UGC NET २०१९ – तारीखें, सिलेबस, परीक्षा पैटर्न और महत्वपूर्ण टिप्स

1395
ugc net 2019

यूजीसी यानी कि यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन, यह एक वैधानिक संगठन है। यह संस्था भारत में सभी विश्वविद्यालयों को मान्यता प्रदान करता है। यूजीसी नेट एक राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा है, जिसका आयोजन पहले सीबीएसई के द्वारा यूजीसी की तरफ से कराया जाता था, लेकिन अब यह परीक्षा नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के द्वारा आयोजित की जा रही है। यह परीक्षा विश्वविद्यालय में लेक्चरर बनने और जूनियर रिसर्च फैलोशिप प्राप्त करने के लिए आयोजित की जाती है। इस परीक्षा का आयोजन पोस्ट ग्रेजुएट छात्रों को भारत में विश्विद्यालय स्तर पर शिक्षक की नौकरी के लिए और पीएचडी स्तर के कार्यक्रमों में प्रवेश कराने के लिए किया जाता है। आइए जरा विस्तार से जानते हैं यूजीसी नेट २०१९ से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारियां।

UGC NET 2019 – महत्वपूर्ण तारीखें

आधिकारिक नोटिफिकेशन जारी होने की तारीख- फरवरी २०१९

ऑनलाइन आवेदन शुरू होने की तारीख- मार्च २०१९ का पहला हफ्ता

आवेदन करने की आखिरी तारीख- अप्रैल २०१९ का दूसरा हफ्ता

एडमिट कार्ड जारी होने की तारीख- जून २०१९ का तीसरा हफ्ता

परीक्षा की संभावित तारीख- जुलाई २०१९

परिणाम घोषित होने की तारीख- अगस्त २०१९

यूजीसी नेट २०१९ के लिए आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों को कुछ पात्रता शर्तों को पूरा करना होगा। ये शर्तें शैक्षणिक योग्यता और आयु सीमा पर आधारित है।

शैक्षणिक योग्यता

  • उम्मीदवार के पास यूजीसी से मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या संस्थान से कम से कम ५५ फीसदी अंकों के साथ पोस्ट ग्रेजुएशन या उसके समकक्ष डिग्री होनी चाहिए।
  • आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों के लिए प्राप्त अंकों में ५ फीसदी की छूट दी गई है।

आयु सीमा

  • उम्मीदवार की उम्र जूनियर रिसर्च फैलोशिप परीक्षा के समय २८ साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।
  • सहायक प्रोफेसर पद के लिए कोई अधिकतम उम्र सीमा नहीं तय की गई है।

चयन प्रक्रिया

यूजीसी नेट शिक्षण क्षेत्र के उम्मीदवारों के लिए सबसे प्रतिष्ठित राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है। जूनियर रिसर्च फैलोशिप और असिस्टेंट प्रोफेसर में नियुक्ति के लिए उम्मीदवारों को नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट की लिखित परीक्षा से होकर गुजरना पड़ेगा। इसके बाद इस परीक्षा में सफल उम्मीदवारों की मैरिट लिस्ट तैयारी की जाती है। मैरिट लिस्ट में जिन आवेदकों का नाम आता है, काउंसलिंग के बाद उन्हें देशभर के विश्वविद्यालयों में कार्यरत किया जाता है।

परीक्षा पैटर्न

  • यूजीसी नेट २०१९ की परीक्षा में दो पेपर का एग्जाम लिया जाएगा।
  • दोनों पेपर कम्प्यूटर बेस्ड होंगे और दोनों पेपर में वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न पूछे जाएंगे।
  • पहले पेपर में १०० अंकों के लिए ५० प्रश्न पूछे जाएंगे। जिसके लिए एक घंटे का समय दिया जाएगा।
  • दूसरे पेपर में कुल २०० अंकों के लिए १०० प्रश्न पूछे जाएंगे। इसके लिए २ घंटे का समय दिया जाएगा।

सिलेबस

  • पहले पेपर के जरिए उम्मीदवारों की शिक्षण/अनुसंधान अभिरुचि का निर्धारण किया जाता है। इसमें शिक्षण योग्यता, अनुसंधान योग्यता, संचार, रीजनिंग और सामान्य जागरुकता जैसे विषयों से प्रश्न पूछे जाते हैं।
  • दूसरा पेपर उम्मीदवार द्वारा चयन किए गए विषय पर आधारित होता है।

महत्वपूर्ण टिप्स

यूजीसी नेट की परीक्षा में कॉम्पटीशन काफी ज्यादा कठिन होता है, क्योंकि इसमें टॉप रैंकिंग के हिसाब से सिर्फ १५% कैंडिडेट्स ही चुने जाते हैं। ऐसे में आइए जानते हैं यूजीसी नेट २०१९ की परीक्षा में सफल होने के लिए कुछ जरूरी टिप्स।

  • एग्जाम की तैयारी के वक्त पर्सनल नोट्स जरूर बनाएं। क्योंकि ये नोट्स ‘लास्ट-मिनट स्टडी’ के दौरान काफी उपयोगी होते हैं।
  • नेट परीक्षा की तैयारी के लिए आप पिछले सालों के प्रश्न पत्रों को जरूर हल करें।
  • यह परीक्षा आपके मास्टर्स के अधिकतर विषयों को कवर करता है इसलिए हर विषय पर अपनी मजबूत पकड़ बनाएं।
  • नेट की तैयारी के वक्त अपने सीनियर्स, टीचर या परिजनों की मदद जरूर लें।
  • नेट की तैयारी के लिए टाइमटेबल बना कर ही शुरुआत करें।

निष्कर्ष

यूजीसी नेट परीक्षा का आयोजन साल में दो बार किया जाता है। इस परीक्षा में सफल होने के लिए स्किल और इच्छाशक्ति दोनों का ही होना बहुत जरूरी है। अगर आप भी साल २०१९ में होने वाली यूजीसी नेट की परीक्षा में बैठना चाहते हैं, तो आपको हमारी ओर से ढेर सारी शुभकामनाएं ।

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.