यदि आप पशोपेश में हैं तो चुनें ये Top 7 Bachelor’s Subjects

655
career options after BSc

PLAYING x OF y
Track Name
00:00

00:00


बैचलर की डिग्री हासिल करने के लिए किन विषयों की पढ़ाई करना सबसे उपयुक्त होगा और career options after BSc क्या हैं, इनके सबके बारे में आप इस लेख में पढ़ने जा रहे हैं।

12वीं की पढ़ाई पूरी कर लेने के बाद ज्यादातर स्टूडेंट्स इस बात को लेकर बड़े ही पशोपेश में रहते हैं कि अब उन्हें बैचलर की डिग्री हासिल करने के लिए किन विषयों की पढ़ाई करनी चाहिए। वर्तमान समय में बैचलर यानी कि स्नातक की पढ़ाई करने के लिए बहुत से विकल्प मौजूद हैं। ऐसे में स्टूडेंट्स का असमंजस में पढ़ना लाजमी है। इसलिए यहां हम आपको उन टॉप 7 बैचलर डिग्री सब्जेट्स के बारे में बता रहे हैं, जिनकी बहुत मांग है और जिनकी पढ़ाई कर लेने के बाद आपके लिए अपार संभावनाएं भी मौजूद हैं।

  1. बायोटेक्नोलॉजी | Biotechnology

  • इसमें कोई शक नहीं कि बायोटेक्नोलॉजी वर्तमान समय में भारत में मशहूर सबसे बेहतर ग्रेजुएशन कोर्सेज में से एक है। बायोटेक्नोलॉजी की पढ़ाई बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स आज कर रहे हैं, क्योंकि दुनियाभर में इन ग्रेजुएट्स के लिए भरपूर संभावनाएं मौजूद हैं।
  • भारत में बायोटेक्नोलॉजी को बायोटेक के नाम से भी जाना जाता है। यह एक इंजीनियरिंग कोर्स है और इसकी पढ़ाई कर लेने के बाद अलग-अलग क्षेत्रों में स्टूडेंट्स को काम करने का मौका मिलता है।
  • बायोटेक्नोलॉजी को सरल शब्दों में आप ऐसे समझ सकते हैं कि बायोलॉजी और टेक्नोलॉजी को मिलाकर इस विषय को तैयार किया गया है।
  • जो लोग बायोटेक्नोलॉजी की पढ़ाई करते हैं, उनका उद्देश्य यही होता है कि वे अपनी पढ़ाई एवं शोध के जरिए इस दुनिया में कोई बदलाव लेकर आएं। बायोटेक्नोलॉजी की पढ़ाई करने के बाद स्टूडेंट्स के लिए मेडिसिन, हेल्थकेयर, एनिमल हसबेंडरी, जेनेटिक इंजीनियरिंग, एग्रीकल्चर और रिसर्च एंड डेवलपमेंट जैसे क्षेत्रों से जुड़कर काम करने के विकल्प मौजूद होते हैं।
  • यदि आप बायोटेक्नोलॉजी में बैचलर की डिग्री हासिल करना चाहते हैं, तो इसके लिए योग्यता 12वीं में विज्ञान विषय के साथ न्यूनतम 50% अंक से इसे उत्तीर्ण करने की होती है। देशभर में बायोटेक्नोलॉजी की पढ़ाई बहुत से कॉलेजों एवं विश्वविद्यालयों में हो रही है।
  • BSc career options की बात करें तो निश्चित रूप से बायोटेक्नोलॉजी आपके कॅरियर को एक नया आयाम दे सकता है।
  1. पत्रकारिता | Journalism

