GATE २०१९ के लिए बढ़ी आवेदन की अंतिम तारीख, जानें क्या रहेगा परीक्षा का पैटर्न

1300
GATE 2019

अगर आप ने भी अब तक ग्रेजुएट एप्टीट्यूट टेस्ट इन इंजीनियरिंग (GATE) २०१९ की परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन नहीं किया है, तो जल्दी करें। क्योंकि ५०० रुपए लेट फीस के साथ GATE २०१९ की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया फिर से शुरू की गई है। जिसकी आखिरी तारीख १ अक्टूबर २०१८ है। जी हां, ये मौका उन उम्मीदवारों को दिया गया है, जिन्होंने २१ सितंबर २०१८ की आवेदन की तारीख तक ऑनलाइन आवेदन नहीं करे थे। ऐसे में चलिए जानते हैं गेट २०१९ से जुड़ी सभी महत्वपूर्ष जानकारियां।

महत्वपूर्ण तारीखें

लेट फीस के साथ ऑनलाइन आवेदन जमा करने के लिए बढ़ाई गई आखिरी तारीख– १ अक्टूबर २०१८

परीक्षा के लिए चुने शहर में बदलाव का अनुरोध करने के लिए आखिरी तारीख (अतिरिक्त शुल्क लागू होगा)- १६  नवंबर २०१८

मॉक टेस्ट जारी होने की तारीख– नवंबर का तीसरा हफ्ता

प्रवेश पत्र के निकालने की तारीख– ४ जनवरी २०१८

परीक्षा की तारीख– २,३,९,१० फरवरी २०१९

परिणाम की घोषणा– १६ मार्च २०१९

स्कोर कार्ड आने की तारीख– २० मार्च से ३१ मई २०१९

काउंसलिंग शुरू होने ती तारीख– अप्रैल २०१९ के पहले हफ्ते से

 

आयु सीमा

  • गेट २०१९ के लिए कोई भी आयु सीमा तय नहीं की गई है।

शैक्षणिक योग्यता

  • गेट २०१९ की परीक्षा में बैठने के लिए उम्मीदवार का BE, B.Tech, B.Pharmacy, B.Arch, B.Sc (रिसर्च), BS, MA, M.Sc, MCA, Int M.Sc या Int BSMS में से किसी एक विषय से स्नातक होना जरूरी है।
  • अगर उम्मीदवार के पास इनमें से कोई योग्यता नहीं है, तो उम्मीदवार कम से Int ME, M.Tech (post B.Sc) या १०+२ के बाद डुअल डिग्री हो।

GATE २०१९ से जुड़ी जानकारियों के बारे में जानने के लिए आप नोटिफिकेशन लिंक पर जाएं- https://drive.google.com/file/d/1qPrYUzNS2ujf6sg6yX1MAc2EcJqKhpZM/view

आधिकारिक वेबसाइटwww.gate.iitm.ac.in

परीक्षा पैटर्न

  • GATE २०१९ की परीक्षा २४ पेपर्स के लिए ऑनलाइन मोड पर होगी। स्टूडेंट्स किसी भी एक पेपर के लिए बैठ सकते हैं।
  • परीक्षा दो पाली में ली जाएगी। एक सुबह ९ बजे से १२ बजे और दूसरी दोपहर २ बजे से शाम ५ बजे तक होगी।
  • GATE २०१९ परीक्षा के लिए ३ घंटे का समय दिया जाएगा।
  • इसमें १०० अंकों के ६५ सवाल होंगे।
  • परीक्षा में दो तरह के सवाल पूछे जाएंगे। एक मल्टीपल चॉइस और दूसरे न्यूमैरिकल आंसर।
  • मल्टीपल चॉइस वाले सवालों १ या २ नंबर मिलेंगे।
  • १ नंबर के सवाल पर नेगेटिव मार्किंग में १/३ नंबर कटेगा और २ नंबर का सवाल गलत होने पर २/३ नंबर कटेगा।
  • वहीं न्यूमैरिकल आंसर में १ या २ नंबर मिलेंगे लेकिन नेगेटिव मार्किंग नहीं होगी।

निष्कर्ष

इस बार ग्रेजुएट एप्टीट्यूट टेस्ट इन इंजीनियरिंग यानी गेट २०१९ की परीक्षा IIT मद्रास करवा रहा है। गेट नेशनल लेवल की परीक्षा है। इससे छात्रों को इंजीनियरिंग, टेक्नोलॉजी, आर्किटेक्चर और साइंस की अन्य विधाओं में इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ साइंस (IISc) और IITs संस्थानों में सीधे इंजीनियरिंग के मास्टर्स डिग्री में या डोक्टोरल प्रोग्राम्स में दाखिला मिलता है। कुछ पब्लिक सेक्टर कंपनियां जैसे कि BHEL, GAIL, HAL, IOCL, ONGC  आदि कुछ पदों पर नौकरी देने के लिए गेट के अंकों को आधार मानती हैं। आपको बता दें कि इस साल गेट २०१८ की परीक्षा का आयोजन आईआईटी गुवाहाटी ने किया था।

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.