ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री में करियर: वक्त के साथ चलें

422
automobile careers

यदि आप 12वीं की पढ़ाई कर रहे हैं, तो कुछ समय के बाद आपकी 12वीं की परीक्षाएं होंगी, जिनके बाद आप कॉलेज जाने की तैयारी करने लगेंगे। ऐसे में आपके मन में यह सवाल जरूर उठा रहा होगा कि इंटर यानी की 12वीं की पढ़ाई पूरी कर लेने के बाद अब आपको किस क्षेत्र में अपना करियर बनाने के बारे में सोचना चाहिए। दरअसल आज के वक्त में कई ऐसे क्षेत्र भी आपके लिए मौजूद हैं, जिनमें यदि आप करियर बनाने की सोचते हैं, तो भविष्य में आपके लिए फायदे का सौदा साबित हो सकता है। Automobile industry careers भी इनमें से एक है, जिसके बारे में यहां हम आपको विस्तार से जानकारी उपलब्ध करा रहे हैं।

इस लेख में आप पढ़ेंगे:

  • Automobile industry careers के लिए जरूरी कौशल
  • Careers in automobile sector के लिए उपलब्ध हैं ये कोर्स
    ऑटोमोबाइल कोर्स के लिए प्रमुख विश्वविद्यालय और कॉलेज
  • यहां मिल सकता है काम करने का मौका

ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री को यूं समझें

भारत में ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री को देखें तो पिछले कुछ वर्षों में इसमें तेजी से बदलाव देखने के लिए मिल रहे हैं। यह एक ऐसा क्षेत्र है, जिसमें क्रिएटिविटी और इन्नोवेशन यानी कि रचनात्मकता और उन्नयन की बड़ी आवश्यकता होती है। न केवल स्वदेशी, बल्कि विदेशी ऑटोमोबाइल कंपनियों को भी अपने नए प्रोजेक्ट्स और टेक्नोलॉजी में बदलाव लाने के लिए पेशेवरों की जरूरत होती है। इसके जरिए वे अपने उत्पादों को बेहतर बनाना चाहते हैं और बाजार में अपनी हिस्सेदारी भी बढ़ाना चाहते हैं।

यही कारण है कि careers in automobile sector की मांग अब तेजी से बढ़ती जा रही है। विशेषकर पिछले कुछ वर्षों में इसमें ज्यादा बढ़ोतरी देखी गई है। यदि आपको ऐसा लगता है कि केवल गाड़ियों को ठीक करने तक ही ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री सीमित है, तो आपकी सोच गलत है। गाड़ियों को सिर्फ ठीक करना ही ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री के अंतर्गत नहीं आता है, बल्कि ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में कई तरह की शाखाएं भी मौजूद हैं। इनमें मेकेनिकल से लेकर इलेक्ट्रॉनिक्स, इलेक्ट्रिकल्स और कंप्यूटर साइंस जैसे शाखाएं शामिल हैं।

Automobile industry careers के लिए जरूरी कौशल

  • Careers in automobile sector की चाहत यदि आप रखते हैं, तो इसके लिए आपको ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग से संबंधित हर पहलू की अच्छी जानकारी होनी जरूरी है। इलेक्ट्रिकल के साथ मैकेनिकल, फ्यूल टेक्नोलॉजी और इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम के बारे में आपको ठीक तरीके से पता होना चाहिए।
  • इसके अलावा इस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए आपके पास अच्छी कम्युनिकेशन स्किल होनी भी बहुत ही जरूरी है। वह इसलिए कि आपको ग्राहकों से रू-ब-रू होना पड़ता है। साथ में अपने सीनियर्स के साथ जूनियर्स से भी अच्छी तरह से संवाद स्थापित करना है।
  • इसके अलावा कंप्यूटर की ठीक तरीके से जानकारी होनी भी बहुत ही जरूरी है। वह इसलिए कि अब बाकी क्षेत्रों की तरह ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री में भी कंप्यूटर का बड़े पैमाने पर इस्तेमाल हो रहा है। कंप्यूटर ऐडेड डिजाइन के साथ कंप्यूटर ऑटोमेशन संबंधी जानकारी की भी आपकी परीक्षा इसमें होती है। कम-से-कम आपको कंप्यूटर की सामान्य जानकारी तो होनी ही चाहिए।
  • ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री निश्चित रूप से तकनीक पर आधारित इंडस्ट्री है। ऐसे में इस क्षेत्र में जो नए-नए बदलाव आ रहे हैं, जो नई तकनीकें आ रही हैं, इन सभी से आपको परिचय रखना चाहिए। इसके लिए यह बहुत ही जरूरी है कि तकनीकों के क्षेत्र में आपकी गहन रुचि हो।
  • उपरोक्त सभी स्किल्स के अलावा आपकी फिजिकल फिटनेस भी बहुत मायने रखती है। वह इसलिए कि ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री में आपको कई शिफ्ट में भी काम करना पड़ता है। साथ ही भारी उपकरणों के साथ भी काम करने की नौबत आती है। ऐसे में आपकी फिटनेस बहुत मायने रखती है। इसलिए यदि आप खुद को मानसिक और शारीरिक तरीके से पूरी तरह से स्वस्थ पाते हैं और अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए खुद को तैयार महसूस करते हैं, तभी इस क्षेत्र में आपको करियर बनाने के लिए आगे बढ़ना चाहिए।

