आत्मनिर्भर भारत अभियान [Aatm Nirbhar Bharat Abhiyan]

680
आत्मनिर्भर भारत


31 दिसम्बर, 2019 वो तारिख है जिस दिन कोरोना वायरस संक्रमण की आधिकारीक घोषणा की गई थी और उसके बाद भारत सहित पूरे विश्व में, महामारी और अपूरणीय क्षति का लम्बा दौर चला जिसकी मानवता को एक भारी कीमत चुकानी पडी हैं और अभी भी चुका रहे है लेकिन हमारे नागरिको का अस्तित्व बना रहे और नौकरी छीन जाने पर भी वे बेरोजगारी की मार ना झेले इसके लिए भारत सरकार ने, युद्ध स्तर पर आत्म निर्भर भारत अभियान को शुरु किया जिसके तहत गरीबो का विकास, बेरोजगारो को स्वरोजगार की सौगात और एक आत्म निर्भर भारत का विकास करना ही इस अभियान का मौलिक लक्ष्य हैं जिसकी चर्चा हम, अपने इस लेख में, विस्तार से करेंगे।

आत्मनिर्भर भारत अभियान के इन प्राथमिक बिंदुओ पर होगी चर्चा –

  • आत्मनिर्भर भारत अभियान क्या है?
  • आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत कौन होंगे लाभार्थी?
  • क्या हैं आत्मनिर्भर भारत अभियान का मौलिक लक्ष्य?
  • आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत जारी अलग-अलग योजनायें?
  • आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत जारी पैकेज व पैकेज राशि?
  • आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत जारी पैकेज से कितनो को लाभ मिलेगा?
  • आत्मनिर्भर भारत से किन क्षेत्रो को मिलेगी नई पहचान?
  • आत्मनिर्भर भारत से किन क्षेत्रो को मिलेगी नई पहचान?
  • आत्मनिर्भर भारत अभियान के प्राथमिक संकल्प
  • आत्मनिर्भर भारत अभियान में, कैसे करना होगा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन?

आत्मनिर्भर भारत अभियान क्या है?

हम, अपने सभी पाठको व युवाओ को बताना चाहते हैं कि, आत्मनिर्भर भारत अभियान, एक देशव्यापी अभियान है जिसके शुभारम्भ की आधिकारीक घोषणा स्वयं प्रधानमंत्री श्री. मोदी द्धारा 12 मई, 2020 को की गयी ताकि देश के उन सभी 130 करोड़ भारतवासियों का सामाजिक-आर्थिक विकास किया जा सकें जिन पर कोरोना वायरस की दोहरी मार पड़ी है और जिनकी कमर आर्थिक तौर पर टूट चुकी है और पूरा परिवार दाने-दाने को मोहताज है।

इस अभियान ने, अभी आशा से भी बढ़कर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है लेकिन अभी कार्य पूरा नहीं हुआ है क्योंकि इस अभियान का ल्क्ष्य केवल गरीब भारतवासियो का विकास करना ही नहीं बल्कि उन्हें अपना रोजगार अर्थात् स्व-रोजगार स्थापित करवाकर पूरे देश को आत्म निर्भर बनाना है ताकि आत्मनिर्भर नागरिको से परिपूर्ण आत्मनिर्भर देश अर्थात् भारत का आत्मनिर्भर उदय हो सकें।

आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत कौन होंगे लाभार्थी?

आत्मनिर्भर भारत अभियान का मूल लक्ष्य को पूरे भारतवर्ष का सतत विकास करना है लेकिन हमारे कुछ लोगो को इस अभियान के तहत विशेष तौर पर लाभान्वित किया जायेगा जैसे कि – किसान, अंसगठित क्षेत्र के श्रमिक, कारीगर, प्रवासी मजदूर, सामाजिक-आर्थिक तौर पर कमजोर गरीब लोग, मछुआरे, पशुपालक, मध्यमवर्गीय परिवार व कुटीर उद्योगो मे, काम करने वाले हमारे भाई-बहनो को इस अभियान के तहत विशेष तौर पर लाभान्वित किया जायेगा।

क्या है आत्मनिर्भर भारत अभियान का मौलिक लक्ष्य?

