पंडित जवाहर लाल नेहरू के बारे में ये बातें शायद ही जानते होंगे आप

952
Jawaharlal_Nehru

पंडित जवाहर लाल नेहरू, ये वो नाम है जो भारत के स्वतंत्रता के पहले और बाद की राजनीति में हमेशा केंद्र में रहा। भारत को अंग्रेजों की गुलामी से आजाद कराने में नेहरू जी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का साथ दिया था। नेहरू जी में देश प्रेम की ललक साफ दिखाई देती थी। १४ नवंबर १८८९ में जवाहर लाल नेहरू का जन्म इलाहाबाद में हुआ था। नेहरू जी को बच्चों से काफी लगाव था, इसलिए हर साल १४ नवंबर को बाल दिवस के रुप में मनाया जाता है। भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू का नाम किसी परिचय का मोहताज तो बिल्कुल भी नहीं है। लेकिन उनके जीवन से जुड़ी कई ऐसी रोचक बातें हैं, जो शायद ही आपको मालूम हो। तो चलिए बाल दिवस के इस विशेष मौके पर जानते हैं चाचा नेहरू से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें।

  • १६ साल की उम्र तक नेहरु जी की अधिकांश शिक्षा उनके घर पर ही हुई। उनके पिता मोतीलाल नेहरु खुद उन्हें घर में पढ़ाया करते थे।
  • साल १९१० में नेहरू जी ने कैंब्रिज में नेचुरल साइंस की डिग्री हासिल की। इसके बाद अगले दो साल में नेहरू जी ने बैरिस्टरी की पढ़ाई की।
  • साल १९१२ में भारत वापस आने के बाद नेहरू जी इलाहाबाद हाईकोर्ट में वकील के तौर पर प्रैक्टिस शुरू कर दी थी। लेकिन महात्मा गांधी के आंदोलनों और विचार से प्रभावित होकर वो उनके साथ हो लिए।
  • जवाहर लाल नेहरु वो पहले शख्स थे, जिन्होंने लाल किला में राष्ट्रीय ध्वज फहराया था।
  • पंडित जवाहर लाल नेहरू एक अच्छे लेखक भी थे। उन्होंने अंग्रेजी में कई पुस्तकें भी लिखी हैं जिनमें डिस्कवरी ऑफ इंडिया, टूवर्ड फ्रीडम और ग्लिम्प्स ऑफ वर्ल्ड हिस्ट्री प्रमुख हैं।
  • ‘Toward Freedom’ जवाहर लाल नेहरु की आत्मकथा है, जिसे उन्होंने १९३५ में जेल में लिखी थी। इस किताब को १९३६ में संयुक्त राज्य अमेरिका में प्रकाशित किया गया था।
  • नेहरू जी ने इंदिरा गांधी को १४६ पत्र लिखे, जिसे उनकी किताब ग्लिंपसेस ऑफ वर्ल्ड हिस्ट्री में पढ़ा जा सकता है।
  • जवाहर लाल नेहरू पर चार बार जानलेवा हमले हुए थे। पहली बार १९४७ में बंटवारे के दौरान उन पर हमला हुआ था। तब वे भारत-पाकिस्तान सीमा पर थे। इसके बाद १९५५ में महाराष्ट्र में चाकू से हमला किया गया। १९५६ में बम से रेल की पटरी उड़ाने की कोशिश भी नाकाम हो गई थी।
  • नेहरू को शांति के नोबेल पुरस्कार के लिए ११ बार नामित किया गया था।
  • ऊंची कॉलर वाली जैकेट का चलन नेहरू जी ने ही शुरू किया था। जो आज नेहरू जैकेट के नाम से फैशन आइकन बन गया है।
  • जवाहर लाल नेहरू एक चैन स्मोकर थे। वे ५५५ ब्रांड का सिगरेट इस्तेमाल किया करते थे। एक बार नेहरू जी भोपाल गए थे और उनकी सिगरेट खत्म हो गई ये सिगरेट पूरे भोपाल में नही मिली तो एक विशेष विमान में इंदौर से सिगरेट लाई गई।
  • जवाहर लाल नेहरू एक कश्मीरी पंडित थे।
  • जवाहर लाल नेहरू ने भिलाई, राउरकेला और बोकारो जैसे देश के सबसे बड़ी स्टील प्लांट स्थापित किए। उन्होंने आईआईएससी और आईआईटी जैसे कई बड़े शैक्षिक संस्थान भी स्थापित किए।
  • आजादी के आंदोलन में पंडित नेहरू को १९२९ में पहली बार जेल जाना पड़ा था। जिसके बाद वे कई बार जेल गए।
  • नेहरू जी को लाल गुलाब बहुत पसंद थे। वे हमेशा अपने जैकेट के पॉकेट में लाल गुलाब लगाया करते थे।
  • १९५५ में नेहरू जी को देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से नवाजा गया ।
  • जवाहरलाल नेहरू की मौत २७ मई १९६४ को हार्ट अटैक से हुई थी। उनके अंतिम संस्कार में १५ लाख लोग शामिल हुए थे।

जवाहर लाल नेहरू से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी संक्षिप्त में

जन्म- १४ नवंबर १८८९

जन्म स्थान- इलाहाबाद

माता- पिता का नाम- स्वरुप रानी और मोतीलाल नेहरू

पत्नी का नाम- कमला नेहरू

बच्चे- इंदिरा गांधी

प्रधानमंत्री बनने की तारीख- १५ अगस्त १९४७

निर्वाचित क्षेत्र- फूलपुर, इलाहाबाद

मृत्यु की तारीख- २७ मई १९६४

अंतिम संस्कार का स्थान- शांति वन, दरियागंज, दिल्ली

निष्कर्ष

नेहरू जी बच्चों को देश का सुनहरा भविष्य मानते थे। बच्चे नेहरू जी को चाचा नेहरू कह कर पुकारते थे। इसलिए आज भी लोग उन्हें प्यार से चाचा नेहरू के नाम से ही जानते हैं। नेहरू जी वो शख्स थे, जिसने भारत में गुट निरपेक्ष आंदोलन की नींव रखी। जिसने देश को न्यूक्लियर तौर-तरीकों में बढ़ाने की शुरुआत की। यही वजह से की उन्हें आधुनिक भारत का रचयिता भी कहा जाता है। पंडित जवाहर लाल नेहरू के योगदान को महज चंद शब्दों में समेट पाना नामुमकिन है।

 

Content Protection by DMCA.com

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.