नागोजी ओकोनजो इवेला: WTO का नेतृत्व करने वालीं पहली महिला

1079
Ngozi Okonjo Iweala

Ngozi Okonjo Iweala विश्व व्यापार संगठन (WTO) की पहली महिला प्रमुख नियुक्त की गई हैं। यही नहीं, विश्व व्यापार संगठन का नेतृत्व करने वालीं वे पहली अफ्रीकी महिला भी बन गई हैं। इसके तुरंत बाद उन्होंने समूची दुनिया के कोरोनावायरस से उबरने के लिए WTO को मजबूत बनाने की वकालत की है। डब्ल्यूटीओ की महापरिषद की एक वर्चुअल बैठक हुई, जिसमें कि इसके सदस्य देशों ने आधिकारिक रूप से नाइजीरिया की पूर्व वित्त मंत्री और विश्व बैंक में भी सेवा दे चुकीं नागोजी ओकोनजो इवेला को अपना नया महानिदेशक चुन लिया।

इस लेख में आप पढ़ेंगे:

  • Ngozi Okonjo Iweala का पहला संबोधन
  • Ngozi Okonjo Iweala का कार्यकाल
  • नागोजी ओकोनजो इवेला के पीछे खड़ा है अमेरिका
  • कौन हैं Ngozi Okonjo Iweala?

Ngozi Okonjo Iweala का पहला संबोधन

First women to lead WTO का गौरव हासिल करने के बाद 66-वर्षीया Ngozi Okonjo Iweala ने अपने संबोधन में विश्व व्यापार संगठन के लगभग निष्क्रिय होने की बात कही और कहा कि इसे फिर से खड़ा करने की शीघ्र जरूरत है। कोरोना महामारी की वजह से दुनिया को जितने बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है, उसे पूरी तरह से और तेजी से उबारने के लिए एक मजबूत WTO का होना बहुत ही जरूरी है।

नागोजी ने यह भी कहा कि अपने सदस्यों के साथ मिलकर मैं सभी योजनाओं को फिर से आकार देने और इन्हें लागू करने के लिए तैयार हूं, ताकि एक बार फिर से वैश्विक अर्थव्यवस्था पटरी पर लौट आए। इस वक्त हमारा संगठन बहुत सी चुनौतियों का सामना कर रहा है, लेकिन साथ में काम करके हम न केवल डब्ल्यूटीओ को और मजबूत बना सकते हैं, बल्कि वास्तविकता को स्वीकार करते हुए इसके मुताबिक उचित कदम भी उठा सकते हैं।

Ngozi Okonjo Iweala का कार्यकाल

Ngozi Okonjo Iweala आगामी 1 मार्च को कार्यभार ग्रहण करने जा रही हैं। उनका कार्यकाल 31 अगस्त, 2025 तक रहेगा।

नागोजी के चयन को लेकर समाचार एजेंसी AFP ने एक पश्चिमी राजनेता का बयान भी प्रकाशित किया। अपने इस बयान में इस राजनेता ने कहा कि नागोजी का चयन इसलिए नहीं हुआ कि वे एक महिला हैं और वे अफ्रीका से नाता रखती हैं, बल्कि उनका चयन इसलिए हुआ है, क्योंकि वे एक ऐसी उम्मीदवार के तौर पर सामने आईं, जिनके पास सबसे उत्तम योग्यताएं, अनुभव और काम करने के लिए जरूरी गुण हैं।

नागोजी ओकोनजो इवेला के पीछे खड़ा है अमेरिका

Ngozi Okonjo Iweala के first African head of the World Trade Organisation चुने जाने के पीछे एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

