किसान रेल योजना 2021

881
Kisan Rail Yojana


देश के सभी किसान भाई-बहनो को समर्पित अपने इस आर्टिकल में, हम, आपको केंद्र सरकार की नई और किसान हितैषी योजना अर्थात् किसान रेल योजना 2021 के बारे में, बतायेगे जिसकी शुरुआत देश के प्रधानमंत्री श्री. मोदी द्धारा 7 अगस्त, 2020 को किया गया था ताकि हमारे किसानो द्धारा कम अवधि की फसलो जैसे कि – फल व सब्जियो को खराब होने से पहले ही मंडी व बाजारो तक सुरक्षित तरीके से पहुंचाया जायेगा ताकि हमारे किसानो को फसल खराब होने से होने वाले नुकसान से बचाकर उनका सामाजिक, आर्थिक व कृषिय सतत विकास किया जायेगा और इसी लक्ष्य की पूर्ति के लिए हम, अपने किसान भाई-बहनो को इस लेख में, किसान रेल योजना की पूरी जानकारी प्रदान करेगे, इसके बुनियादी लक्ष्यो, प्राथमिक तथ्यो और साथ ही साथ ऑनलाइन बुकिंग व रजिस्ट्रेशन की पूरी जानकारी प्रदान करेंगे ताकि हमारे सभी किसान भाई-बहन इस योजना के तहत आसानी से अपना पंजीकरण कर सकें और योजना का लाभ लेकर योजना को सफल बना सकें, यही हमारे लेख का लक्ष्य हैं।

भारत सरकार की नई योजना किसान रेल योजना 2021
योजना की शुरुआत किसने और कब की? योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री श्री. मोदी ने, 7 अगस्त, 2020 को किया।
योजना का केंद्रीय उद्धेश्य किसानो की जल्द खराब होने वाली फसलो को खराब होने से पहले मंडी व बाजारो तक सुरक्षित ढंग से पहुंचाना।
इन्हें मिलेगा योजना का लाभ देश के सभी किसान भाई-बहनो को इस योजना का सीधा लाभ मिलेगा।
योजना के तहत जारी न्यू अपडेट योजना के तहत किराये में, किसानो को 50 प्रतिशत की सब्सिडी प्रदान की जायेगी।
योजना के तहत 100वीं किसान रेल कब चली? योजना के तहत 28 दिसम्बर, 2020 को मोदी ने, 100वीं किसान रेल को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।
योजना के तहत जारी आधिकारीक वेबसाइट का लिंक जल्द जारी किया जायेगा।
योजना के तहत जारी हेल्पलाइन नंबर / सम्पर्क सूत्र जल्द जारी किया जायेगा।

किसान रेल योजना 2021

किसान रेल योजना, किसानो को समर्पित योजना हैं जिसका शुभारम्भ प्रधानमंत्री श्री. मोदी द्धारा 7 अगस्त,2020 को किया गया था जिसके तहत पहली किसान रेल महाराष्ट्र के देवलाली से बिहार के दानापुर के लिए रवाना हुई। इस किसान रेल की विशेषता ये हैं कि, इसमें शीत भंडारण की पूरी व पर्याप्त व्यवस्था की गई हैं जो कि, पी.पी.पी मॉडल पर आधारित हैं। योजना के तहत किसानो को खुशखबरी देते हुए केंद्र सरकार ने, न्यू अपडेट के तहत किराये में 50 प्रतिशत की सब्सिडी प्रदान करने की घोषणा की हैं जिसकी शुरुआत 14 अक्टूबर, 2020 से हो चुकी हैं। इस प्रकार हम ये कह सकते हैं कि, किसान रेल योजना वास्तव में केंद्र सरकार की बेहद महत्वाकांक्षी योजना हैं जिसके कंधो पर किसानो का सामाजिक-आर्थिक विकास निर्भर करता हैं और हमें, पूरी आशा है कि, किसान रेल योजना 2021 अपने सभी निर्धारित लक्ष्यो को समय पर पूरा करके किसान भाई-बहनो का सतत विकास करेगी।

