Board Exam के लिए ये हैं 5 Quick Revision Tips

1826
Board exam hall tips

बोर्ड एग्जाम्स के शुरू होने में अब ज्यादा वक्त नहीं रह गया है। सभी स्टूडेंट्स जी-जान से बोर्ड एग्जाम की तैयारी में जुटे हुए हैं। बाकी बोर्ड की तरह सीबीएसई बोर्ड एग्जाम का भी प्रिपरेशन स्टूडेंट्स कर रहे हैं। अब जब परीक्षा में ज्यादा वक्त नहीं रह गया है तो ऐसे में अच्छी तरह से रिवीजन करना जरूरी है, ताकि जो चीजें आपने पढ़ी हैं, वे आपके दिमाग में अच्छी तरह से स्टोर हो जाएं। इसलिए यहां हम आपको बोर्ड एग्जाम के लिए रिवीजन के टिप्स उपलब्ध करा रहे हैं। बोर्ड एग्जाम के प्रिपरेशन में ये टिप्स आपके बहुत काम आने वाले हैं।

1. Revision Time Table बनाकर उसे फॉलो करें

बोर्ड एग्जाम के प्रिपरेशन के टिप्स में से सबसे महत्वपूर्ण टाइम टेबल बनाना ही है। जी हां, आपको टाइम टेबल बनाकर रिवीजन करने की आदत डाल लेनी चाहिए। टाइम टेबल के हिसाब से आपको रिवीजन कर के उस टारगेट को प्राप्त करने की कोशिश करनी चाहिए, जो आपने उस दिन या उस हफ्ते के लिए सेट किया है। टाइम टेबल बना लेने से आपके दिमाग में यह पूरी तरह से क्लियर रहता है कि आपको किस चीज के रिवीजन के लिए कितना वक्त देना है। बस टाइम टेबल बनाते वक्त इस चीज का ध्यान रखें कि जो चीजें महत्वपूर्ण हैं, उन्हें आप इसमें अधिक वक्त दें और जो चीजें कम महत्व की हैं, उन्हें इसकी तुलना में कम समय आवंटित करें। इस बात का ध्यान जरूर रखें कि जो टाइम टेबल आपने तैयार कर लिया है, आप पूरी तरह से उस टाइम टेबल के अनुसार ही अपना रिवीजन करें। यदि टाइम टेबल बनाकर और इससे चिपके रहकर आप अपने रिवीजन को आगे बढ़ाते हैं तो इससे एग्जाम को लेकर आपके मन में व्याप्त भय पूरी तरह से मिट जाएगा।

2. अपने Study Target को अपनी पहुंच में ही रखें

बोर्ड एग्जाम के रिवीजन टिप्स में से एक और महत्वपूर्ण चीज ही यह भी है कि जो टाइम टेबल आपने रिवीजन के लिए तैयार किया है, उसमें आप अपने विषय के अनुसार समय को उसी तरह से निर्धारित करें जितनी में कि आप किसी टॉपिक को अच्छी तरह से कवर कर सकते हैं। टाइम टेबल बनाते समय इस बात का ध्यान रखना बहुत ही जरूरी है कि आप जरूरत से ज्यादा चीजों को कम समय में निपटाने की कोशिश ना करें। ध्यान रखें कि यह रिवीजन आपके लिए केवल एक औपचारिकता नहीं है कि आप ने हर विषय या हर टॉपिक के लिए एक टाइम टेबल निर्धारित कर लिया और जब आपने देखा कि इतने समय में यह पूरा नहीं हो पा रहा है तो आपने तेजी से आगे बढ़ना शुरू कर दिया। ऐसा करने से आपको केवल नुकसान ही होगा, क्योंकि जल्दबाजी में रिवीजन करने से कोई लाभ नहीं मिलने वाला। इसलिए विषय और टॉपिक के महत्व के अनुसार आप सबसे पहले उसकी कैटेगरी तैयार कर लें और उसके अनुसार ही आप टाइम टेबल में उसके लिए समय निर्धारित करके रिवीजन करें।

3. नियमित अंतराल पर दोबारा याद करते रहें और उसका सार पढ़ते रहें

सीबीएसई बोर्ड एग्जाम का प्रिपरेशन या फिर किसी भी बोर्ड एग्जाम का प्रिपरेशन यदि आप कर रहे हैं तो इस बात का ध्यान जरूर रखें कि जब आप किसी चीज को पढ़ रहे हैं तो उसे पढ़ने के बाद थोड़ा ब्रेक भी लिया करें। इस दौरान आप उन चीजों को याद करने की कोशिश करें जो चीजें आपने अभी पढ़ी हैं। संभव हो तो पढ़ी गई चीजों का सार आप संक्षिप्त में अपनी भाषा में लिखने की भी कोशिश करें। जो चीजें आपने पढ़ी हैं, यदि आप उन्हें याद करने की कोशिश करते हैं तो वे चीजें आपके दिमाग में पूरी तरह से बैठ जाएंगी। उन्हें बाद में आप आसानी से याद कर सकते हैं। साथ ही जब आप पढ़ी गई चीजों को अपनी भाषा में लिख डालते हैं तो इससे वह चीज आपके दिमाग में अच्छी तरह से स्टोर हो जाती है। इसके भूलने की आशंका इसके बाद बहुत कम रह जाती है।

4. ज्यादा लिखने के बजाय Drawings का इस्तेमाल करें

उत्तर रिवीजन के दौरान केवल चीजों को पढ़ने की कोशिश ना करें। यह प्रयास करें कि आप ड्राइंग और डायग्राम बनाकर उस चीज को याद करें। जो आपने पढ़ा है, जब आप उसका डायग्राम बनाते हैं या ड्राइंग बनाते हैं तो इससे चीजें आपको अच्छी तरह से याद रह जाती हैं, क्योंकि किसी ड्राइंग या फिर किसी डायग्राम की मेमोरी आपके दिमाग में ज्यादा समय तक स्टोर रहती है। यही नहीं, ड्रॉइंग या डायग्राम बनाकर किसी चीज को पढ़ने से आपका दिमाग उस चीज को ज्यादा अच्छी तरह से समझ पाता है और उसके प्रति आपकी समझ इतनी परिपक्व हो जाती है कि एग्जाम के दौरान आप आसानी से उन्हें रिकॉल कर लेते हैं।

5. एक ऐसा दोस्त ढूंढ लें, जिसे आप टॉपिक्स समझा सकें

जो चीजें आपने पढ़ी हैं, यदि उन्हें अपने दोस्त को आप एक्सप्लेन करते हैं तो ये चीजें आपको और अच्छी तरह से याद हो जाती हैं। रिवीजन के दौरान अपने दोस्तों को किसी विषय या टॉपिक को समझाते वक्त जो चीजें आपके लिए भी क्लियर नहीं रही हैं, वे डिस्कशन करने से क्लियर हो जाती हैं। इससे आपके दिमाग में किसी भी तरह का डाउट अपने सब्जेक्ट या टॉपिक को लेकर नहीं रह जाता है।

निष्कर्ष

सभी स्टूडेंट्स की क्षमता अलग-अलग होती है, मगर फिर भी यहां बताए गए बोर्ड एग्जाम के रिवीजन टिप्स को अपनाकर आप बोर्ड एग्जाम का प्रिपरेशन अच्छी तरह से कर सकते हैं।

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.