Axiom Mission 1 (Ax-1) – First Private Astronaut Mission to Space Station

255
Axiom Mission 1

दोस्तों, हाल ही में, अमेरिकी स्पेस एजेंसी NASA और Axiom space नामक एक निजी अंतरिक्ष कंपनी के बीच एक करार हुआ, जिसके अनुसार NASA, Axiom space के 4 अंतरिक्ष यात्रियों को International Space Station (ISS) में भेजेगा। जिसे मिशन एक्स-1 (Ax-1) के नाम से जाना जायेगा। ऐसा पहली बार हो रहा है , जब किसी निजी कम्पनी के अंतरिक्ष यात्रियों को स्पेस में भेजा जायेगा। आज के इस लेख में हम आपको इस मिशन एक्स-1 (Ax-1) से जुड़ी हर रोचक जानकारी आपको देने जा रहें हैं और साथ में स्पेस से जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण जानकारी भी हम आप तक पहुचायेंगे। तो दोस्तों बने रहिये हमारे आज के लेख में।

इस लेख में आपके लिए हैं –

  • मिशन एक्स-1 (Ax-1)
  • कौन हैं 4 अंतरिक्ष यात्री ?
  • Axiom Space – एक परिचय
  • बाहरी अंतरिक्ष का बादशाह- NASA
  • एलन मस्क का सपना -SpaceX

Axiom Mission 1 (Ax-1)

• NASA और Axiom Space के बीच जो समझौता हुआ है, उसके अनुसार Axiom के अंतरिक्ष यात्रियों को स्पेस में भेजे जाने वाले मिशन का नाम ” मिशन एक्स-1 (Ax-1)” रखा गया है।

• ” मिशन एक्स-1 (Ax-1)” में चार अंतरिक्ष यात्रियों को भेजा जाना है , जिसमे से तीन अंतरिक्षयात्री Axiom Space के कार्यकर्त्ता हैं तथा एक व्यक्ति अंतरिक्ष सम्बन्धी गतिविधयों का एक्सपर्ट होगा।

• ” मिशन एक्स-1 (Ax-1)” को जनवरी 2022 के आस-पास लांच किये जाने की योजना है। यह यात्रा Lower Earth Orbital में स्थित ISS तक होगी।

• ” मिशन एक्स-1 (Ax-1)” का कार्यावधि 8 दिनों की होगी अतः ये अंतरिक्षयात्री International Space Station (ISS) में 8 दिन बिताएंगे।

• ” मिशन एक्स-1 (Ax-1)” का उद्देश्य जमीन पर अंतरिक्ष स्टेशन के साथ समन्वय करने के लिए गतिविधियों का संचालन करना है।

• यात्रा के लिए Axiom चालक दल की आपूर्ति, कक्षा संसाधन, अंतरिक्ष के लिए कार्गो वितरण और भंडारण इत्यादि की व्यवस्था NASA के द्वारा की जाएगी।

• ” मिशन एक्स-1 (Ax-1)” की अगुवाई कमांडर माइकल लोपेज अलीगरिया द्वारा की जाएगी। अलीगरिया स्पेस सर्किल्स के जानकर माने जाते हैं।

• ज्ञात हो ऐसा बिलकुल भी नहीं है, जब किसी निजी अंतरिक्ष यात्री द्वारा अंतरिक्ष यात्रा की जा रही हो, इससे पहले भी रूस अपनी अंतरिक्ष एजेंसी के माध्यम से अपने सुयोज यान के जरिये लोगो को अंतरिक्ष में ले जा चुका है।

• ” मिशन एक्स-1 (Ax-1)” एक एक पूर्णतः निजी अंतरिक्ष कंपनी का मिशन है, ऐसा पहली बार हो रहा है जब NASA किसी निजी कंपनी को यात्रा की अनुमति प्रदान कर रहा है तथा उसके साथ महत्वपूर्ण संसाधन एवं टेक्नोलॉजी साझा कर रहा है।

• ” मिशन एक्स-1 (Ax-1)” मिशन के लिए प्रत्येक अंतरिक्ष यात्री 5 करोड़ डॉलर की मोटी रकम Axiom Space को चुका रहा है।

• ” मिशन एक्स-1 (Ax-1)” में SpaceX कंपनी के फाल्कन-9 रॉकेट का इस्तेमाल किया जायेगा तथा SpaceX कंपनी के “स्पेसएक्स ड्रैगन 2” अंतरिक्षयान का उपयोग किया जायेगा।

• इस मिशन को पूर्णतया निजी मिशन इसलिए भी कहा जा रहा है , क्योकि इसे न केवल आयोजित एक निजी कंपनी Axiom Space द्वारा किया जा रहा है बल्कि इसमें प्रयोग होने राकेट तथा अंतरिक्षयान भी निजी कंपनी SpaceX का उपयोग किया जा रहा है।

• इस मिशन के लिए तीनों यात्रियों को एक मेडिकल टेस्ट को पास करना होगा और इन्हें 15 हफ्तों के कठिन अंतरिक्ष परिवेश के प्रशिक्षण से गुजरना होगा।

कौन हैं 4 अंतरिक्ष यात्री ?