Also, Read: बेगम हजरत महल छात्रवृत्ति योजना 2021

किसान रेल योजना 2021 – किराये मे मिलेगी 50% की सब्सिडी, न्यू अपडेट

जैसा कि, देश के हमारे सभी किसान भाई-बहन किसान रेल योजना 2021 के बारे में, जानते हैं लेकिन हम, उन्हें इस योजना के तहत जारी न्यू अपडेट के बारे में, बताना चाहते हैं जो कि, प्रधानमंत्री मोदी की अगुवाई में, केंद्र सरकार द्धारा जारी किया गया हैं। इस न्यू अपडेट के तहत 14 अक्टूबर,2020 से किसान रेल योजना 2021 के तहत रेल किराये पर हमारे किसान भाई-बहनो को 50% की सब्सिडी प्रदान की जायेगी ताकि उन पर किराये का आर्थिक बोझ ना पडे इसके लिए उनके किराये का बाकी 50% खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय द्धारा कुछ खास फसलो पर प्रदान की जायेगी जैसे कि – आलू, टमाटर, केला, अमरुद, कीवी, संतरा, अनानास, अनार, शिमला मिर्च, गाजर, फूलगोभी, ककडी, मटर और लहसू आदि पर प्रदान की जायेगा ताकि वे आसानी से इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकें।

किसान रेल योजना 2021 – 100वीं किसान रेल ने तय किया अपना सफर

किसान रेल योजना 2021 में, बहुत जल्दी आशाजनक ढंग से शतक लगाते हुए अपनी 100वीं किसान रेल को 28 दिसम्बर, 2020 को महाराष्ट्र के संगोला से पश्चिम बंगाल के शालीमार के लिए रवाना किया गया हैं जिसे खुद प्रधानमंत्री श्री. मोदी ने, हरी झंडी दिखाई थी इस प्रकार हम, कह सकते हैं कि, जल्द ही किसान रेल योजना 2021, किसानो के विकास की नई कहानी लिखती नजर आयेगी।

किसान रेल योजना 2021 – बुनियादी लक्ष्य

भारत, एक कृषि प्रधान देश हैं और हमारे किसान ही देश के अन्नदाता हैं इसमें कोई दो राय नही हैं लेकिन पिछले कुछ समय से हमारे ही अन्नदाताओ द्धारा आत्महत्या की वारदाते बडी मात्रा में, सामने आई हैं जिससे हम, मुहं नहीं मोड सकते लेकिन इसके समाधान के लिए प्रभावी कदम उठा सकते हैं और यही किया हैं भारत सरकार ने। हमारे किसान मेहनत से अपनी फसल को उगाते हैं तमाम मुश्किलो का सामना करने के बाद अपनी फसल को तैयार करते हैं लेकिन परिवहन की पर्याप्त सुविधा ना होने के वजह से उनकी फसल स्वाभाविक तौर पर कुछ समय बात खराब हो जाती हैं जिसका नुकसान किसानो को भरना पडता हैं और वे कर्ज के बोझ तले दबते चले जाते हैं लेकिन उनकी इसी मूल समस्या पर काम करने के बाद भारत सरकार ने, किसान रेल योजना 2021 का शुभारम्भ किया है जिसके तहत सिर्फ और सिर्फ किसानो को समर्पित रेल गाडिया चलाई जायेगीं जिससे हमारे किसान अपनी अल्पावधि फसलो को खराब होने से पहले सही समय पर मंडी या बाजारो में, ले जाकर बेच पायेगे और अधिक से अधिक मुनाफा कमा कर अपना व अपनो का सामाजिक-आर्थिक विकास कर पायेगे, यही इस योजना का बुनियादी लक्ष्य हैं जिसे योजना के तहत प्राप्त किया जायेगा।

किसान रेल योजना 2021 – प्राथमिक तथ्यो पर एक नजर

जैसा कि, हम सभी जानते हैं कि, किसान रेल योजना 2021 भारत सरकार की एक बेहद महत्वाकांक्षी योजना हैं जिसे सिर्फ और सिर्फ किसानो के सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए शुरु किया गया है जिससे कुछ प्राथमिक तथ्य उभर कर आये हैं जिन्हें हम, आपके सामने रखना चाहते हैं जो कि, इस प्रकार से हैं-

