मिनी ‘भारत’ के नाम से पहचाना जाने वाला द्वीप ‘फिजी’ बना था ‘फिजी गणराज्य’

146
Fiji Republic 1987

दक्षिण प्रशान्त महासागर के ‘मेलानेशिया’ मे एक द्वीप देश स्थित है। इस द्वीप देश को ‘Fiji’ या ‘फिजी द्वीप समूह गणराज्य’ के नाम से जाना जाता है। 6 अक्टूबर 1987 का दिन ‘फ़िजी’ के लिए ख़ास इसलिए है क्योंकि इसीदिन इस द्वीप देश को गणराज्य या फिर यूँ कहें कि रिपब्लिक का दर्जा मिला था।

अब सबसे पहले आपके मन में सवाल आ रहा होगा कि आखिर Fiji की भगौलिक स्थति क्या है? ये द्वीप देश कहां स्थित है? आपको बता दें कि ‘फ़िजी’ न्यूज़ीलैण्ड के नॉर्थ आईलैण्ड के उत्तर पूर्व में स्थित है। इस द्वीप की खोज 17 वीं और 18 वीं शताब्दी के बीच में ही हो चुकी थी। डच और अंग्रेजी शोधकर्ताओं ने इस द्वीप की खोज की थी।

आपको बता दें कि ‘मेलानेशिया’ में स्थित ‘फिजी द्वीप समूह गणराज्य’ में कुल 322 द्वीपों का समूह है। अब यहां सवाल ये उठता है कि इन द्वीपों का गठन कैसे हुआ था? बता दें कि अधिकांश द्वीपों का गठन ज्वालामुखी गतिविधि से हुआ था।

इस लेख के मुख्य बिंदु-

  • इस द्वीप का नाम ‘Fiji’ ही क्यों पड़ा था?
  • एक नजर में फिजी का इतिहास (History of Fiji)
  • फिजी ब्रिटेन से कब हुआ था आज़ाद?
  • 1987 का तख्तापलट और फिजी बना ‘रिपब्लिक’
  • फिजी के राजनीतिक समीकरण के कुछ महत्वपूर्ण फैक्ट्स
  • फिजी की राजनीति व्यवस्था कैसी है?
  • सरांश

इस द्वीप का नाम ‘फिजी’ ही क्यों पड़ा था?

फिजी द्वीप समूह गणराज्य’ के मुख्य द्वीप का नाम विती लेवु है। इस नाम का उच्चारण वहां के लोग ‘फिसी’ नाम से करते हैं। जिसके कारण इस द्वीप का नाम फिजी पड़ा था।

एक नजर में फिजी का इतिहास (History of Fiji)

 सत्रहवीं शताब्दी में यूरोपीय इन्वेंटर फिजी आए थे। लेकिन अगर History.com की रिपोर्ट्स पर नज़र डालेंगे तो आपको पता चलेगा कि फिजी में लोग उनके आने से पहले ही रहा करते थे। कई इतिहासकार मानते हैं कि फिजी में मौजूद मिट्टी के बर्तनों की खुदाई से पता चलता है कि करीब 1000 ईसा।पूर्व  के आस पास भी लोग फिजी द्वीप में रहा करते थे।

  • आपको बता दें कि साल 1874 में ब्रिटेन ने फिजी को अपने नियंत्रण में ले लिया था।
  • 1874 में ब्रिटेन ने इसे उपनिवेश कॉलोनी बना लिया था।
  • उपनिवेश कॉलोनी किसी राज्य के दूर स्थित उस जगह को कहते हैं। जहाँ वहां की जनता निवास करती है। किसी दूसरे राज्य में अपनी प्रभुत्व को दिखाने के लिए इस टर्म का यूज किया जाता था।
  • अंग्रेजों ने इस जगह पर भारतीय मजदूरों को गन्ने के खेत में काम करने के लिए लेकर आए थे।

फिजी ब्रिटेन से कब हुआ था आज़ाद?

