ये हैं भारत के १० प्रमुख मुक्त विश्वविद्यालय, जो देते हैं दूरस्थ शिक्षा के लिए बेहतर विकल्प

507
Distance Learning Colleges

डिस्टेंस यानी कि दूरी, ऐसे में डिस्टेंस एजुकेशन के नाम से ही पता लग जाता है कि ऐसी शिक्षा जिसे हम दूर रख कर भी प्राप्त कर सकते हैं। इसमें शिक्षक और छात्रों को एक जगह आने की जरुरत नहीं होती। दूर रहकर भी छात्र शिक्षा हासिल कर सकते हैं। बदलते दौर ने इसे अब और भी ज्यादा आसान बना दिया है। डिस्टेंस एजुकेशन में छात्रों को साप्ताहिक क्लास, इंटरनेट, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग, ऑडियो टेप्स, किताबें जैसी कई अलग- अलग तकनीकों के जरिए पढ़ाया जाता है।

डिस्टेंस एजुकेशन शिक्षा प्राप्त करने का एक औपचारिक तरीका है, जिसकी शुरुआत १८५८ में लंदन विश्वविद्यालय में हुई थी। डिस्टेंस एजुकेशन की बढ़ती मांग की वजह से अब भारत में भी अब कई ऐसे विश्वविद्यालय, कॉलेज और संस्थानें हैं, जिन्होंने डिस्टेंस एजुकेशन की डिग्री देने की शुरुआत कर दी है। इन जगहों से आप विभिन्न विषयों के साथ डिप्लोमा, बैचलर, मास्टर और पीएचडी की डिग्री हासिल कर सकते हैं। आइए जानते हैं भारत में डिस्टेंस कोर्स करवाने वाले १० प्रमुख कॉलेजों के बारे में।

 

  1. इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, दिल्ली (IGNOU)

इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी, राष्ट्रीय स्तर का विश्वविद्यालय है। जिसकी ६७ क्षेत्रीय संस्थानें भी हैं। इसे इग्नू के नाम से भी जाना जाता है। इसकी स्‍थापना संसदीय अधिनियम के जरिए साल १९८५ में की गई थी। यहां से ना सिर्फ भारत बल्कि विदेशों के छात्र भी डिग्री हासिल करते हैं। भारत और अन्य ३३ देशों के लगभग ४० लाख छात्र इसमें अध्ययन करते हैं। इसे यूजीसी और डीईबी से मान्यता प्राप्त है। इसमें एडमिशन के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही तरीकों से आवेदन किए जा सकते हैं।

 

  1. सिम्बियोसिस सेंटर फॉर डिस्टेंस लर्निंग, पूणे (SCDL)

सिम्बियोसिस सेंटर फॉर डिस्टेंस लर्निंग भारत के प्रमुख ओपन यूनिवर्सिटी में से एक हैं। ये  एक स्वायत्त संस्थान है, जिसे यूजीसी और डीईबी से मान्यता प्राप्त है। यहां के लिए आवेदन ऑनलाइन मोड के माध्यम से ही किया जाता है। इसकी स्थापना साल २००१ में हुई थी। यहां से पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा, डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स की डिग्री हासिल की जा सकती है।

  1. आईएमटी डिस्टेंस एंड ओपन लर्निग इंस्टीट्यूट, गाजियाबाद

गाजियाबाद में करीब ६ एकड़ में फैली आईएमटी डिस्टेंस एंड ओपन लर्निग इंस्टीट्यूट को यूजीसी से मान्यता प्राप्त है। इस यूनिवर्सिटी से मैनेजमेंट और इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के क्षेत्र से जुड़े कई कोर्सेज को डिस्टेंस लर्निंग के जरिए किया जा सकता है। यहां आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से आवेदन कर सकते हैं।

 

  1. सिक्किम मणिपाल यूनिवर्सिटी, सिक्किम

यूजीसी से मान्यता हासिल कर सिक्किम मणिपाल यूनिवर्सिटी, सिक्किम के गैंगटॉक में स्थित है। ये एक प्राइवेट यूनिवर्सिटी है। ये अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम से कोर्सज करवाती है। डिस्टेंस से एमबीए की डिग्री देने में इसे भारत के अग्रणी संस्थानों में गिना जाता है। इसकी स्थापना साल २००१ में हुई थी। यह यूनिवर्सिटी डीईबी और यूजीसी द्वारा मान्यता प्राप्त है। यहां पर दाखिले के लिए ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है।

 

