Careers for Geography Majors: बेहतरीन कॅरियर कर रहा इंतजार

213
Careers for geography majors

Careers for geography majors के बारे में भी आपको जरूर जानना चाहिए, क्योंकि वर्तमान समय में इस क्षेत्र में बेहतरीन कॅरियर बनाने के एक से बढ़कर एक विकल्प मौजूद हैं।

Geography career options के बारे में यदि अब तक आपने विचार नहीं किया है, तो वक्त आ गया है कि अब आप इसके बारे में भी सोचना शुरू कर दें। वह इसलिए कि वर्तमान समय में भूगोल यानी कि ज्योग्राफी का क्षेत्र अत्यंत व्यापक हो गया है और इसकी वजह से इस क्षेत्र में रोजगार की असीम संभावनाएं मौजूद हैं। आज यदि आपने अच्छी तरीके से इस विषय की पढ़ाई कर ली, तो आप अपने लिए एक ऐसा कॅरियर बना सकते हैं, जो कि रोमांच और जोश से भरा हुआ होगा। इससे न केवल आपको भरपूर पैसे मिलेंगे, बल्कि आपकी ख्याति भी फैलेगी।

भूगोल का अध्ययन | Study of Geography

भूगोल के अध्ययन का मतलब है पृथ्वी का अध्ययन करना। इसमें पृथ्वी के साथ वातावरण का भी अध्ययन किया जाता है। धरती पर मौजूद संसाधनों के साथ आबादी, आर्थिक गतिविधियों और राजनीतिक गतिविधियों का भी अध्ययन इसमें किया जाता है। इसके अलावा जलवायु परिवर्तन से लेकर तेजी से बढ़ते शहरीकरण, प्राकृतिक संसाधनों के दोहन और प्राकृतिक आपदाओं जैसी समस्याओं का हल निकालने के लिए भी इसमें अध्ययन किया जाता है। सबसे बड़ी बात यह है कि यह विषय प्रकृति से जुड़ा हुआ है। यही वजह है कि इसका अध्ययन करना अपने आप में बड़ा ही रोचक होता है।

यहां से होती है शुरुआत | The Beginning

भूगोल एक ऐसा विषय है, जिसकी पढ़ाई आप स्कूल के दिनों से ही सामाजिक विज्ञान विषय के अंतर्गत शुरू कर देते हैं।

  • 12वी में आप भूगोल विषय का पढ़ाई के लिए चयन कर सकते हैं।
  • इसके बाद आप चाहें तो भूगोल में स्नातक की डिग्री हासिल कर सकते हैं।
  • साथ ही भूगोल में एमए भी किया जा सकता है।
  • इसके बाद पीएचडी भी इसमें की जा सकती है।
  • ग्रेजुएशन कर लेने के बाद आप कई डिप्लोमा कोर्स और सर्टिफिकेट कोर्स भी कर सकते हैं।

भूगोल की पढ़ाई करने के लिए जब आप एडमिशन लेते हैं, तो कुछ संस्थान ऐसे होते हैं जहां पर कि आपको मेरिट के आधार पर दाखिला मिल जाता है। वहीं, कई संस्थानों में इसके लिए आपको प्रवेश परीक्षा देनी पड़ती है।

Geography Careers: संभावनाएं अपार

भूगोल के क्षेत्र में आज कॅरियर बनाने के ढेरों विकल्प इसलिए भी मौजूद हैं, क्योंकि भूगोल की अलग-अलग शाखाओं जैसे कि भौतिक भूगोल, पर्यावरण भूगोल और मानव भूगोल का दायरा तेजी से बढ़ता जा रहा है।