महीना था अप्रैल और साल था 1970 , जब लंदन में एक संवैधानिक सम्मेलन में सहमति बनी  कि फिजी राष्ट्रमंडल को पूर्ण स्वतंत्र राष्ट्र बनना चाहिए। फिजी का डोमिनियन उसी वर्ष 10 अक्टूबर 1970 को स्वतंत्र हो गया।स्वतंत्रता के बाद की राजनीति में रत्तू सर कमिससे मारा और अलायंस पार्टी का वर्चस्व रहा था।

Also Read – जब Soviet Union से Kyrgyzstan को मिली आज़ादी

1987 का तख्तापलट और फिजी बना ‘रिपब्लिक’ (Why did Fiji became a Republic)

1987 में दो सैन्य तख्तापलटों से लोकतांत्रिक शासन बाधित हो गया था, जिसमें यह धारणा बढ़ गई थी कि सरकार में इंडो-फिजीयन (भारतीय) समुदाय का वर्चस्व है।

  • 1987 के तख्तापलट में फिजियन राजशाही और गवर्नर जनरल दोनों ने एक गैर-कार्यकारी अध्यक्ष की जगह ली और देश का नाम फिजी डोमिनियन से बदलकर “फिजी गणराज्य” कर दिया था।
  • साल 1990 में नए संविधान का गठन किया गया था। जिसके बाद राजनीतिक व्यवस्था मे फिजी मूल के लोगों के वर्चस्व को प्रमाणिकता मिली थी।
  •  फिर 1997 में फिजी द्वीप समूह में बदल गया। परिणामस्वरूप जनसंख्या हानि के कारण आर्थिक कठिनाइयाँ हुईं। काफी ज्यादा भारतियों ने द्वीप को अलविदा कहा था। जिसके बाद ये सुनिश्चित हो गया था कि ‘मेलानिशियन’ बहुसंख्यक हो गए थे।
  • साल 1997 में फिजी गणराज्य का नाम एक बार फिर बदला। इस बार इसके नाम को बदलकर ‘फ़िजी द्वीप समूह गणराज्य’ कर दिया गया था।
  • लेफ्टिनेंट कर्नल सितिवेनी रेबूका ने ही साल 1987 के तख्तापलट को अंजाम दिया था।
  • इसके बाद जब नए संविधान के तहत चुनाव हुए तो साल 1992 में सितिवेनी रेबूका फिजी के प्रधानमंत्री चुने गये थे।

फिजी के राजनीतिक समीकरण के कुछ महत्वपूर्ण फैक्ट्स

  • साल 1995 में सितिवेनी रेबूका ने नए संविधान सभा का गठन किया था।
  • जिसके कारण साल 1997 में एक नया संविधान फिजी के इतिहास में अस्तित्व में आया था।
  • नए संविधान को फिजी भारतीय समुदाय का समर्थन भी मिला था।
  • इस नए संविधान के बाद फिजी को एक राष्ट्र के रूप में मान्यता मिल चुकी थी।

Also Read – जब 1932 में Iraq को Britain से मिली Independence

फिजी की राजनीति व्यवस्था कैसी है?

फिजी की राजनीति भी किसी लोकतांत्रिक देश की ही तरह संसदीय प्रणाली के तहत काम करती है। इसके तहत सरकार के मुखिया प्रधानमंत्री होते हैं और राष्ट्र के मुखिया राष्ट्रपति।

  • फिजी की राजनीति में भी बहुदलीय प्रणाली काम काम करती है। जिसका मतलब साफ़ है कि कई दल राजनीति में सक्रीय हैं।
  • फिजी की सियासत ने आजादी के बाद से 4 तख्तापलट को देखा है। दो 1987 में, एक 2000 में और एक 2006 के अंत होते-होते देखा गया था।

सरांश

 फिजी के भगौलिक स्थति की बात करें तो इसमें 322 द्वीप हैं। इन 322 द्वीपों में 106 बसे हुए हैं। फिजी द्वीप के दो सबसे प्रमुख द्वीप हैं विती लेवु और वनुआ लेवु हैं। फिजी में पर्याप्त मात्रा में खनिज और वन होने के कारण इस द्वीप की अर्थव्यवस्था भी काफी अच्छी है।

  • अगर साल 1960 से 1970 के दशक को देखा जाए तो ये बात समझ में आती है कि उस दौर में फिजी की अर्थव्यवस्था काफी तेजी से बढ़ रही थी। लेकिन साल 1987 की क्रांति के बाद से अर्थव्यवस्था में ठहराव आ गया था।
  • 6 अक्टूबर 1987 का दिन फिजी गणराज्य के लिए हमेशा ख़ास इसलिए भी रहेगा क्योंकि इसी दिन असल मायने में इस राज्य को स्वतंत्रता मिली थी। इसी दिन फिजी को रिपब्लिक का दर्जा प्राप्त हुआ था। इसी दिन के बाद से ही आम सा नज़र आने वाला फिजी ‘फिजी द्वीप समूह गणराज्य’ के नाम से दुनिया में पहचाने जाने लगा था।
  • अगर संस्कृति की बात करें तो फिजी में समृद्ध संस्कृति है। जहाँ स्वदेशी, भारतीय, चीनी और यूरोपीय परंपरा का मिश्रण है।

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.