Master Plan Delhi 2041 क्या है?

315
Master Plan Delhi 2041

दिल्ली भारतीय राजनीतिक एवं सांस्कृतिक इतिहास का एक महत्वपूर्ण स्थान रही है। दिल्ली न जाने कितने बार बसाई और कितने बार उजाड़ी गयी है, लेकिन फिर भी दिल्ली अपने अस्तित्व को बचाये हुए है, दिल्ली कई वंशो के इतिहास और शासन की कहानी को खुद मे समेटे हुए है। पृथ्वीराज चौहान की दिल्ली, गुलामो की दिल्ली , खिलजी की दिल्ली ,तुगलक की दिल्ली ,सैय्यद की दिल्ली, मुगलों की दिल्ली,अंग्रेजो की दिल्ली, हिंदुस्तान की दिल्ली  या कहें दिल वालों की दिल्ली। इतने सारे वंशो की गवाह रही है हमारी आज की दिल्ली, दिल्ली वर्तमान मे देश की राजधानी है , यहाँ की जनसँख्या लगभग ढाई करोड़ के आस-पास है। इतनी बड़ी जनसँख्या को आधुनिक तरीके से व्यवस्थित, सुनियोजित करने को दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ने Master Plan Delhi 2041 तैयार किया है। जो दिल्ली की 2041 की जरूरतों को ध्यान मे रखकर तैयार किया गया है। आइये जानते हैं, Master Plan Delhi 2041 क्या है?

इस लेख मे हम लाये हैं?

  • Master Plan Delhi 2041 क्या है?
  • Master Plan Delhi 2041 का  विज़न
  • Master Plan Delhi 2041 के उद्देश्य
  • Master Plan Delhi 2041 के हाईलाइट पॉइंट
  • क्या है DDA?
  • DDA Master Plan?

Master Plan Delhi 2041 क्या है?

  • Master Plan Delhi 2041 एक ऐसा महत्वपूर्ण दस्तावेज है , जिसमे वर्तमान स्थिति का आंकलन करके और दिशा-निर्देशित करते हुए यह बताया गया है कि वांछित विकास  कैसे प्राप्त करें? 
  • Master Plan Delhi 2041 मसौदे का प्रयोजककर्ता दिल्ली विकास प्राधिकरण है। इस योजना के कार्यान्वयन के लिए जिम्मेदार निकाय केंद्र सरकार , राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र , दिल्ली सरकार से सम्बंधित विभाग, सेवा प्रदाता ,भूस्वामी इकाइयां , वियामक तथा स्थानीय निकाय इकाइयां हैं।
  • Master Plan Delhi 2041  मसौदे में 9 खंड और 22 अध्याय शामिल हैं, जो वर्ष 2041 तक एक स्थायी, रहने योग्य और जीवंत राष्ट्रीय राजधानी को बढ़ावा देना चाहते हैं।
  • मास्टर प्लान के ड्राफ्ट में अनुमान लगाया गया है कि 2041 तक दिल्ली की आबादी 2.6 करोड़ से बढ़कर 2.92 करोड़ हो जाएगी। आबादी की जरूरतों को देखते हुए ही प्रस्तावित प्लान तैयार किया गया है।
  • रात के समय की अर्थव्यवस्था में सुधार करने के लिए, मास्टर प्लान डीडीए की नाइट लाइफ सर्किट योजना में शामिल सांस्कृतिक उत्सवों, मेट्रो, खेल सुविधाओं, बस मनोरंजन और खुदरा स्टोर पर केंद्रित है।
  • दिल्ली मास्टर प्लान (एमपीडी) 2041 के मसौदे के अनुसार, किराये के किफायती आवास, पूरी सुविधाओं वाले रिहायशी क्षेत्र और छोटे प्रारूप वाले मकान राष्ट्रीय राजधानी में आवास विकास के कुछ प्रमुख बिंदु होंगे।
  • DDA ने  मास्टर प्लान के मसौदे को सार्वजनिक कर आम नागरिकों से आपत्ति और सुझाव आमंत्रित किए गए हैं। सुझाव DDA की वेबसाइट के माध्यम से दिए जा सकते है। यह पोर्टल अगले 45 दिनों के लिए सार्वजनिक सुझाव के लिए खुला रखा गया है।  
  • Master Plan Delhi 2041 को मौजूदा हालातों को देखते हुए जीआईएस (भौगोलिक इन्फोर्मेशन सिस्टम) प्लेटफॉर्म पर तैयार किया गया है. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली को 18 प्लानिंग जोन्स में बांटा गया है. डेवलपमेंट को कंट्रोल करने के लिए 27 क्षेत्रों की पहचान की गई है।