  • पर्यावरण भूगोल की ही यदि हम बात करें तो मानव जीवन पर किस तरीके से आज जलवायु और मौसम का प्रभाव पड़ रहा है, इसके बारे में इसमें बड़े ही विस्तार से अध्ययन किया जा रहा है।
  • उसी तरीके से भौतिक भूगोल के अंतर्गत भी धरती की संरचना के साथ इसके वातावरण को लेकर भी भौतिक दृष्टिकोण से अध्ययन चल रहा है।
  • इसके अलावा मानव भूगोल के तहत इंसानों की सामाजिक एवं सांस्कृतिक गतिविधियों का तो अध्ययन हो ही रहा है, साथ में आर्थिक एवं राजनीतिक गतिविधियों का भी विश्लेषण किया जा रहा है।

कुल मिलाकर ज्योग्राफी से जुड़े क्षेत्रों में कॅरियर बनाने के बहुत से रास्ते आज मौजूद हैं। जरूरत है तो बस अपनी रुचि के अनुसार इसकी शाखाओं के चयन की।

Careers for Geography Majors: वांछित योग्यताएं

भूगोल में यदि आपकी रुचि है और इसी क्षेत्र में आपने कॅरियर बनाने का निर्णय कर लिया है, तो इसके लिए आपके अंदर कुछ योग्यताएं और कौशल होने जरूरी हैं, जो निम्नलिखित हैं:-

  • भूगोल में गहरी रुचि।
  • चीजों को तर्क की कसौटी पर कसने की क्षमता।
  • किसी भी विषय का अच्छी तरीके से विश्लेषण करने वाली सोच।
  • कंप्यूटर की अच्छी जानकारी।
  • मैप बनाने का हुनर।
  • गणित की अच्छी पकड़।
  • शारीरिक रूप से स्वस्थ रहना, क्योंकि भूगोल से जुड़े क्षेत्रों में काम करने के दौरान काफी भागदौड़ की भी जरूरत पड़ती है।
  • विभिन्न विभागों के साथ तालमेल बैठाकर काम करने में दक्षता।

भूगोल के क्षेत्र में कॅरियर विकल्प | Geography Career Options

  • आप कंजर्वेशन ऑफिसर के रूप में कॅरियर बना सकते हैं, जिनकी जिम्मेवारी होती है कि वे लोगों के बीच जाकर उन तरीकों के बारे में जागरूकता फैलाएं, जो कि पर्यावरण के अनुकूल हैं और जिनसे प्राकृतिक वातावरण की सुरक्षा हो सकती है।
  • आपको पर्यावरण सलाहकार के रूप में काम करने का अवसर मिल सकता है, जिनका यह दायित्व होता है कि वे अपने ग्राहकों चाहे वे सरकारी हों या फिर वाणिज्यिक, उन सभी से वे पर्यावरण से जुड़े नियमों का सही तरीके से पालन करवाएं। इतना ही नहीं, पर्यावरण से संबंधित अलग-अलग मसलों से जुड़े कार्यों का भी उन्हें निर्वहन करना पड़ता है। सरकारी संस्थानों में और पर्यावरण से जुड़े संस्थानों में इन्हें रोजगार के अवसर मिलते हैं।
  • आप रीसाइक्लिंग ऑफिसर के रूप में काम कर सकते हैं, जिनकी यह जिम्मेवारी होती है कि वे ऐसी योजनाएं एवं नीतियां बनाएं, जिनसे कि अपशिष्ट पदार्थों के उत्सर्जन को वातावरण में कम किया जा सके। मुख्य रूप से इन्हें रीसाइक्लिंग को प्रोत्साहित करना होता है।
  • कार्टोग्राफर के तौर पर आपको काम करने का मौका मिल सकता है, जिन्हें नक्शा तैयार करना होता है। ट्रैवल गाइड, चार्ट और डायग्राम आदि भी ये तैयार करते हैं।
  • आप ज्योग्राफिकल इन्फॉर्मेशन सिस्टम्स ऑफिसर के रूप में काम कर सकते हैं, जहां कि आपको मौसम विज्ञान, रक्षा, गैस, दूरसंचार, तेल और परिवहन जैसे क्षेत्र में काम करने का मौका मिलता है।
  • टाउन प्लानर के रूप में भी आपके लिए कॅरियर बनाने का विकल्प खुला होता है। एक टाउन प्लानर के रूप में आपकी जिम्मेवारी ग्रामीण क्षेत्रों, कस्बों और शहरों के विकास के साथ उनके प्रबंधन की योजनाएं तैयार करने की होती है।