साल 2020 कोरोना की भेंट चढ़ गया और पूरे विश्व सहित भारत को भी अपूरणीय क्षति का सामना करना पड़ा जिसका सर्वाधिक नकारात्मक प्रभाव हमारे प्रवासी मजदूरों पर पडा जिससे उनकी नौकरी चली गई और वे दाने-दाने के मोहताज बन गये। इन्हीं समस्याओ को समाप्त करने के लिए और अपने सभी देशवासियो का सामजिक-आर्थिक विकास करने के लिए भारत सरकार ने, आत्मनिर्भर भारत अभियान का देशव्यापी संचालन शुरु किया।

अभियान के हमारे सभी बेरोजगार लोगो व विशेषकर प्रवासी मजदूरो को स्व-रोजगार स्थापित करने के लिए सस्ती दरो पर वित्तीय सहायता प्रदान की गई व मुद्रा योजना के तहत लोगो को लोन प्रदान किया गया जिसका सिर्फ एक ही मौलिक लक्ष्य है और वो है आत्मनिर्भर भारत का उदय अर्थात् सभी भारतावसियो का सामाजिक-आर्थिक विकास ताकि उनका व उनके अपनो का सतत विकास हो सकें और इस प्रकार आत्म निर्भर भारत का निर्माण हो सकें यही इस अभियान का मौलिक लक्ष्य है।

आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत जारी अलग-अलग योजनायें?

जैसा कि, हम सभी जानते हैं कि, आत्मनिर्भर भारत अभियान का लाभ सभी तक पहुंचाने के लिए इसके अलग-अलग चरणो में, कई योजनायें जारी की गई हैं जिनकी एक संक्षिप्ति सूची इस प्रकार से है –

आत्मनिर्भर भारत अभियान 1.0 के तहत जारी योजनायें

  1. के.सी.सी योजना अर्थात् किसान क्रेडिट कार्ड योजना,
  2. एक देश एक राशन कार्ड योजना,
  3. प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना आदि।

आत्मनिर्भर भारत अभियान 2.0 के तहत जारी योजनायें

  1. LTC Cash Voucher Scheme,
  2. Festival Advance Scheme,
  3. Additional Capital Expenditure Scheme and
  4. Partial Credit Guarantee Scheme 2.0 आदि।

उपरोक्त सभी योजनाओ को आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत शुरु किया गया था ताकि हमारे सभी भारतवासियों का सतत विकास हो सकें और एक आत्मनिर्भर भारत का निर्माण हो सके।

आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत जारी पैकेज व पैकेज राशि?

आत्मनिर्भर भारत अभियान के अन्तर्गत देश के विकास के लिए कई तरह के अलग-अलग पैकेज जारी किये गये हैं जिनकी सूची इस प्रकार से है –

  1. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के तहत कुल 1,98,800 करोड रुपयो का पैकेज जारी किया गया,
  2. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज अन्न योजना के तहत कुल 82,911 करोड रुपयो का पैकेज जारी किया गया,
  3. आत्मनिर्भर भारत अभियान 1.0 पैकेज के तहत कुल 11.02,650 करोड रुपयो का पैकेज जारी किया गया,
  4. आत्मनिर्भर भारत अभियान 2.0 पैकेज के तहत कुल 73,000 करोड रुपयो का पैकेज जारी किया गया,
  5. आत्मनिर्भर भारत अभियान 3.0 पैकेज के तहत कुल 2,65,080 करोड रुपयो का पैकेज जारी किया गया,
  6. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के तहत कुल 12,71,200 करोड रुपयो का पैकेज जारी किया गया आदि।

उपरोक्त पैकेजो को के आधार पर हम, कह सकते हैं कि, आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत कुल 29,87,641 करोड़ रुपयो का पैकेज जारी किया गया ताकि ग्रामीण व शहरी भारत का आत्मनिर्भर विकास किया जा सके।

आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत जारी पैकेज से कितनो को लाभ मिलेगा?

