एवं सांस्कृतिक विरासत

इकाई-एक (08 अंक)

  • आधुनिक विश्व में वैचारिक क्रान्ति।
  • पुनर्जागरण
  • धर्म सुधार आन्दोलने खोजें एवं आविष्कार
  • औद्योगिक क्रान्ति एवं उसका प्रभाव
  • राजनीतिक क्रांतियां।
  • क्रान्तियों का सामान्य परिचय
  • फ्रांसीसी क्रान्ति- कारण तथा परिणाम
  • रूसी क्रान्ति- कारण तथा परिणाम
  • राष्ट्रवाद का विकास एवं विश्व युद्ध।
  • यूरोप में राष्ट्रवाद का विकास
  • प्रथम विश्वयुद्ध- कारण तथा परिणाम
  • द्वितीय विश्वयुद्ध- कारण तथा परिणाम

इकाई-दो (07 अंक)

  • आधुनिक भारत।
  • भारत में यूरोपीय शक्तियों का आगमन एवं प्रसार
  • प्रथम स्वतन्त्रता संग्राम-कारण एवं परिणाम
  • नवजागरण तथा राष्ट्रीयता का विकास (उदारवादी, अनुदारवादी)
  • भारतीय स्वतन्त्रता आन्दोलन।
  • गांधी विचारधारा, असहयोग आन्दोलन
  • सविनय अवज्ञा आन्दोलन तथा भारत छोड़ो आन्दोलन
  • क्रान्तिकारियों का योगदान, कूका आन्दोलन के प्रणेता श्री सतगुरू राम सिंह जी के योगदान
  • भारत विभाजन एवं स्वतन्त्रता प्राप्ति

इकाई-तीन (05 अंक)

  • मानचित्र कार्य

 कैसे करें 10वीं की परीक्षा के लिए इतिहास की तैयारी

  • इति‍हास के पेपर में अच्छे अंक लाने के लिए हमेशा तारीख, साल और स्थान को याद रखें। सोशल साइंस की परीक्षा में इतिहास के विषय में ये तीन चीजें बहुत मायने रखती है।
  • इतिहास को रट्टने से बचें। इतिहास के हर चैप्टर को इस तरह से पढ़े, जैसे वो आपके सामने घट रही हो। इससे चैप्टर आपके लिए रोचक भी बन जाएगा और आपको अच्छे ये याद भी हो जाएगा।
  • परीक्षा के वक्त प्रश्नों के उत्तर भी ऐसे दें, जैसे आप कोई कहानी बता रहे हों। यानी प्रश्नों के उत्तर स्टोरी फॉर्मेट में लिखें।
  • इतिहास का पेपर थ्योरी पर आधारित होता है। इसलिए किसी भी प्रश्न का उत्तर देते वक्त इस चीज का ध्यान रखें कि लाइन को बार- बार दोहराए नहीं।
  • इतिहास की तैयारी करते वक्त निष्कर्ष पर भी पूरा ध्यान दें। परीक्षा में भी इतिहास के विषय में लघु उत्तरीय और विस्तृत उत्तरीय प्रश्न पूछे जाते हैं। इन प्रश्नों के उत्तर के अंत में निष्कर्ष जरूर लिखें। इन भागों में ही सबसे ज्यादा अंक होते हैं।
  • इतिहास की तैयारी करते वक्त हमेशा उसके उत्तर को बिन्दुवार यानी की प्वाइंट में लिखने की कोशिश करें। प्वाइंट में उत्तर लिखने से ये पता चलता है कि आपको उसकी अच्छी जानकारी है और आपको उसमें पूरे मार्क्स भी मिलते हैं
  • पिछले पांच सालों के प्रश्न पत्रों की तैयारी करना बिल्कुल भी ना भूलें।

यूपी बोर्ड 2018 में इतिहास में पूछे गए कुछ प्रश्न

  1. मोनालिसा का चित्रकार कौन था?
  2. फ्रांस की क्रांति कब हुई?
  3. ब्रह्म समाज की स्थापना किसने की थी?
  4. अमेरिका की क्रांति का तीन कारण लिखिए।
  5. 19वीं शताब्दी के भारतीय पुनर्जागरण में राजा राम मोहन राय के योगदान की विवेचना करें।

निष्कर्ष

इतिहास को अगर मन और लग्न से पढ़ा जाए, तो ये बेहद रोचक विषय है। उम्मीद है कि UP Board 2019 के 10वीं के छात्र अगर इतिहास के पेपर के लिए इन महत्वपूर्ण टिप्स को अपनाते हैं, तो वो परीक्षा में अच्छे नंबर ला सकते हैं। यूपी बोर्ड 2019 से जुड़ी किसी भी समस्या के लिए आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.