  1. किसान रेल योजना 2021 का सबसे पहले जिक्र हमारी वित्त मंत्री श्रीमति. निर्मला सीतारमण जी द्धारा पहली बार इसी साल के फरवरी महिने मे, पेश हुए बजट में किया गया था जिसमें किसानो की जल्द खराब हो जाने वाली फसलो को बचाने और सही समय पर मंडी तक पहुंचाने के लक्ष्य से इस योजना का शुभारम्भ किया गया हैं
  2. सब्जी, फल और अन्य ऐसी फसले जो कि, कुछ समय बाद खराब हो जाती हैं उन्हें सुरक्षित तरीके से मंडी तक पहुंचाने की व्यवस्था इस योजना के तहत की जायेगी जिससे हमारे किसानो की फसल बर्बाद नहीं होगी और उन्हें उनकी सही कीमत मिलेगी जिसके वे हकदार हैं,
  3. किसान रेल योजना 2021 की सबसे आकर्षक बिंदु ये हैं कि, भारत सरकार ने, अपनी इस किसान हितैषी योजना की मदद से सभी किसान भाई-बहनो की आय को साल 2022 तक दुगुना करने का लक्ष्य तय किया है,
  4. योजना के तहत हमारे किसान भाई-बहनो द्धारा उत्पादित फसलो का पर्याप्त मात्रा में व सुरक्षित ढंग से शीत भंडारण किया जायेगा और साथ ही साथ उन्हें बेहतर परिवहन की व्यवस्था प्रदान की जायेगी,
  5. योजना के तहत जारी पहली किसान रेल रुट की मदद से सीधे-सीधे 4 राज्यो को लाभ होगा जो कि, इस प्रकार से हैं – महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और बिहार राज्य के किसान भाई-बहनो को इस योजना का सीधा लाभ मिलेगा आदि।

उपरोक्त सभी इस योजना के प्राथमित तथ्य थे जिन्हें हमने किसान भाई-बहनो के सामने रखा ताकि वे इस योजना से पूर्णत अवगत रह सकें और अधिकाधिक मात्रा में, इस योजना से लाभान्वित हो सकें।

किसान रेल योजना 2021 – कितना होगा प्रति टन का किराया?

किसान रेल योजना 2021 वास्तव में, हमारे देश के किसान भाई-बहनो के लिए किसी वरदान से कम नहीं हैं इसलिए हम, अपने किसान भाई-बहनो को किसान रेल योजना 2021 के तहत प्रति टन लिये जाने वाले किराये के बारे में, बताना चाहते हैं जो कि, इस प्रकार से हैं-

  1. आपको खंडवा से लेकर दानापुर तक के लिए 3,148 रुपय प्रति टन की दर से किराया देना होगा,
  2. आपको बुरहानपुर से दानापुर के लिए 3,323 रुपय प्रति टन की दर से किराया देना होगा,
  3. आपको भुसावल से दानापुर के लिए 3,459 रुपय प्रति टन की दर से किराया देना होगा,
  4. आपको जलगांव से दानापुर के लिए 3,513 रुपय प्रति टन की दर से किराया देना होगा,
  5. आपको मनमाड से दानापुर के लिए 3,849 रुपय प्रति टन की दर से किराया देना होगा,
  6. आपको नासिक से दानापुर के लिए 4,001 रुपय प्रति टन की दर से किराया देना होगा और
  7. देवलाली से दानापुर के लिए आपको 4,001 रुपय प्रति टन की दर से किराया देना होगा आदि।

प्रति टन पर ली जाने वाली किराये की उपरोक्त सूची को आपके सामने रखने का एकमात्र लक्ष्य  सिर्फ इतना हैं कि, हमारे किसान भाई-बहन इस योजना के तहत संचालित होने वाली रेल के प्रति टन किराये की जानकारी से अवगत रहें और इस योजना का पूरा लाभ प्राप्त कर सकें।

किसान रेल योजना 2021 – बुकिंग व रजिस्ट्रेशन के लिए करना होगा इंतजार

हम, अपने सभी किसान भाई-बहनो को बताना चाहते हैं कि, आपकी सुविधा के लिए और आपके सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए जारी योजना अर्थात् किसान रेल योजना  के तहत आपको ऑनलाइन बुकिंग व रजिस्ट्रेशन करने के लिए इंतजार करना होगा क्योंकि भी सिर्फ इस योजना की घोषणा ही हुई हैं इसलिए इस योजना को लागू करने में और बुकिंग व रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को शुरु करने मे, कुछ समय लगेगा जिसके बाद आप ऑनलाइन बुकिंग व रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं इसलिए अभी आपको कुछ समय और इंतजार करना होगा ताकि आप योजना का पूरा-पूरा लाभ प्राप्त कर सकें और योजना को सफल बना सकें।

निष्कर्ष

अंत, हमने आपको अपने इस लेख में, किसान रेल योजना 2021 की पूरी जानकारी प्रदान की, इसके उद्धेश्यो और तथ्यो की विस्तार से जानकारी प्रदान की ताकि हमारे देश के किसान इस योजना में, बढ-चढ कर पंजीकरण कर सकें और योजना का पूरा लाभ प्राप्त कर सकें और योजना को सफल बना सकें।

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.