Delhi Election Results 2020: एक क्लिक पर पूरा चुनाव परिणाम

1525
One Nation One Election in India

दिल्ली चुनाव 2020 के नतीजे आ चुके हैं और इसमें आम आदमी पार्टी को बड़ी जीत हासिल हुई है। इस तरह से आम आदमी पार्टी की लगातार तीसरी बार दिल्ली विधानसभा चुनाव में जीत हुई है। यहां हम आपको दिल्ली इलेक्शन रिजल्ट 2020 के बारे में सभी जरूरी जानकारी उपलब्ध करा रहे हैं, जिससे आपके मन में दिल्ली इलेक्शन रिजल्ट को लेकर किसी भी तरह का कन्फ्यूजन नहीं रह जायेगा।

दिल्ली इलेक्शन रिजल्ट: किसे मिली कितनी सीटें?

दिल्ली विधानसभा चुनाव 70 सीटों के लिए हुए थे, जिनमें से 62 सीटों पर आम आदमी पार्टी को, जबकि 8 सीटों पर भारतीय जनता पार्टी को जीत मिली है। भले ही करीब आठ माह पूर्व हुए लोकसभा चुनाव में दिल्ली में आम आदमी पार्टी को एक भी सीट पर जीत नहीं मिली थी, मगर दिल्ली के विधानसभा चुनाव में एक बार फिर से अरविंद केजरीवाल की पार्टी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए विरोधियों को चारों खाने चित कर दिया। चुनाव आयोग ने मंगलवार देर रात चुनाव परिणाम की औपचारिक घोषणा भी कर दी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने नई दिल्ली विधानसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार सुनील कुमार यादव को शिकस्त दी। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पटपड़गंज से कांटे की टक्कर में जीत हासिल की। 12 राउंड की गिनती तक वे पीछे चल रहे थे, मगर 13वें राउंड में वे आगे निकल गये।

तीसरी बार मुख्यमंत्री बनने का मौका

भाजपा के सीटों की संख्या पिछली बार के तीन से बढ़कर आठ हो गई, जबकि कांग्रेस पिछली बार की तरह ही इस बार भी यहां अपना खाता खोल पाने में नाकाम रही। यही नहीं, कांग्रेस के उम्मीदवारों की तो 63 सीटों पर जमानत भी जब्त हो गई। अरविंद केजरीवाल से पहले शीला दीक्षित तीसरी बार दिल्ली की मुख्यमंत्री बनी थीं और उन्होंने 15 वर्षों तक मुख्यमंत्री के तौर पर दिल्ली में राज किया था। अब अरविंद केजरीवाल भी तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं। अरविंद केजरीवाल ने वर्ष 2013 में हुए विधानसभा चुनाव में शीला दीक्षित को हराया था। इसके बाद जब 2015 में दिल्ली में फिर विधानसभा चुनाव हुए तो इस बार आम आदमी पार्टी ने 70 में से 67 सीटें जीत लीं।

8 फरवरी को हुए थे चुनाव

भाजपा की ओर से चुनाव में जीत का दावा किया गया था, लेकिन पार्टी केवल 8 सीटों पर ही विजय पाने में कामयाब हो सकी। दिल्ली विधानसभा के लिए होने जा रहे चुनाव को लेकर प्रचार के वक्त कई तरह के विवादित बयान भी सामने आये। इन सबके बावजूद चुनाव शांतिपूर्ण माहौल में बीते 8 फरवरी को संपन्न हुए और 11 फरवरी को घोषित नतीजों ने प्रदेश में तीसरी बार आम आदमी पार्टी के पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाने का मार्ग प्रशस्त कर दिया। कांग्रेस के लिए दिल्ली चुनाव में यह अब तक का सबसे निराशाजनक प्रदर्शन रहा।

Delhi Election Result: वोट प्रतिशत पर एक नजर

दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को प्राप्त हुए मतों का प्रतिशत 53.57 रहाभाजपा को दिल्ली चुनाव में 38.51 फीसदी वोट हासिल हुएकांग्रेस को विधानसभा चुनाव में केवल 4.26 प्रतिशत वोट ही प्राप्त हो सके। भाजपा के वोट प्रतिशत में तो इस चुनाव में बढ़ोतरी हुई, मगर सर्वाधिक सीटें जीतने के बावजूद आम आदमी पार्टी के वोट प्रतिशत में 0.77 फीसदी की कमी आई। साथ ही कांग्रेस का वोट प्रतिशत भी 5.39 प्रतिशत तक कम हो गया। वर्ष 2015 में दिल्ली विधानसभा चुनाव में आप को 54.34 फीसदी मत प्राप्त हुए थे। वहीं, भाजपा को तब 32.19 फीसदी वोट मिले थे। कांग्रेस को वर्ष 2015 के विधानसभा चुनाव में 9.65 प्रतिशत वोट प्राप्त हुए थे। वहीं, वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव परिणाम पर नजर डालें तो इस दौरान आप का वोट प्रतिशत 18.1 फीसदी, जबकि भाजपा का 56 प्रतिशत रहा था। इसके अलावा कांग्रेस का वोट प्रतिशत इस दौरान 22.5 फीसदी रहा था।

Delhi Election Results 2020: पूर्वांचली उम्मीदवारों की भूमिका

दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी की ओर से 13 पूर्वांचली उम्मीदवारों को टिकट दिये गये थे, जबकि भाजपा ने इस दौरान 8 पूर्वांचली उम्मीदवारों को चुनाव मैदान में उतारा था। कांग्रेस ने जहां दो पूर्वांचली उम्मीदवारों को टिकट दिया था, वहीं नीतीश कुमार की जेडीयू ने भी 2 पूर्वांचली उम्मीदवारों को चुनाव लड़ाया था। आप ने वर्ष 2015 के चुनाव में भी 13 पूर्वांचली उम्मीदवारों को टिकट दिया था और इन सभी को जीत भी नसीब हुई थी। तब भाजपा ने तीन पूर्वांचली उम्मीदवारों को चुनाव मैदान में उतारा था।

दिल्ली चुनाव 2020: चुनी गईं इतनी महिला विधायक

आम आदमी पार्टी की ओर से 9 महिला उम्मीदवारों को टिकट दिये गये थे, जिनमें से आठ उम्मीदवारों ने इस चुनाव में जीत हासिल की। मंगोलपुरी से राखी बिड़लान, शालीमार बाग से बंदना कुमारी, कालका जी से आतिशी, आरके पुरम से प्रमिला टोकस, राजौरी गार्डन से धनवंती चंदेला, हरिनगर से राजकुमारी ढिल्लो, पालम से भावना गौर और त्रिनगर से प्रीति तोमर की जीत हुई। आप की एक और महिला उम्मीदवार सरिता सिंह को भाजपा के जितेंद महाजन के हाथों रोहतास नगर सीट पर हार का मुंह देखना पड़ा। भाजपा की किसी भी महिला उम्मीदवार को इस चुनाव में जीत नहीं मिल सकी।

निष्कर्ष

दिल्ली इलेक्शन रिजल्ट 2020 का बड़ा महत्व इसलिए है, क्योंकि यह देश की राजधानी है और भारत की राजनीति का प्रमुख केंद्र भी। लोकसभा चुनाव में भाजपा का साथ देने वाली दिल्ली की जनता ने विधानसभा चुनाव में साथ आप का दिया है। दिल्ली इलेक्शन रिजल्ट ने लोकतंत्र की बड़ी रोचक तस्वीर पेश की है।

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.