जानें क्या है Virtual Reality और कैसे करता है ये काम?

1674
What is Virtual Reality and how it works

कई बार हमारे दिमाग में कुछ ऐसी कल्पनाएं पैदा होती हैं, जिनका हकीकत से कोई वास्ता नहीं होता, क्योंकि वास्तव में ये संभव ही नहीं होतीं। इन्हीं कल्पनाओं का एहसास हकीकत में कराने वाली चीज है virtual reality, जिसका आजकल बड़े पैमाने पर इस्तेमाल हो रहा है। यहां हम आपको बता रहे हैं कि What is virtual reality and how does it work? साथ ही इससे जुड़े अन्य पहलुओं की भी जानकारी विस्तार से हम उपलब्ध करा रहे हैं।

What is virtual reality?

Virtual का मतलब होता है पास, जबकि reality का अनुभव। इस तरह से virtual reality का मतलब है कोई ऐसा artificial environment किसी software या फिर कुछ चयनित hardware की मदद से तैयार कर देना, जिसे हम अपने दो senses sight और sound से पूरी तरह से महसूस कर सकें। उदाहरण के लिए डायनासोर के बीच में पहुंच जाना। मंगल पर होने का एहसास होना। समुद्र के अंदर बड़ी-बड़ी मछलियों के साथ तैरने का अनुभव होना। Augmented reality और virtual reality के बीच आप कन्फ्यूज न हों इसके लिए हम आपको बता दें कि augmented reality में आपके आसपास के वातावरण के अनुसार चीजें तैयार की जाती हैं, जबकि virtual reality में पूरी तरह से काल्पनिक चीजों को real time में तैयार किया जाता है।

Who invented virtual reality?

Virtual reality का जनक Jaron Lanier को कहा जाता है, क्योंकि 1980 के दशक में इसी अमेरिकी ने दुनिया को इससे परिचित कराया था। Virtual reality को invent तो इन्होंने किया ही साथ में 1985 में VPL Research नामक एक कंपनी खोलकर वहां उन्होंने the eye phone, the audio sphere और the data glove जैसे कई VR Headset भी तैयार किये।

Virtual Reality की विशेषताएं

Virtual reality में आपको यह महसूस होता है कि जो आप believe कर रहे हैं, वे चीजें वास्तव में आपके साथ घटित भी हो रही हैं। यही नहीं, यह interactive होता है। इसमें चीजें आपके movement के अनुसार बदलती भी हैं, जिससे आपको इनके सजीव होने का एहसास होता है। Realistic 3D computer graphics का इस्तेमाल करके virtual reality चीजों को आपके सामने ऐसे पेश करता है कि आपको सारी चीजें एकदम real time में होती हुई नजर आने लगती हैं। Virtual reality को explorable भी बनाया जा रहा है, ताकि ज्यादा-से-ज्यादा details होने से यह ज्यादा प्रभावी दिखे और virtual reality क्यों important है, इसे लोग समझ सकें। इसमें body और mind दोनों को immersive किया जाता है, ताकि ये अधिक believable और interactive बन सकें। Virtual reality जितनी अधिक immersive होती है, यह उतनी ही असली नजर आती है।

Virtual Reality के प्रकार

Virtual reality के इस्तेमाल और इसके features के मुताबिक इसके विभिन्न प्रकार भी हैं, जो निम्नवत् हैं:

  • पहला Fully immersive होता है, जिसमें computer model या simulation detailed virtual world को explore करने के लिए, एक ताकतवर कंप्यूटर चीजों को आसानी से पहचान कर उसे real time में adjust करने के लिए और Hardware की जरूरत कंप्यूटर के साथ लिंक करके virtual world में पूरी तरह से immerse करने के लिए पड़ती है। इसमें दो screens और stereo sound से युक्त head-mounted display (HMD) Sensory gloves के साथ मिलकर fully immersive अनुभव प्रदान करता है।
  • दूसरा है Non-immersive जिसमें reality fully immersive न होकर उसके बहुत नजदीक होती है। जैसे कि आपके PC से wide screen, headphones, surround sound, realistic joystick और दूसरे controls connected रहकर realistic flight simulator में आपको एकदम flight का अनुभव देते हैं।
  • Games में virtual reality के इस प्रकार Collaborative का बड़े पैमाने पर इस्तेमाल होता है। इसमें collaboration और sharing के जरिये virtual world में अन्य लोगों के साथ real time में अपना अनुभव साझा किया जाता है।
  • Virtual reality का एक प्रकार Web-based भी है, जिसमें world wide web के लोकप्रिय होने और सोशल मीडिया के सक्रिय होने के बाद वहां भी इसका इस्तेमाल बड़े पैमाने पर होने लगा है।

Virtual Reality में इस्तेमाल होने वाले Equipments

Virtual reality में मोटरबाइक हेलमेट की तरह दिखने वाले Head Mounted Displays (HMDs) का इस्तेमाल तो होता ही है, साथ में Immersive rooms भी होते हैं, जिनकी दीवारों पर बदलती हुई images का display होता रहता है, जो real time का एहसास कराती हैं। Virtual reality में Sensor युक्त Datagloves के इस्तेमाल से चीजों को छूने का भी एहसास होता है। साथ ही position और motion sensors वाले wands स्टिक के रूप में चीजों को टच करने या point करने के लिए प्रयोग में आते हैं।

Virtual Reality का प्रयोग

अब सवाल उठता है कि Why is virtual reality important? तो इसका जवाब ये है कि शिक्षा से लेकर विज्ञान, मेडिकल, गेम्स, मनोरंजन और आर्किटेक्ट तक में इसके इस्तेमाल से इन क्षेत्रों की तस्वीर ही एकदम बदलने लगी है। उदाहरण के लिए शिक्षा के क्षेत्र में पढ़ाई जाने वाली चीजों का प्रैक्टिकल और ट्रेनिंग virtual reality की वजह से आसानी से होने लगा है। विज्ञान के क्षेत्र में molecular structure के डिजाइन में भी मदद मिलने लगी है। उसी तरह से मेडिसीन के क्षेत्र में drugs डिजाइन करना आसान हुआ है और Tele-Medicine में भी इसका इस्तेमाल प्रभावी तरीके से किया जा रहा है। कई तरह की कठिन सर्जरी को भी virtual reality ने आसान कर दिया है। पहले आर्किटेक्ट model बनाने के लिए कार्ड और पेपर आदि प्रयोग में लाते थे, मगर virtual reality के आने से अब real time में इनकी संरचना तैयार करके वास्तव में तैयार होने से पहले ही इसका अनुभव आसानी से हो पा रहा है। Games जैसे कि car racing या fight आदि में भी यह real experience प्रदान कर रहा है। Movies में भी virtual reality के प्रयोग से इसका अनुभव ही एकदम बदल गया है।।

निष्कर्ष

इस लेख को पढ़ने के बाद आपको इसका जवाब मिल गया होगा कि virtual reality क्या है और यह कैसे काम करता है। इसमें कोई शक नहीं कि virtual reality ने हमारी जिंदगी के हर क्षेत्र में ऐसे क्रांतिकारी बदलाव ला दिये हैं, जिनसे न केवल हमारे सीखने का तरीका बदलने लगा है, बल्कि शोध और अनुसंधान को भी इसने नई दिशा दे दी है।

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.