दोस्तों। आप के अंदर ये जानने की उत्सुकता होगी आखिर कौन हैं? ये अंतरिक्षयात्री जो करोड़ों डॉलर खर्च करके अंतरिक्ष में जा रहें हैं। तो चलिए इन यात्रियों से आपकी मुलाकात कराते हैं।

मिशन कमांडर ‘माइकल लोपेज-अलजीरिय’’

• “मिशन एक्स-1 (Ax-1)” के पहले यात्री है मिशन कमांडर माइकल लोपेज-अलजीरिया, ये इससे पहले चार बार अंतरिक्ष यात्रा कर चुके हैं।

• मिशन कमांडर माइकल लोपेज-अलजीरिया ने चार अंतरिक्ष यात्राओं के दौरान 257 दिन अंतरिक्ष में गुजरेहैं। उनके पास 10 घंटे की “स्पेसवॉक्स”(Spacewalk) का अनुभव भी है।

• माइकल लोपेज-अलजीरिया लगभग 20 सालो तक NASA की “एस्ट्रोनॉड ” विंग का हिस्सा रह चुके हैं तथा ये Axiom Space से साल 2017 में जुड़े थे।

मिशन पायलट ‘लैरी कोनर’

• 70 वर्षीय लैरी कोनर दूसरे सबसे उम्रदराज व्यक्ति होंगे जो अंतरिक्ष यात्रा करेंगे। इससे पहले जॉन गलेन साल 1988 में 77 वर्ष की आयु में अंतरिक्ष यात्रा कर चुके हैं।

• लैरी कोनर अमेरिका में एक रियल स्टेट इन्वेस्टर और तकनीकी आंत्रपेन्योर हैं। इसके साथ ही लैरी कोनर 3 अरब की संपत्ति वाली ओहियो की एक रियल स्टेट कंपनी कोनर ग्रुप के सीईओ भी हैं।

मिशन स्पेशलिस्ट ‘मार्क पैथ’

• मार्क पैथी एक कनाडाई नागरिक हैं , और मावरिक कॉर्प के सीईओ और चेयरमैन हैं। मावरिक कॉर्प कनाडा की एक निजी निवेश और वित्तीय कंपनी है।

• पैथी मांट्रियल की म्यूजिक कंपनी स्टिंजरी ग्रुप के बोर्ड के चेयरमैन भी हैं। पैथी एक समाजसेवी हैं इनका अपना “पैथी फैमिली फाउंडेशन” है।

मिशन स्पेशलिस्ट ‘ऐतान स्टीबी’

• पूर्व में एक फाइटर पायलट रह चुके ऐतान स्टीबी , एक इज़रायली नागरिक हैं।

• ऐतान स्टीबी वाइटल कैपिटल फंड के संस्थापक और स्टीबी बेगुरियोन यूनिवर्सिटी की सेंटर ऑफ अफ्रीकन स्टडीज के संस्थापक और वर्तमान में उसके बोर्ड के सदस्य हैं।

• ऐतान स्टीबी शिक्षा, कला और संस्कृति के क्षेत्र में काम कर रहे बहुत से NGOs के बोर्ड का हिस्सा भी हैं।

Axiom Space – एक परिचय

• Axiom Space, Inc. एक प्राइवेट अंतरिक्ष इंफ्रास्ट्रक्चर डेवेलपर कंपनी है। इसकी स्थापना साल 2016 में माइकल टी सुफ्रेडिनी और काम गॉफ़रियन ने की थी।

• Axiom Space, Inc. के वर्तमान सीईओ माइकल टी सुफ्रेडिनी हैं तथा कंपनी का मुख्यालय हॉस्टोन, टेक्सास USA में स्थित है।

• Axiom Space, NASA के साथ मिलकर पहले कमर्शियल अंतरिक्ष मिशन की योजना बना रही है।

• सीईओ माइकल टी सुफ्रेडिनी इससे पहले 2005 -2015 तक एक प्रोग्राम मैनेजर के तौर पर NASA के साथ काम कर चुके हैं।

• Axiom Space, Inc. का उद्देश्य अंतरिक्षयात्राओं में कमर्शियल यात्राओं की भागीदारी को बढ़ाना है।

बाहरी अंतरिक्ष का बादशाह- NASA

• नैशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA), एक अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी है। इसका मुख्यालय वाशिंगटन डी.सी.में है।

• NASA की स्थापना जुलाई 29, 1958 में की गयी थी। NASA के संस्थापक ड्वाइट डेविड आइज़नहावर थे।

