ट्विटर (Twitter) के नए सीईओ पराग अग्रवाल (Parag Agrawal)

434
Parag Agarwal
PLAYING x OF y
Track Name
00:00

00:00


29 नवम्बर 2021 का दिन पराग अग्रवाल के साथ-साथ करोड़ों भारतीयों के लिए ख़ुशी लेकर आया। इस दिन माइक्रो ब्लॉगिंग सोशल साइट ट्विटर के को-फाउंडर और सीईओ जैक डोर्सी ने अचानक से ट्विटर के नये सीईओ के रूप में पराग अग्रवाल के नाम की घोषणा कर दी। यह दिन भारतीयों के लिए इसलिए भी गर्व से भरा हुआ रहा क्योकि इस समय में दुनिया की बड़ी-बड़ी नामी कंपनियों की कमान भारतीय लोगों के हाथ में हैं। भारतीयों की इस कामयाबी से प्रोत्साहित होकर पड़ोसी देश के एक प्रशंसक ने फेसबुक के सीईओ के रूप में किसी भारतीय की नियुक्ति के सन्दर्भ में ट्वीट करके प्रश्न किया है, कि फेसबुक की कमान कब किसी भारतीय को दी जाएगी?। पराग अग्रवाल के  ट्विटर के सीईओ बनने के बाद एलन मस्क, सुन्दर पिचई सहित कई प्रोफेशनल दिग्गज की प्रतिक्रियायें आयी हैं। आज के इस लेख में हम नये  ट्विटर सीईओ पराग अग्रवाल से सम्बंधित बातों को आपके साथ साझा करेंगे। 

पराग अग्रवाल का व्यक्तिगत जीवन

  • पराग अग्रवाल का जन्म जन्म 21 मई 1984 को राजस्थान के अजमेर में हुआ था।
  • इनके पिता रामगोपाल अग्रवाल भारतीय परमाणु ऊर्जा विभाग, मुंबई कार्यरत में थे और उनकी माता एक स्कूल शिक्षिका रही हैं।
  • पराग बचपन से ही विज्ञान के प्रति गहरी रूचि रखते थे। उनकी स्कूली पढ़ाई परमाणु ऊर्जा केन्द्रीय विद्यालय से पूर्ण हुई थी।
  • पराग ने साल 2000 में JEE में 77वी रैंक प्राप्त की थी। पराग ने साल 2001 में तुर्की में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय भौतिकी ओलंपियाड में स्वर्ण पदक जीता था।
  • पराग ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मुम्बई में कंप्यूटर साइंस से साल 2005 अपनी स्नातक डिग्री प्राप्त की थी।
  • कंप्यूटर साइंस में आगे की पढ़ाई के लिए ये USA चले गए थे तथा स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से इन्होने कंप्यूटर साइंस में पीएचडी पूर्ण की थी।
  • पराग की पत्नी का नाम विनीता अग्रवाल है, विनीता स्टैनफोर्ड स्कूल ऑफ मेडिसिन में चिकित्सक और क्लीनिकल प्रोफेसर हैं।
  • इन दोनों दम्पतियों का एक बेटा भी है। जिसका नाम अंश अग्रवाल है।
  • पराग अपने माता-पिता सहित पूरे परिवार के साथ सैन फ्रांसिस्को, कैलिफोर्निया में रहते हैं।

पराग अग्रवाल का करियर सफर

  • पराग अग्रवाल ने साल 2011 में Twitter कंपनी को एक ऐड इंजीनियर के रूप में ज्वाइन किया था और बाद में वो कंपनी के वरिष्ठ  सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनाये गए थे।
  • साल 2017 में ट्विटर ने पराग अग्रवाल को चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर नियुक्त किया। इस पद पर पराग अग्रवाल ने  ट्विटर के लिए उपभोक्ता, राजस्व और विज्ञान टीमों में मशीन लर्निंग (ML) और आर्टिफिशियल इंटिलेजेंस (AI) की टेक्निकल स्ट्रैटेजी और सुपरविजन के हेड के रूप में कार्य किया।
  • नवम्बर 2021 को ट्विटर द्वारा पराग अग्रवाल को सीईओ बनाया गया है। अब उनके ऊपर  ट्विटर के नए प्रोजेक्ट  ब्लूस्की को आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी होगी, जो विकेंद्रीकृत सोशल नेटवर्क प्रोटोकॉल विकसित करने की पहल है। 