आत्म भारत अभियान के तहत तमाम जारी पैकेजो से लाभान्वित होने वाले लाभार्थियो का एक आंकडा जारी कर दिया गया है जो कि, इस प्रकार से है-

  1. उद्योग व कारखानो में, काम करने वाले 3.8 करोड श्रमिको को इसका सीधा लाभ मिलेगा,
  2. वस्त्र उद्योग से जुडे 4.5 करोड लोगो को इस पैकेज के तहत वित्तीय सहायता प्रदान की जायेगी,
  3. 11 करोड उन लोगो को इसका लाभ मिलेगा जो कि, एम.एस.एम.ई से जुडे हैं,
  4. शहरी व ग्रामीण भारत के कुल 10 करोड असंगठित श्रमिको को इस अभियान के तहत लाभान्वित किया जायेगा,
  5. आत्म निर्भर भारत अभियान के तहत सम्पूर्ण देश का व इसके सभी क्षेत्रो का विकास किया जायेगा आदि।

उपरोक्त आंकडो की झलक के बाद हम और आप समझ सकते हैं कि, आत्म निर्भर अभियान का संचालन किस स्तर पर हो रहा हैं और इसके कितने दीर्धकालीन सरकारात्मक लाभ होंगे।

आत्मनिर्भर भारत से किन क्षेत्रो को मिलेगी नई पहचान?

आत्म निर्भर अभियान के तहत कई क्षेत्रो को नई पहचान मिलेगी जिससे इन क्षेत्रो से संबंधित लोगो का सीधे तौर पर विकास होगा और इस प्रकार आत्म निर्भर भारत का उदय होगा। इन क्षेत्रो की सूची इस प्रकार से हैं-

  1. सरल, स्पष्ट, पारदर्शी व जबावदेह निवेश प्रणाली को विकसित  करना,
  2. मेक इन इंडियो को बढावा देना,
  3. स्व-रोजगार की स्थापना करना और नये रोजगारो की बडे पैमाने पर उत्पत्ति करना,
  4. समर्थ व संकल्पित मानव संसाधन की पूर्ति करना,
  5. कृषि प्रणाली को पुन-जीवित करना,
  6. समस्त देशवासियो को बेहतर वित्तीय सुविधा प्रदान करना और
  7. देश के सतत विकास के लिए उत्तम आधिकारीक संरचना का निर्माण करना आदि।

उपरोक्त सभी क्षेत्रो को आत्म-निर्भर भारत अभियान के तहत शामिल करके इनका विकास किया जायेगा जिससे पूरे देश का विकास होगा।

आत्मनिर्भर भारत अभियान के प्राथमिक संकल्प

इस अभियान का लाभ सभी को मिले इसके लिए कुछ संकल्प लिये गये हैं जो कि, इस प्रकार  से है-

  1. सम्पूर्ण भारतवर्ष को कोरोना वायरस की महामारी से सुरक्षित रखना और कोरोना वायरस से हुए क्षति की पूर्ति करने करना,
  2. देश की विकास गति को अनवरत बनाये रखना ताकि देश विकास की राह पर आगे बढता रहे है,
  3. ग्रामीण भारत के सभी नागरिको को रोजगार के बेहतर व नियमित अवसर प्रदान करना ताकि उनका आर्थिक विकास हो सकें और
  4. आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत अपना स्व-रोजगार करने वाले सभी लोगो को वित्तीय सहायता प्रदान करना ताकि वे अपना स्व-रोजगार स्थापित कर सकें और आत्मनिर्भर बनकर अपना व अपनो का विकास कर सकें आदि।

उपरोक्त संकल्प इस अभियान के तहत लिये गये हैं जिनकी पूर्ति के लिए सतत गति से कार्य जारी है।

Aatm Nirbhar Bharat Abhiyaan में, कैसे करना होगा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन?