भूगोल के अंतर्गत प्रमुख कोर्स | Courses under Geography

  • 3 वर्ष का बीए
  • 2 वर्ष का एमए
  • 2 वर्ष की पीएचडी
  • 1 वर्ष का ज्योग्राफिकल कार्टोग्राफी में पीजी डिप्लोमा
  • 1 वर्ष का रिमोट सेंसिंग एंड ज्योग्राफिकल इन्फॉर्मेशन सिस्टम में पीजी डिप्लोमा
  • 6 महीने की अवधि वाला जियो इन्फॉर्मेटिक्स एंड रिमोट सेंसिंग में पीजी सर्टिफिकेट

भूगोल की पढ़ाई कराने वाले प्रमुख संस्थान | Major Institutions for Geography

  • जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी
  • जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, रांची
  • सावित्रीबाई फुले पुणे विश्वविद्यालय, पुणे
  • दिल्ली विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • इंस्टीट्यूट ऑफ़ जियो इन्फॉर्मेटिक्स एंड रिमोट सेंसिंग, कोलकाता
  • पटना यूनिवर्सिटी, पटना
  • अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, अलीगढ़
  • बनस्थली विद्यापीठ, बनस्थली
  • उत्कल यूनिवर्सिटी, भुवनेश्वर
  • बैंगलोर यूनिवर्सिटी, बेंगलुरू

भूगोल के क्षेत्र में नए अवसर | New Opportunities for Geography Careers

  • भूगोल की पढ़ाई करने वालों के लिए पत्रकारिता के क्षेत्र में भी आज रोजगार के अवसर मौजूद हैं। वे पर्यावरण पत्रकार (एनवायरमेंटल जर्नलिस्ट) और यात्रा लेखक (ट्रैवल राइटर) के रूप में भूगोल की पढ़ाई करने के बाद अपना कॅरियर बना सकते हैं।
  • भूगोल की पढ़ाई करके आज वेदर फोरकास्टर के रूप में भी कॅरियर बनाया जा सकता है, जिसमें कि प्राकृतिक आपदाओं जैसे संकटों से निपटने के लिए लोगों को पहले से ही तैयार करना होता है। इसमें मौसम का पूर्वानुमान लगाया जाता है।
  • आप एन्वायरमेंटल लॉयर के तौर पर भी भूगोल की पढ़ाई करने के बाद कॅरियर बना सकते हैं। भूगोल में ग्रेजुएशन कर लेने के बाद आपको कानून की पढ़ाई करनी पड़ती है, ताकि आपको नियम-कानून की जानकारी हो जाए और आप जलवायु परिवर्तन, प्रदूषण की रोकथाम और प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण के बारे में सामाजिक जागरूकता फैलाने में निपुण बन सकें।
  • लैंडस्केप आर्किटेक्ट के रूप में भी आप भूगोल की पढ़ाई के बाद अब कॅरियर बना सकते हैं, जिनका काम इंडस्ट्रियल लैंडस्केप की रूपरेखा तैयार करना, नेचर रिजर्व, पार्क और नई जगहों की बसावट तैयार करना और इन सभी का प्रबंधन करना भी होता है।

चलते-चलते

Careers for geography majors के बारे में अब जब आपको इस लेख को पढ़ कर जानकारी हो ही गई है, तो फिर देर किस बात की? भूगोल में वाकई में यदि आप रुचि रखते हैं, तो यहां दी गई जानकारी के अनुसार अब इस क्षेत्र में कॅरियर बनाने की तैयारी आप अभी से शुरू कर दें, क्योंकि इसमें संभावनाओं की अब कोई कमी नहीं है। साथियों, यह जानकारी यदि आपको पसंद आई हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करना न भूलें, क्योंकि ज्ञान शेयर करने से ही बढ़ता है।

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.