Master Plan Delhi 2041 का  विज़न

  • विज़न दिल्ली को सतत , रहने योग्य और जीवंत बनाना
  • लक्ष्य 1- पर्यावरणीय दृष्टि से संपोषणीय शहर का निर्माण जो अपने नागरिको के लिए स्वस्थ्य वातावरण प्रदान कर सके और जलवायु परिवर्तन के प्रभावों को सह सके।
  • लक्ष्य 2- भविष्य के लिए तैयार शहर का विकास हो जो कुशल गतिशील तंत्र के साथ-साथ अच्छी गुणवत्ता , सस्ता और रहने के लिए सुरक्षित वातावरण प्रदान कर सके।
  • लक्ष्य 3-  आर्थिक , रचनात्मक एवं सांस्कृतिक विकास के लिए एक गतिशील स्थान के रूप मे उभारना।

Master Plan Delhi 2041 के उद्देश्य

  • पर्यावरणीय स्थिरता को प्राथमिकता देना दिल्ली के विकास के लिए पर्यावरणीय मुद्दों तथा प्राकृतिक सम्पदाओं के कायाकल्प, प्रदुषण को कम करने, निर्मित वातावरण को हरा-भरा करने, शहरी खेती जैसे हरित क्रिया-कलापों मे सहायता करने और प्राकृतिक और नियोजित खुले स्थानों के विविध रूप को प्राथमिकता देना।
  • आर्थिक विकास को सुगम बनाना आर्थिक गतिविधियों मे प्रतिभाग करने वाले तथा आर्थिक क्रियाकलापों को बढ़ावा देने वाले कार्यकमो का विकास करना , स्वच्छ अर्थवयवस्थाओं को बढ़ावा देना , दिल्ली के लिए अद्वितीय आर्थिक भूमिका निभाना।
  • विरासत , संस्कृति और सार्वजनिक जीवन का संवर्धन धरोहर तथा सांस्कृतिक विरासतों का रक्षण एवं संवर्धन करना, सांस्कृतिक अनुभव,पर्यटन एवं सक्रीय सामाजिक जीवन के लिए अवसर पैदा करना।
  • आवास और सामाजिक अवसंरचना मे सुधार विभिन्न आय वर्ग के रहन-सहन की मांगों के अनुसार सुविधाएँ प्रदान करना, पुराने भवनों का जीर्णोद्धार करना , साइकिल पथ का निर्माण करना।
  • लोकार्बन मोबिलिटी की ओर बढ़ाना साझा और सार्वजनिक परिवहन को बढ़ावा देना, ऑफिस तथा कामकाज को जन-परिवहन के नजदीक लाना ,वाहनों की भीड़ को कम करना गतिशीलता के लिए कुशल, सस्ते तथा हरित विकल्प प्रदान करना।
  • सहनशील भौतिक अवसंरचना का विकास पानी तथा ऊर्जा जैसे संसाधनों को सुलभ , पर्याप्त तथा निर्बाध बनाना तथा इनके विवेकपूर्ण उपयोग को बढ़ावा देना।