देश के हमारे सभी आवेदकगण जो कि, इस अभियान में, जुडना चाहते है या फिर इस अभियान का हिस्सा बनना चाहते है वे आसानी से ऑनलाइन पंजीकरण करके हो सकते है इस अभियान में, शामिल जिसकी सभी प्रक्रियायें इस प्रकार से हैं-

  1. आत्मनिर्भर भारत अभियान में, शामिल होने के लिए आपको पंजीकरण करना होगा और पंजीकरण के लिए आपको इसकी आधिकारीक वेबसाइट के होम-पेज पर आना होगा जिसके लिए आपको यहां पर क्लिक करना होगा,
  2. लिंक पर क्लिक करने बाद आपके सामने इसका होम-पेज खुलेगा जो कि, इस प्रकार का होगा –
  • होम-पेज के किनारे पर आपको ’’ पंजीकरण ’’ का विकल्प मिलेगा जिस पर आपको क्लिक करना होगा,
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा जो कि, इस प्रकार का होगा –
  • यहां पर आपको अपनी जानकारीयो को दर्ज करना होगा,
  • उसके बाद आपको ’’ क्रियेट न्यू अकाउंट ’’ के विकल्प पर क्लिक करना होगा,
  • इसके बाद आपके द्धारा दर्ज मोबाइल नंबर व ई-मेल आई.डी पर लॉगिन आई.डी व पासवर्ड भेज दिया जायेगा जिसकी मदद से आपको पोर्टल मे, लॉगिन करके आगे की प्रक्रिया को पूरा करना होगा।

ऊपर बताये गये सभी चरणो को पूरा करने के बाद हमारे सभी आवेदक, इस अभियान में, अपना पंजीकरण कर सकते है और अभियान का लाभ लेकर आत्मनिर्भर बन सकते है।

निष्कर्ष

हमारा भारत, आत्म निर्भर हैं इसमे कोई दो – राय नहीं लेकिन कोरोना वायरस की अपूरणीय क्षति को दूर करने के लिए भारत सरकार ने, 12 मई, 2020 को आत्म निर्भर भारत अभियान की आधिकारीक घोषणा करके सम्पूर्ण भारत में, इसका संचालन शुरु किया ताकि कोरोना वायरस  के कारण बिखर चुकी हमारी अर्थव्यवस्था को पुन समेटा जा सकें और पहले से बेहतर अर्थात् आत्म निर्भर भारत की आत्म निर्भर अर्थव्यवस्था का निर्माण किया जा सकें, यही इस अभियान का मौलिक लक्ष्य हैं।

आत्म निर्भर भारत अभियान को लेकर आपके सवाल और हमारे जबाव

सवाल 1– इस अभियान का पूरा नाम क्या हैं?

जबाव 1– आत्मनिर्भर भारत अभियान।

सवाल 2– इस अभियान की घोषणा कब और किसने की?

जबाव 2– इस अभियान की घोषणा 12 मई, 2020 को प्रधानमंत्री श्री. मोदी द्धारा की गई थी।

सवाल 3– इस अभियान के तहत किन लोगो को विशेष कर लाभान्वित किया जायेगा?

जबाव 3– किसान, पशुपालक, मछुआरे, असंगठित क्षेत्र के श्रमिक और प्रवासी मजदूर आदि।

सवाल 4– कोरोना के कारण छूटी नौकरी की समस्या को हल करने के लिए भारत सरकार ने, क्या कदम उठाया?

जबाव 4– भारत सरकार ने, आत्म निर्भर भारत अभियान के तहत स्व-रोजगार स्थापित करने के लिए वित्तयी सहायता प्रस्तुत की ताकी हमारे सभी लोग अपना रोजगार कर सकें और अपने आत्म निर्भर भविष्य का निर्माण कर सकें।

सवाल 5– हमारे आवेदक कैसे इस अभियान में, शामिल हो सकते है?

जबाव 5– हमारे आवेदक, इस अभियान में, ऑनलाइन आवेदन करके शामिल हो सकते है और अभियान का लाभ प्राप्त कर सकते है।

Content Protection by DMCA.com

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.