पराग अग्रवाल एक साधारण पारिवारिक पृष्ठभूमि से ताल्लुक रखते हैं

पराग अग्रवाल का परिवार उनके  के जन्म के समय अजमेर में धान मंडी क्षेत्र में किराये के मकान में रहता था। उनका जन्म भी एक साधारण बालक के समान सरकारी अस्पताल में ही हुआ था। उनके पिताजी के पास तब इतने पैसे नहीं थे की उनका जन्म मुंबई के किसी प्राइवेट अस्पताल में करा सकें। एक साधारण परिवार की जीवन-शैली से निकल कर दुनिया की सबसे बड़ी माइक्रो ब्लॉगिंग सोशल साइट में सीईओ के पद पर आसीन होना एक असाधारण उपलब्धि है। पराग अग्रवाल एक उदाहरण हैं उन लोगों के लिए जो साधारण परिस्थितियों में पैदा होकर असाधारण काम करने की हिम्मत जुटाते हैं। 

माइक्रोसॉफ्ट और याहू में भी काम कर चुके हैं पराग अग्रवाल

साल 2011 में  ट्विटर जॉइन करने से पूर्व पराग ने 3-4  महीने के छोटे से समय के लिए माइक्रोसॉफ्ट, AT&T और याहू जैसी आईटी कंपनी में इंटर्नशिप की थी। अभी एक सीईओ के रूप में पराग को 7.50 करोड़ सालाना वेतन और अलग से बोनस-स्टॉक्स की सुविधा प्राप्त होगी। आपको जानकर बहुत हैरानी होगी की  ट्विटर के निवर्तमान सीईओ जैक डोर्सी मात्र 106 रूपये का सालाना वेतन लेते थे। इससे पहले माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ रहे बिल गेट्स भी मात्र 1 डॉलर सैलरी में काम कर चुके हैं।

सिलिकॉन वेळी की प्रमुख कंपनियों में छाये भारतीय सीईओ

सिलिकॉन वेळी अमेरिका की दिग्गज कंपनियों की कमान इस समय भारतीय मूल के लोगों के हाथों में ही है। भारत के लिए यह बहुत ही गर्व की बात है कि इस समय गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, अडोब, आईबीएम, पालो एल्टो नेटवर्क और अब  ट्विटर के सीईओ भारतीय ही हैं। ऐसा लगता है कि प्रधानमंत्री जी के मेक इन इंडिया अभियान को रन बाई इंडिया की तर्ज पर चलाया जा रहा है। वर्तमान में गूगल- सुन्दर पिचई, माइक्रोसॉफ्ट-सत्य नडेला, अडोब-शांतनु नारायन, आईबीएम-अरविन्द कृष्णा, पालो एल्टो नेटवर्क- निकेश अरोरा और ट्विटर- पराग अग्रवाल ये सभी इन शीर्ष विदेशी कंपनियों में प्रमुख की भूमिका निभा रहे हैं।

दिग्गज बिज़नेस मैन एलन मस्क ने भी एक ट्वीट के माध्यम से इस बात को स्वीकार किया है – भारतीय प्रतिभाओं से अमेरिका तथा दुनिया को बहुत से फायदे हुए हैं।

 पुराने ट्वीट्स के लिए  ट्विटर पर ट्रोल किये जा रहे हैं पराग

पराग अग्रवाल के  ट्विटर का सीईओ बनते ही यूजर्स ने उनके ही हथियार का प्रयोग उनके खिलाफ कर दिया है। यूजर्स ने पराग अग्रवाल के साल 2010 के ट्वीट्स को निकालकर ट्रोल करना शुरू कर दिया है। पराग को  2010 के एक ट्वीट “अगर वे मुसलमानों और चरमपंथियों के बीच भेद नहीं करने वाले हैं, तो मैं गोरे लोगों और नस्लवादियों के बीच अंतर क्यों करूं?” के कारण ट्रोल होना पड़ा है , हालाँकि उन्होंने इसके जवाब में इसे महज एक डेली शो की कुछ पंक्तियों की संज्ञा देकर सफाई प्रस्तुत की है।

