Sridevi: रुपहले पर्दे की हवा-हवाई

764
Sridevi

बॉलीवुड की पहली फीमेल सुपरस्टार थीं Sridevi. बॉलीवुड की चांदनी थीं श्रीदेवी। हिंदी सिनेमा का वह नायाब नगीना थीं श्रीदेवी, जिन्होंने अपनी चमक से पूरी फिल्म इंडस्ट्री में रौशनी  भर दी थी। श्रीदेवी जितनी खूबसूरत थीं, उनकी अदाकारी भी उतनी ही खूबसूरत थी। यही वजह थी कि हर कोई उनकी अदाकारी का कायल हो जाता था।

Sridevi की biography पर नजर डालें तो हम पाते हैं कि श्रीदेवी अपने करियर को लेकर जितनी गंभीर थीं, उतनी ही चंचलता भी उनमें भरी हुई थी। चेहरे से मासूम दिखती थीं तो संजीदा भी वे उतनी ही थीं। न केवल वे एक बेहतरीन अभिनेत्री थीं, बल्कि नृत्य पर भी उनकी उतनी ही अच्छी पकड़ थी। रुपहले पर्दे की यह हवा-हवाई जब यह दुनिया छोड़ गई तो किसी के लिए भी इस खबर पर यकीन कर पाना बहुत ही मुश्किल था।

इस लेख में आपके लिए है:-

  • Sridevi का प्रारंभिक जीवन
  • 300 से भी अधिक फिल्में श्रीदेवी के नाम
  • यूं शुरू हुआ था श्रीदेवी का करियर
  • जब बनीं रजनीकांत की सौतेली मां
  • श्रीदेवी की पहली हिंदी फिल्म
  • Sridevi की जो फिल्में यादगार बन गईं
  • मिला जब-जब सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार
  • श्रीदेवी से जुड़े कुछ और रोचक तथ्य
  • श्रीदेवी का निधन

Sridevi का प्रारंभिक जीवन

  • Sridevi का जन्म तमिलनाडु में 13 अगस्त, 1963 को हुआ था। श्रीदेवी के पिता पेशे से वकील थे। उनकी एक बहन श्रीलता और दो सौतेले भाई आनंद और सतीश हैं।
  • श्रीदेवी ने जब जन्म लिया था तो उस वक्त उनका नाम श्री अम्मा यंगर अय्यप्पन था।
  • श्रीदेवी की मातृभाषा तमिल थी।
  • श्रीदेवी की शादी मशहूर फिल्म निर्देशक बोनी कपूर से 1996 में हुई थी। श्रीदेवी बोनी की दूसरी पत्नी थीं। इस शादी से श्रीदेवी की दो बेटियां जान्ह्वी कपूर और खुशी कपूर हुई थीं।

300 से भी अधिक फिल्में श्रीदेवी के नाम

  • Sridevi की filmography की बात करें तो उन्होंने केवल हिंदी फिल्मों में ही नहीं, बल्कि दक्षिण भारतीय फिल्मों में भी काम किया था। श्रीदेवी ने अपने 50 वर्षों के करियर के दौरान 300 से भी अधिक फिल्मों में काम किया।
  • अपनी नायब अदाकारी की वजह से जितनी लोकप्रियता उन्हें बॉलीवुड में हासिल हुई, उतनी ही लोकप्रिय वे दक्षिण भारतीय फिल्म इंडस्ट्री में भी रहीं।

यूं शुरू हुआ था श्रीदेवी का करियर

  • बाल कलाकार के रूप में श्रीदेवी ने अपने करियर की शुरुआत की थी। 1967 में श्रीदेवी ने थिरुमुगम की फिल्म ‘थुनाईवन’ से एक्टिंग की दुनिया में कदम रखा था। तब उनकी उम्र केवल 4 साल की थी।
  • बॉलीवुड में उनके करियर की बात करें तो बाल कलाकार के रूप में 1975 में रिलीज हुई फिल्म जूली में उन्होंने अभिनय किया था।
  • बाल कलाकार के रूप में श्रीदेवी ने हिंदी के साथ-साथ तमिल, मलयालम, तेलुगु एवं कन्नड़ फिल्मों में एक्टिंग की थी।

जब बनीं रजनीकांत की सौतेली मां

  • तमिल फिल्म मोन्दरू मुदिचू मैं श्रीदेवी ने रजनीकांत की सौतेली मां की भूमिका निभाई थी। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि तब श्रीदेवी की उम्र केवल 13 साल थी।
  • बॉलीवुड में जब श्रीदेवी ने अपने कदम रखे थे, तब हिंदी में बात करना भी उनके लिए मुश्किल था। उनकी आवाज को प्रायः नाज डब करती थीं। श्रीदेवी की आखिरी रास्ता नामक एक फिल्म आई थी, जिसमें रेखा ने उनकी आवाज को डब किया था।
  • चांदनी श्रीदेवी की पहली फिल्म थी, जिसमें उन्होंने खुद से अपने संवाद डब किए थे।