  1. यशवंतराव चव्हाण महाराष्ट्र ओपन यूनिवर्सिटी, नासिक

यशवंतराव चव्हाण महाराष्ट्र ओपन यूनिवर्सिटी की स्थापना जुलाई साल १९८९ में हुई थी। ये भारत की पांचवीं ओपन यूनिवर्सिटी है। इसे यूजीसी से मान्यता प्राप्त है। यशवंतराव चव्हाण महाराष्ट्र ओपन यूनिवर्सिटी एसोसिएट्स ऑफ इंडियन यूनिवर्सिटीज की मेंबर है। यहां से अंडर ग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट, डिप्लोमा और सर्टिफिकेट प्रोग्राम ऑफर किए जाते हैं। इसके कई क्षेत्रीय संस्थान महाराष्ट्र के अलग- अलग शहरों में स्थापित हैं, जहां जाकर आप आवेदन कर सकते हैं।

 

  1. यूनिवर्सिटी ऑफ़ मद्रास इंस्टिट्यूट, चेन्नई

यूनिवर्सिटी ऑफ़ मद्रास इंस्टिट्यूट ऑफ़ डिस्टेंस एजुकेशन की गिनती भारत के सबसे पुराने विश्वविद्यालयों में की जाती है। इसकी स्थापना साल १९८१ में हुई थी। इसे यूजीसी और डीईबी द्वारा मान्यता प्राप्त है। एमबीए की डिग्री के लिए मद्रास यूनिवर्सिटी डिस्टेंस एजुकेशन काफी लोकप्रिय है। यहां आवेदन ऑनलाइन और ऑफ़लाइन दोनों तरीकों के माध्यम से किया जा सकता है।

 

  1. डॉ. बाबा साहेब अम्बेडकर ओपन यूनिवर्सिटी, अहमदाबाद

डॉ. बीआर अम्बेडकर ओपन यूनिवर्सिटी की स्थापना साल १९८२ में हुई थी। इसे यूजीसी और डीईबी द्वारा मान्यता प्राप्त है। इस यूनिवर्सिटी के रीजनल सेंटर्स गुजरात के राजकोट और भुज में हैं। इस यूनिवर्सिटी के  आवेदन और भुगतान ऑनलाइन और ऑफ़लाइन माध्यम से किए जा सकते हैं।

 

  1. अन्नामलाई यूनिवर्सिटी, तमिलनाडू

अन्नामलाई यूनिवर्सिटी तमिलनाडु राज्य के अन्नामलाई नगर में स्थित है। यहां ३८० डिस्टेंस लर्निंग के साथ- साथ रेग्यूलर कोर्सेज भी करवाए जाते हैं। यहां ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है। लेकिन आपको दस्तावेद इसके पत्ते पर भेजना होगा।

 

  1. स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग, दिल्ली

स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग की स्थापना साल १९६२ में दिल्ली विश्वविद्यालय के तहत हुई थी। इसे भारत में दूरस्थ शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी संस्था में गिना जाता है। स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग आर्ट्स और कॉमर्स के विषयों में अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट की डिग्री प्रदान करता है। भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और कैबिनेट मंत्री स्मृति ईरानी भी यहां के छात्र रह चुके हैं।

  1. एमपी भोज ओपन यूनिवर्सिटी, भोपाल

मध्यप्रदेश के भोपाल शहर में स्थित एमपी भोज दूरस्थ विश्वविद्यालय को यूजीसी और डीईबी से मान्यता प्राप्त है। ये यूनिवर्सिटी स्नातक, स्नातकोत्तर की डिग्री प्रदान करती है। इस यूनिवर्सिटी कई सारे क्षेत्रीय सेंटर और रीजनल सेंटर मौजूद हैं। यहां आवेदन के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

निष्कर्ष

घनी आबादी वाले देश भारत में कई युवा ऐसे हैं, जो रोजगार की वजह से आगे की पढ़ाई नहीं कर पाते ऐसे में डिस्टेंस कोर्स उनके लिए काफी फायदेमंद साबित होता है। अलग-अलग लोगों के साथ कई अलग-अलग ऐसी परेशानियां होती हैं, जिसमें वे डिस्टेंस कोर्स को ज्यादा तवज्जो देते हैं। उम्मीद है डिस्टेंस कोर्सेज से जुड़ी आपकी समस्या का समाधान आपको हमारे इस आर्टिकल को पढ़कर जरूर मिल जाएगा। हमारा ये लेख आपको कैसा लगा नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं।

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.