इसके अतिरिक्त यूजर्स ने पराग के साल 2011 के सिंगर श्रेया घोषाल को लेकर किये गये ट्वीट को भी ट्रोल किया है , इसमें पराग ने श्रेया घोषाल को लेकर ट्वीट किया था ” लॉन्ग ड्राइव में तुम हमेशा याद आते हो श्रेया “। इस ट्वीट में कई लोगों ने पराग अग्रवाल के चरित्र को लेकर सवाल उठाये थे,  बाद में श्रेया घोषाल ने इसे बचपन की दोस्ती बताकर यूजर्स से पुराने ट्वीट्स को निकालकर न लाने की अपील की थी।

आजकल एक ट्रेंड्स सा चल पड़ा है किसी को ट्रोल करने का और इसका सबसे सटीक जरिया सोशल मीडिया है। किसी की कुंडली निकालनी हो तो लोग आजकल ट्विटर, फेसबुक, इंस्टा का सहारा ले रहे हैं। इससे पहले वर्तमान केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया भी इस तरह की ट्रोलिंग का शिकार हो चुके हैं। जब उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री के रूप में अपना कार्यभार संभाला था तब उनके कई पुराने ट्वीट्स वायरल कर दिए गए थे।

आइये जानते हैं ट्वीटर क्या है?

  • ट्विटर एक माइक्रो ब्लॉगिंग सोशल साइट है, जिसका इस्तेमाल दुनिया के बड़े-बड़े से व्यक्ति द्वारा अपनी बात या विचार को अपने करोड़ों प्रशंसकों तक पहुंचाने के लिए किया जाता है।
  • ट्विटर का जन्म 21 मार्च 2006 को सैन फ्रांसिको , USA में हुआ था। इसके संस्थापक जैक डोर्सी , नोह् गिलास , बिज़ स्टोन और एवन विल्लियम्स थे।
  • ट्विटर का मुख्यालय सैन फ्रांसिको , USA में है तथा इसका लोगो नीले रंग में उड़ती हुई चिड़िया है।
  • ट्विटर के सहसंस्थापक डोर्सी ने 21 मार्च, 2006 को पहला ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने लिखा था “जस्ट सेटिंग अप माय ट्विटर।”
  • मौजूदा समय में ट्विटर सबसे लोकप्रिय सोशल मीडिया प्लेटफार्म में से एक है, वर्तमान में 200 मिलियन से अधिक लोग  ट्विटर के सक्रिय उपयोगकर्ता हैं।
  • ट्विटर में राजनेताओं और मशहूर हस्तियों जैसे हाई-प्रोफाइल उपयोगकर्ता हैं, तो वहीं यह पत्रकारों के बीच भी लोकप्रिय है।
  • कई बार ट्विटर द्वारा अलग-अलग कारणों से कई नामी लोगों के  ट्विटर अकॉउंट ब्लॉक किये हैं।  अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव 2020 के बाद डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थको की हिंसा के कारण  ट्विटर ने डोनाल्ड ट्रम्प का  ट्विटर A/c फ्रीज कर दिया था। अपने बड़बोले स्वाभाव के लिए जानी-जाने  वाली अभिनेत्री कंगना रनौत का अकाउंट्स भी  ट्विटर द्वारा ब्लॉक कर दिया गया है।

चलते चलते

दोस्तों, पराग अग्रवाल, सुन्दर पिचई, सत्या नडेला, इंदिरा नूई, विनोद धाम, निकेश अरोरा, शांतनु नारायन, अरविन्द कृष्णा जैसे बहुत से ऐसे भारतीय हैं जो विदेशी कंपनी के मुख्य अधिकारी की जिम्मेदारियों को निभा रहे हैं। ये सभी लोग अपनी प्रतिभा और मेहनत के बल पर इस पोजीशन पर पहुंचे हैं। ये लोग करोड़ों भारतीयों के लिए प्रेरणा का स्रोत है, इन लोगों ने साबित किया है कि टेक्नोलॉजी मैनेजमेंट में भारतीयों का कोई तोड़ नहीं है। जिस प्रकार से अमेरिका अपने सॉफ्टवेयर मेकिंग और चीन अपने हार्डवेयर मेकिंग तकनीक के लिए जाने जाते हैं उसी प्रकार से भारतीय अपने टेक्नोलॉजी मैनेजमेंट स्किल के लिए जाने जाते हैं। हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा, हम ऐसे ही प्रेरणादायी लेख आपके लिए लाते रहेंगे। जय हिन्द।

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.