  • WTO, जिसका मुख्यालय जेनेवा में स्थित है, यह बीते अगस्त से ही बिना नेतृत्व के चल रहा था। इसके प्रमुख की जिम्मेदारी संभाल रहे ब्राजीली नेता रोबर्टो एजेवेडो ने अगस्त में अपना पद छोड़ दिया था, जबकि उनका एक साल का कार्यकाल बाकी था।
  • डब्ल्यूटीओ, जिसके 164 सदस्य हैं, यह सर्वसम्मति से अपने नेताओं की नियुक्ति करता है। इसके 8 सदस्यों को नवंबर तक एक नाम पर एकमत हो जाना था, लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का प्रशासन अकेला सदस्य था, जो कि नागोजी को लेकर सदस्यों को एकमत होने की राह में बाधक बन कर खड़ा था।
  • दक्षिण कोरिया के व्यापार मंत्री यू म्यूंग-ही ही अंतिम प्रतिद्वंद्वी थे, जिन्होंने बीते 5 फरवरी को अपने पांव तब पीछे खींच लिए थे, जब यह साफ हो गया था कि अमेरिका के नए राष्ट्रपति जो बिडेन नागोजी का समर्थन कर रहे हैं।
  • अमेरिकी राजनेता डेविड बिस्बी ने यह कहा भी कि संयुक्त राज्य अमेरिका डॉ नागोजी ओकोनजो इवेला के साथ काम करने के लिए बहुत ही उत्सुक है। उनके साथ काम करके यूएस इस संगठन को एक बार फिर से इतना सक्षम बनाना चाहता है, जिससे कि यह व्यापार के जरिए आर्थिक प्रगति को एक बार फिर से प्रोत्साहित किया जा सके।
  • उन्होंने यह भी कहा कि ओकोनजो इवेला ने वादा किया है कि उनके निर्देशन में WTO में बिजनेस अब पहले जैसा नहीं रहेगा। इसमें कई क्रांतिकारी बदलाव देखने के लिए मिलेंगे।
  • वर्ष 1995 में जब से World Trade Organisation अस्तित्व में आया है, तब से अब तक में नागोजी इस संगठन की सातवीं महानिदेशक नियुक्त हुई हैं।
  • विश्व व्यापार संगठन की पहली अफ्रीकी प्रमुख बनना इस नाइजीरियाई नेता के लिए अमेरिका, यूरोपीय संघ और अफ्रीका के समर्थन से संभव हो पाया है। अपनी नियुक्ति के बाद वाशिंगटन में अपने घर के बाहर अपनी बहन के साथ नागोजी ने इसका जश्न मनाया।

कौन हैं Ngozi Okonjo Iweala?

Ngozi Okonjo Iweala एक नाइजीरियाई अर्थशास्त्री हैं, जो कि पिछले 4 दशकों से वित्त और विकास के क्षेत्र में काम करती आई हैं।

  • नाइजीरिया के वित्त मंत्री की जिम्मेवारी उन्होंने दो बार संभाली है। सबसे पहले वर्ष 2003 से 2006 तक वे नाइजीरिया की वित्त मंत्री थीं। इसके बाद वर्ष 2011 से 2015 तक उन्होंने वित्त मंत्री के रूप में काम किया। अपने देश में इस पद पर काम करने वालीं वे पहली महिला बन गई थीं। साथ में दो बार इस पद पर बने रहने वालीं पहली महिला बनने का गौरव भी उन्होंने हासिल किया था।
  • वित्त मंत्री के रूप में अपने कार्यकाल के बाद नागोजी नाइजीरिया की विदेश मंत्री भी बनी थीं। एक बार फिर से इस पद को संभालने वालीं वे पहली महिला बन गई थीं। उन्होंने यह जिम्मेवारी 2 महीनों तक संभाली थी।
  • वित्त मंत्री के रूप में नागोजी ने नाइजीरिया की अर्थव्यवस्था के विकास के लिए कई मजबूत कदम उठाए, जिससे कि नाइजीरिया के कर्ज को काफी हद तक घटाने में मदद भी मिली।
  • विश्व बैंक में अपने 20 वर्षों के कार्यकाल के दौरान नागोजी संगठन की प्रबंध निदेशक भी बन गईं और इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक संगठन के काम को 181 बिलियन डॉलर का बनाने में भी इन्होंने बड़ी भूमिका निभाई थी।

चलते-चलते

Ngozi Okonjo Iweala को First women to lead WTO का बड़ा मौका तो मिला है, लेकिन कोरोना महामारी की वजह से दुनिया की अर्थव्यवस्था को जो जबरदस्त नुकसान पहुंचा है, उससे उबरने में दुनिया की WTO के माध्यम से मदद करना नागोजी की सबसे चुनौतीपूर्ण जिम्मेदारी होगी। नागोजी के पास अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में काम करने का लंबा अनुभव है। साथ ही उनके अंदर नेतृत्व क्षमता भी है। इसके अलावा वे खुद डब्ल्यूटीओ को एक बार फिर से अपने पैरों पर खड़ा करने की बात कर चुकी हैं। ऐसे में उम्मीद की जा सकती है कि नागोजी के नेतृत्व में विश्व स्वास्थ्य संगठन अपनी खोई जमीन को दोबारा हासिल कर पाएगा।

Content Protection by DMCA.com

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.