  • Top 7 Bachelor’s Subjects में जर्नलिज्म को भी जरूर हम शामिल करेंगे, क्योंकि वर्तमान समय में इस कोर्स की मांग बहुत ही तेजी से बढ़ी है। मीडिया हमारे समाज और देश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। मीडिया के क्षेत्र में तेजी से प्रगति देखने के लिए मिल रही है।
  • नए-नए अखबार और नए-नए चैनल लगातार सामने आ रहे हैं। इस वजह से इस क्षेत्र में रोजगार की संभावनाएं भी बढ़ती जा रही हैं।
  • सबसे बड़ी बात है कि इस क्षेत्र में न केवल ग्लैमर है, बल्कि अच्छे खासे-पैसे भी मिलते हैं। इसके अलावा नाम भी कमाने का मौका मिलता है।
  • इसलिए यदि आपमें अच्छा लिखने, अच्छा बोलने और अच्छा विश्लेषण करने की क्षमता है, तो आप ग्रेजुएशन की पढ़ाई पत्रकारिता विषय को लेकर भी कर सकते हैं। इसके लिए हमारे देश में आईआईएमसी, नई दिल्ली, माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय, भोपाल और बेंगलुरु विश्वविद्यालय जैसे कई दिग्गज संस्थान मौजूद हैं।
  1. फैशन डिजाइनिंग | Fashion Designing

  • फैशन डिजाइनिंग सब्जेक्ट को लेकर भी ग्रेजुएशन की पढ़ाई की जा सकती है। वर्तमान समय में फैशन डिजाइनिंग सबसे आकर्षक क्षेत्रों में से एक है, जिसमें कॅरियर बनाने की असीम संभावनाएं मौजूद हैं।
  • आज की दुनिया ग्लैमर के पीछे भाग रही है। फैशन डिजाइनिंग कोर्स न केवल आपको ग्लैमर की दुनिया से जुड़ने का मौका देता है, बल्कि इसको कर लेने के बाद आपको जो नौकरी मिलती है, उसमें आप अच्छे-खासे पैसे भी कमा सकते हैं। इसके अलावा एक फैशन डिजाइनर के रूप में आप खूब नाम और शोहरत भी कमा सकते हैं।
  • फैशन डिजाइनर की प्राइवेट से लेकर सरकारी संस्थानों में भी मांग इसलिए बढ़ी है, क्योंकि अलग-अलग चीजों को वर्तमान समय की मांग की अनुसार डिजाइन करने की आवश्यकता पड़ती ही रहती है।
  • फैशन डिजाइनिंग का कॅरियर कितना आकर्षक हो सकता है, इसका अंदाजा आप बिहार के चर्चित फैशन डिज़ाइनर नीतीश चंद्रा को देखकर लगा सकते हैं, जिन्होंने कि बेंगलुरु विश्वविद्यालय से फैशन डिजाइनिंग की पढ़ाई करने के बाद राज्य में फैशन डिजाइनर के तौर पर खुद को एक सेलिब्रिटी के रूप में स्थापित कर लिया है।
  • अपनी कलात्मकता, अपनी प्रतिभा और अपनी मेहनत के दम पर फैशन डिजाइनिंग विषय से बैचलर की डिग्री हासिल कर लेने के बाद आप अपने लिए निश्चित तौर पर एक सुनहरा कॅरियर बना सकते हैं।
  1. होटल मैनेजमेंट | Hotel Management

  • प्लस टू या इंटर की पढ़ाई कर लेने के बाद यदि आप इस बात को लेकर पशोपेश में हैं कि आपको बैचलर की डिग्री किस विषय से लेनी चाहिए, तो हम आपको बता दें कि होटल मैनेजमेंट की भी पढ़ाई करना आपके लिए फायदे का सौदा साबित हो सकता है।
  • वर्तमान समय में होटल मैनेजमेंट कोर्स की मांग इसलिए भी बढ़ी है, क्योंकि इस क्षेत्र में बेहतर कॅरियर बनाने के बहुत से विकल्प मौजूद हैं।
  • होटल मैनेजमेंट की पढ़ाई करने के बाद बड़े-बड़े होटलों में आपको अच्छे पदों पर काम करने का अवसर मिल सकता है। इसके अलावा आप चाहें तो आप अपना खुद का होटल या रेस्टोरेंट भी शुरू करके इससे अच्छा-खासा मुनाफा कमा सकते हैं।
  1. बिजनेस मैनेजमेंट | Business Management