Careers in automobile sector के लिए उपलब्ध हैं ये कोर्स

ऑटोमोबाइल सेक्टर में करियर बनाने के लिए आपके पास ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा पाठ्यक्रमों से लेकर पीएचडी पाठ्यक्रम तक की उपलब्धता है। आप शुरुआत ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में बीई या फिर बीटेक कोर्स से कर सकते हैं। आप चाहें तो मेकेनिकल इंजीनियरिंग में भी बीई या फिर बीटेक कोर्स कर लेने के बाद एमटेक इन ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग का कोर्स कर सकते हैं।

  • वर्कशॉप प्रौद्योगिकी, इलेक्ट्रिकल मोशन, इलेक्ट्रिक सिस्टम, फ्लुइड मैकेनिक्स, कंट्रोल सिस्टम, मशीन डिजाइन, सप्लाई चैन मैनेजमेंट, प्रोटोटाइप क्रिएशंस, थर्मोडायनेमिक्स, कंबशन इंजन, एयरोडायनेमिक्स, एग्रोनॉमिक्स, और कंप्यूटर ऐडेड डिजाइन जैसे विषय ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में शामिल हैं।
  • ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में शामिल प्रमुख कोर्सेज में डिप्लोमा इन ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग, सर्टिफिकेट प्रोग्राम इन ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग, बीटेक ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग, बीई ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग और पीजी डिप्लोमा इन ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग शामिल हैं।
  • यदि आपकी रुचि गणित, भौतिकी, रसायन शास्त्र और जैव प्रौद्योगिकी में है और आप 10वीं उत्तीर्ण कर चुके हैं या फिर दसवीं की अंतिम परीक्षा में शामिल हो रहे हैं, तो आप इसके बाद डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं।
  • वहीं भौतिकी, गणित, रसायन शास्त्र, जैव प्रौद्योगिकी एवं कंप्यूटर साइंस विषयों के साथ यदि आप 12वीं उत्तीर्ण कर चुके हैं, तो आप ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में बीटेक कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं।

ऑटोमोबाइल कोर्स के लिए प्रमुख विश्वविद्यालय और कॉलेज

Automobile industry careers के अपने सपने को मूर्त रूप देने के लिए आप इन कॉलेजों एवं विश्वविद्यालयों से पढ़ाई कर सकते हैं:-

  • मणिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मणिपाल, कर्नाटक
  • कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड रूरल टेक्नोलॉजी, मेरठ
  • महावीर इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट, गाजियाबाद
  • दिल्ली कॉलेज ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट, पलवल, हरियाणा
  • गवर्नमेंट इंजीनियरिंग कॉलेज, मोडासा, साबरकांठा, गुजरात
  • हिंदुस्तान कॉलेज ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी, मथुरा
  • हिंदुस्तान यूनिवर्सिटी केलंबकम्, तमिलनाडु

यहां मिल सकता है काम करने का मौका

ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री से जुड़ा कोर्स कर लेने के बाद मुख्य रूप से तीन क्षेत्रों में आपको काम करने का अवसर मिल सकता है।

  • सबसे पहले डिजाइन इंजीनियरिंग हैं, जिन्हें वाहन या फिर कंपोनेंट का खाका तैयार करना होता है।
  • दूसरे हैं डेवलपमेंट इंजीनियर, जिनकी जिम्मेवारी खाके का मूल्यांकन करने की होती है।
  • तीसरे मैन्युफैक्चरिंग इंजीनियर हैं, जो वाहन के उत्पादन से संबंध रखते हैं।

और अंत में

Automobile industry careers को चुनना वास्तव में वक्त के साथ चलने जैसा है, क्योंकि वर्तमान में यह क्षेत्र तेजी से फल-फूल रहा है, जिसकी वजह से इस क्षेत्र में करियर बनाने वालों के लिए संभावनाओं के द्वार खुले हुए हैं। एक उज्जवल भविष्य के लिए ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री में करियर बनाना आपके लिए बेहतर विकल्प साबित हो सकता है।

Content Protection by DMCA.com

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.