Master Plan Delhi 2041 के हाईलाइट पॉइंट

  • प्रदूषण कम करने के लिए वॉक-वे, साइकलिंग पर फोकस
  • नालों के किनारों को ग्रीन कॉरिडोर बनाने का प्रस्ताव
  • कच्ची कॉलोनियों को किया जाएगा डेवलप
  • कम्युनिटी हॉल में खुलेंगे बैंक, रेस्टोरेंट्स और आर्ट गैलरी 
  • शाहजहानाबाद, सेंट्रल विस्टा और इंडिया गेट लॉन, कनॉट प्लेस, हौज खास, महरौली आदि को कल्चरल हॉटस्पॉट के तौर पर पहचान मिलेगी।
  • ऑफिस के पास मिलेगा घर खरीदने को किया जायेगा प्रोत्साहित
  • सरकारी आवास और झुग्गी-झोपड़ियों के पुनर्वास को छोड़कर, निजी क्षेत्र बाकी जगहों पर अग्रणी भूमिका निभाएगा।
  • Master Plan दिल्ली के इस मसौदे में विकास मानदंडों के लिए तीन अहम एडिशंस- वर्टिकल मिक्सिंग, ग्रीन-ब्लू फैक्टर और ट्रेडेबल फ्लोर एरिया-हैं।

क्या है DDA?

  • दिल्ली विकास प्राधिकरण यानि Delhi Development Authority- DDA की स्थापना दिल्ली विकास अधिनियम, 1957’ के तहत वर्ष 1957 में की गई थी।
  • डीडीए राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली मे आवास परियोजनाओं, वाणिज्यिक भूमि, भूमि प्रबंधन की योजना, विकास और निर्माण के साथसाथ सड़क, पुल, नालियों, भूमिगत जल जलाशय, सामुदायिक केंद्र, खेल केंद्र, हरित पट्टी आदि जैसी सार्वजनिक सुविधाएं प्रदान करने के लिए जिम्मेदार है।
  • दिल्ली विकास प्राधिकरण का कार्य दिल्ली को मानवीय रहन-सहन के योग्य बनाना है। इसके महत्वपूर्ण कार्य अग्रलिखित हैं।
  • दिल्ली के विकास हेतु एक मास्टर प्लान तैयार करना और इसके अनुरूप विकास को बढ़ावा देना।
  • भवन, इंजीनियरिंग, खनन और अन्य कार्यों को पूरा करना।
  • भूमि और अन्य संपत्ति के अधिग्रहण, धारण, प्रबंधन और निपटान आदि।

DDA Master Plan?

  • दिल्ली के बेतरतीब विकास के संगठित और संरचित विकास को सुनिश्चित करने के लिए 1962 में डीडीए मास्टर प्लान का गठन किया गया था।
  • इसमें नई भूमि की पहचान शामिल है जिसे आवासीय संपत्तियों के रूप में विकसित किया जा सकता है और पर्याप्त वाणिज्यिक कार्यालय और खुदरा परिसर भी उपलब्ध कराकर स्व-निहित कॉलोनियां बना सकते हैं।
  • डीडीए मास्टर प्लान को 1982 में मास्टर प्लान 2001 तैयार करने के लिए संशोधित किया गया था और फिर 2007 में दिल्ली मास्टर प्लान 2021 बनाने के लिए फिर से संशोधित किया गया था।
  • यह प्लान 2.60 करोड़ की आबादी वाले शहर के लिए बुनियादी ढांचे की आवश्यकताओं को निर्धारित करता है। साथ मे यह प्लान यह सुनिश्चित करता है की दिल्ली मे लोगो का जीवन स्तर पहले से बेहतर हो।

चलते चलते

Master Plan Delhi 2041 एक योजना है भविष्य की दिल्ली बनाने की। 2050 तक हमारा देश तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की ओर अग्रसर है। दिल्ली को अंतर्राष्ट्रीय स्तर की राजधानी क्षेत्र बनने हेतु यह मास्टर प्लान तैयार किया गया है। जापान की तर्ज पर यहाँ ट्रैफिक व्यवस्था सुनियोजित की जाएगी। विदेशो की भांति दिल्ली मे भी लोग रात मे काम कर पाएंगे , घूम-फिर पाएंगे। पर्यावरणीय निर्देशों को ध्यान मे रखकर परियोजनाओं का निर्माण होगा , प्रदूषण का स्तर न्यूनतम होगा। आज की दिल्ली आने वाले भविष्य मे रहने योग्य शहरों की सूची मे टॉप पर स्थान पायेगी , ऐसी अवधारणा एवं कल्पना के आधार पर Master Plan Delhi 2041 बनाया गया है। हम उम्मीद करते हैं यह प्लान अपने सभी उद्देश्यों मे सफल हो।

Content Protection by DMCA.com

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.