श्रीदेवी की पहली हिंदी फिल्म

  • Sridevi की filmography के बारे में पढ़ते वक्त उनकी पहली हिंदी फिल्म का नाम जानना भी जरूरी है। यह फिल्म सोलहवां सावन थी।
  • वैसे, पहचान श्रीदेवी को वर्ष 1983 में आई फिल्म हिम्मतवाला से मिली थी। इसके बाद तो श्रीदेवी के सामने फिल्मों की लाइन लग गई थी। अमिताभ बच्चन, जितेंद्र एवं मिथुन चक्रवर्ती के साथ कई हिट फिल्में उन्होंने दी थीं।
  • श्रीदेवी को स्टार बनाने का श्रेय यश चोपड़ा की मेगा हिट फिल्म चांदनी को जाता है। श्रीदेवी ने जिसकी कल्पना भी नहीं की थी, वैसे कामयाबी फिल्म चांदनी से उन्हें हासिल हो गई थी।

Sridevi की जो फिल्में यादगार बन गईं

Sridevi की biography में सबसे बड़ा स्थान तो उनकी फिल्मों का ही है। ऐसे में उनकी सबसे यादगार फिल्मों की बात करें तो इनमें चांदनी, सरफरोश, सदमा, आखिरी रास्ता, औलाद, मिस्टर इंडिया, खुदा गवाह, चंद्रमुखी, लाडला, चांद का टुकड़ा, बलिदान, घर संसार, भगवान, जांबाज़, कर्मा, चालबाज, इंग्लिश विंग्लिश, जोशीले, मॉम, नगीना, तोहफा, हिम्मतवाला, जाग उठा इंसान, नजराना, आर्मी और रूप की रानी चोरों का राजा आदि शामिल हैं।

मिला जब-जब सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार

  • Sridevi ने वर्ष 1989 में आई फिल्म चालबाज में दोहरी भूमिका निभाई थी। इस फिल्म में लाजवाब प्रदर्शन के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का फिल्मफेयर पुरस्कार हासिल हुआ था।
  • श्रीदेवी को दूसरा फिल्मफेयर पुरस्कार फिल्म लम्हे के लिए मिला था, जो कि यशराज की फिल्म थी।
  • श्रीदेवी ने फिल्मों से ब्रेक ले लिया था, मगर वर्ष 2012 में उन्होंने फिल्म इंग्लिश विंग्लिश से सिल्वर स्क्रीन पर वापसी की थी। यह गौरी शिंदे की फिल्म थी।
  • आखिरी फिल्म श्रीदेवी की मॉम रही, जो कि वर्ष 2017 में रिलीज हुई थी। श्रीदेवी को मरणोपरांत इस फिल्म के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान किया गया था।
  • वर्ष 2013 में श्रीदेवी को पद्मश्री से भी सम्मानित किया गया था।

श्रीदेवी से जुड़े कुछ और रोचक तथ्य

  • श्रीदेवी की पहली हिंदी फिल्म ‘रानी मेरा नाम’ थी। इस फिल्म में उन्होंने हीरोइन के बचपन का किरदार निभाया था।
  • श्रीदेवी को सफेद रंग सबसे ज्यादा पसंद था। यही वजह थी कि अधिकतर कार्यक्रमों में उन्हें सफेद रंग के कपड़ों में ही देखा जाता था।
  • 25 किलो से भी अधिक वजन वाला सोने से बना पोशाक श्रीदेवी ने रूप की रानी चोरों का राजा फिल्म के गाने ‘दुश्मन दिल का वो है’ की शूटिंग के लिए पहना था।
  • श्रीदेवी फिल्म ‘सदमा ’,’ चांदनी ’, ‘गरजना’ और ‘कश्मकश’’ में पार्श्व गायिका थीं।
  • जब स्टीवन स्पीलबर्ग ने श्रीदेवी को ‘ज्यूरैसिक पार्क’ में एक छोटी भूमिका के लिए संपर्क किया था तो उन्होंने इस भूमिका को अस्वीकार कर दिया था।

श्रीदेवी का निधन

बॉलीवुड की मशहूर अदाकारा श्रीदेवी का निधन 24 फरवरी, 2018 को दुबई के एक होटल में बाथटब में गलती से डूब जाने और हृदयगति रुक जाने की वजह से हुआ था। वे
दुबई एक शादी समारोह में शामिल होने के लिए गई हुई थीं।

अंत में

श्रीदेवी की जिंदगी इस बात का प्रमाण है कि यदि आपके अंदर कुछ करने की योग्यता है और मेहनत करने से आप पीछे नहीं हटते, तो जिंदगी भी आपके लिए कामयाबी के दरवाजे खोल देती है।

1 COMMENT

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.