  • केंद्र सरकार की ओर से स्टार्टअप प्रोजेक्ट को काफी प्रोत्साहित किया जा रहा है। वर्तमान समय में युवा बिजनेस के क्षेत्र में भी हाथ आजमा रहे हैं।
  • ऐसे में अब जब बिजनेस में प्रगति की भरपूर संभावनाएं मौजूद हैं, तो आप इंटर के बाद बिजनेस मैनेजमेंट विषय की भी पढ़ाई बैचलर की डिग्री लेने के दौरान कर सकते हैं।
  • बैचलर ऑफ बिजनेस मैनेजमेंट एक ऐसा कोर्स है, जिसे करने के दौरान आपको व्यवसाय से जुड़ी कई महत्वपूर्ण चीजों की जानकारी मिलती है।
  • इसे कर लेने के बाद न सिर्फ आप अपना खुद का बिजनेस खड़ा कर सकते हैं, बल्कि किसी कंपनी में भी आप बिजनेस मैनेजर के तौर पर अच्छी सैलरी पर नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।
  • इसके बाद आप चाहें तो एमबीए भी कर सकते हैं।
  1. फिजियोथेरेपी | Physiotherapy

  • मेडिकल साइंस के क्षेत्र में बैचलर ऑफ फिजियोथेरेपी एक बहुत ही महत्वपूर्ण कोर्स है। इस विषय की पढ़ाई करने के दौरान आप मालिश, व्यायाम एवं अन्य तरीकों से शरीर की बीमारियों को दूर करना सीखते हैं।
  • फिजियोथेरेपी कोर्स की मांग भी लगातार बढ़ती जा रही है, क्योंकि आज मेडिकल के क्षेत्र में इसकी बड़ी आवश्यकता पड़ रही है।
  • फिजियोथेरेपी की पढ़ाई करने के बाद की नौकरी बहुत ही चुनौतीपूर्ण होती है, क्योंकि इसमें लंबे समय तक काम करना पड़ता है। साथ ही इस दौरान काफी धैर्य भी रखना पड़ता है, क्योंकि मरीजों के ठीक होने में वक्त लगता है।
  • फिर भी फिजियोथेरेपिस्ट के रूप में कॅरियर बनाने से न केवल आपको अंदर से सुकून मिलता है, बल्कि इस क्षेत्र में आपको अच्छी-खासी सैलरी भी मिल जाती है।
  1.  जेनेटिक्स | Genetics

  • जो courses after BSc बेहद लोकप्रिय होते जा रहे हैं, उनमें से एक एमएससी जेनेटिक्स भी है। हालांकि एमएससी जेनेटिक्स करने से पहले आपको बीएससी जेनेटिक्स की पढ़ाई करनी पड़ती है।
  • जेनेटिक्स विषय की मांग वर्तमान समय में इसलिए भी बढ़ी है, क्योंकि अलग-अलग प्रकार की बीमारियों के अध्ययन के दौरान जेनेटिक्स की भूमिका बहुत ही अहम बन गई है।
  • जेनेटिक्स की पढ़ाई करने के दौरान स्टूडेंट्स जींस एवं क्रोमोजोम्स आदि के बारे में विस्तार से पढ़ते हैं। इस विषय की पढ़ाई कर लेने वाले स्टूडेंट्स के लिए केवल अपने देश में ही नहीं, बल्कि विदेशों में भी अच्छे कॅरियर बनाने के बहुत से अवसर मौजूद हैं।
  • जेनेटिक्स की पढ़ाई करने के बाद रिसर्च का भी हिस्सा बनकर नाम और शोहरत कमाए जा सकते हैं।

चलते-चलते

Career options after BSc के अलावा आपने इस लेख में बैचलर की डिग्री हासिल करने के दौरान पढ़े जाने वाले सबसे लोकप्रिय और मांग वाले विषयों के बारे में जानकारी हासिल की है। अपनी रुचि के अनुसार आप विषय का चुनाव कर सकते हैं और उसकी पढ़ाई करके अपने लिए सुनहरे कॅरियर के दरवाजे खोल सकते हैं।

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.