• NASA अमेरिका के सार्वजनिक अंतरिक्ष कार्यक्रमों व एरोनॉटिक्स व एरोस्पेस गतिविधियों के लिए जिम्मेदार है।• NASA का ध्येय वाक्य “भविष्य में अंतरिक्ष अन्वेषण, वैज्ञानिक खोज और एरोनॉटिक्स संशोधन को बढ़ाना” है।

• NASA का लक्ष्य हमेशा से यही रहा है कि वो ब्रह्मांड और पृथ्वी की वैज्ञानिक समझ को बढ़ाए और नए-नए अंतरिक्ष टेक्नोलॉजी का आविष्कार करें।

• NASA का गठन “दि नैशनल एडवाइजरी कमेटी फॉर एयरोनॉटिक्स” के स्थान पर किया गया था। वर्तमान में NASA दुनिया की सबसे आधुनिक अंतरिक्ष एजेंसी में से एक है।

• मानव को चाँद पर भेजने वाली पहली अंतरिक्ष एजेंसी NASA ही है। NASA ने “मिशन अपोलो” के जरिये अब तक 12 लोगो को चाँद पर भेज चुका है।

• 24 अप्रैल 1990 को नासा ने अंतरिक्ष में हबल टेलीस्कोप भेजा था। जो दूर अंतरिक्ष में तारो में हो रहे परिवर्तन की फोटो हमे भेजता रहता है।

• NASA विश्व की अन्य स्पेस एजेंसियों के साथ मिलकर भी कार्य करती है, जिनमे यूरोपियन अंतरिक्ष एजेंसी, ISRO (इसरो) आदि प्रमुख है।

• NASA अपने द्वारा प्राप्त की गई सभी जानकारियों को लोगों के साथ साझा करती है, ताकि दुनियाभर में लोगों की जिंदगी को बेहतर किया जा सके।

• NASA के अभी तक के पॉपुलर प्रोजेक्ट्स की बात करे तो वे इस प्रकार से हैं -Project Mercury, Gemini प्रोग्राम , Apollo प्रोग्राम ,Skylab , Pioneer, Apollo Soyuz Test प्रोजेक्ट, Viking, Vyogar, Hubble तथा Spitzer।

• साल 2011 के बाद से NASA ने अंतरिक्ष उड़ान के दौरान खुद के रॉकेट का प्रयोग करना बंद कर दिया है। अब NASA Space -x या अन्य देशो की मदद से किसी भी अंतरिक्ष मिशन को अंजाम देता है।

एलन मस्क का सपना -SpaceX

• स्पेस एक्सप्लोरेशन टेक्नोलॉजीज कार्पोरेशन, (SpaceX), यह एक प्राइवेट अमेरिकी एयरोस्पेस और अन्तरिक्ष परिवहन सेवा प्रदाता कम्पनी है।

• SpaceX की स्थापना मई 6, 2002 को एलन मस्क द्वारा की गयी है। इसका मुख्यालय हैथॉर्न, कैलिफ़ोर्निया ,USA में स्थित है।

• SpaceX ने फाल्कन लॉन्च वाहन परिवार और ड्रैगन अन्तरिक्ष यान परिवार विकसित किया है। हाल ही में, SpaceX के ड्रैगन कैप्सूल से अंतरिक्ष यात्रियों ने सफलतापूर्वक वापसी की है।

• SpaceX पहली ऐसी कंपनी है जिसने एक बार प्रयोग किये गए रॉकेट को फिर से उपयोग करने योग्य बना दिया है। • SpaceX के द्वारा अंतरिक्ष में छोड़ा गया रॉकेट फिर से धरती में आकर पुनः उपयोग योग्य रहता है।

• एलन मस्क वर्तमान समय के “आयरन मैन” हैं, उनकी क्रांतिकारी सोच ने अंतरिक्ष में मानव की सोच को विस्तारित कर दिया है। एलन मस्क ऐसे बहुत से प्रोजेक्ट्स में काम कर रहें है , जो भविष्य के प्रोजेक्ट्स है।

चलते चलते

दोस्तों साल 2024 में ISS का करार खत्म होने वाला है, रूस इस प्रोजेक्ट से खुद को अलग करने की घोषणा पहले ही कर चुका है। रूस खुद के स्पेस स्टेशन पर कार्य कर रहा है। इसरो भी “मिशन गगनयान” के बाद खुद के स्पेस स्टेशन बनाने की योजना पर कार्य कर रहा है। 2024 के बाद NASA, ISS को कमर्शियल अंतरिक्ष मिशन के लिए ओपन कर देगा। अगर NASA -Axiom का यह निजी मिशन सफल रहता है, तो यह मिशन अन्य कमर्शियल मिशनों के लिए द्वार खोल देगा। अमेज़न के संस्थापक “जॉस बेजोस” अपनी अंतरिक्ष कंपनी Blue Origin” का तेजी से विस्तार कर रहें हैं। तो निकट भविष्य में अंतरिक्ष पर्यटन सुलभ और आम होने की सम्भावना प्रबल होती जा रही है।

Content Protection by DMCA.com

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.