IBPS 2019 में पूछे जा सकते हैं ये 10 MoUs

1382
Important MoUs for IBPS 2019

बैंकिंग एवं अन्य परीक्षाओं में समझौता ज्ञापन यानी कि memorandum of understanding (MoU) से जुड़े सवाल पूछे ही जाते हैं। यहां हम आपको IBPS 2019 की दृष्टि से महत्वपूर्ण 10 MoUs के बारे में जानकारी दे रहे हैं, जो इसमें पूछे जा सकते हैं। इसे पढ़कर आप अपनी तैयारी को धार दे सकते हैं।

BIS एवं IIT Bombay के बीच MoU

भारतीय मानक ब्यूरो (BIS) और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) बॉम्बे के बीच बीते 16 अप्रैल को एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए, जिसका उद्देश्य मानकीकरण (standardization) और अनुरूपता मूल्यांकन (conformity assessment) के क्षेत्र में आपसी सहयोग को बढ़ाना था। इस MoU के तहत मानकीकरण को और प्रासंगिक बनाने के लिए IIT बॉम्बे की ओर से रिसर्च एंड डेवलपमेंट प्रोजेक्ट के लिए बुनियादी ढांचा उपलब्ध कराया जाएगा। वहीं, BIS की ओर से IIT बॉम्बे को इसके लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

संचार के क्षेत्र में भारत एवं कंबोडिया के बीच MoU

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने भारत और कंबोडिया के बीच संचार (communication) के क्षेत्र में हुए एक समझौता ज्ञापन को अपनी मंजूरी दे दी है। इस MoU पर बीते मार्च में हस्ताक्षर किए गए थे। भारत और कंबोडिया के बीच जो यह MoU साइन किया गया है, इसका उद्देश्य द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत बनाने के साथ-साथ भारत और कंबोडिया में संचार के क्षेत्र में आपसी सहयोग से प्रगति को बढ़ावा देना है।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) व HDFC बैंक के बीच MoU

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज की ओर से HDFC बैंक के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए हैं, जिसका उद्देश्य BSE के स्टार्टअप प्लेटफार्म को और मजबूती प्रदान करना है। इस MoU के जरिए BSE के स्टार्टअप प्लेटफार्म में अपने स्टार्टअप की लिस्टिंग करने के लिए युवाओं के बीच जागरूकता फैलाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। BSE की ओर से स्टार्टअप प्लेटफार्म बीते 22 दिसंबर को लॉन्च किया गया था, जिसका लक्ष्य देश के युवा उद्यमियों को अपने स्टार्टअप के विकास के लिए इसमें लिस्टिंग करने के लिए प्रोत्साहित करना था।

बायोटेक्नोलाॅजी के क्षेत्र में भारत का ब्राजील के साथ MoU

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बीते मई में साइन किए गए भारत और ब्राज़ील के बीच उस समझौता ज्ञापन को अपनी मंजूरी दे दी है, जिसमें कि विज्ञान एवं तकनीकी के क्षेत्र में दोनों देशों के बीच कूटनीतिक संबंधों को मजबूती प्रदान करते हुए जैव प्रौद्योगिकी (biotechnology) के क्षेत्र में प्रशिक्षण और शोध गतिविधियों को प्रोत्साहित करना एवं मजबूती प्रदान करना है।

सौर ऊर्जा परियोजनाओं के लिए GAIL और BHEL के बीच MoU

सौर ऊर्जा परियोजनाओं के विकास में सहयोग के लिए गेल इंडिया लिमिटेड ने भारत हैवी इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (BHEL) के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। इस MoU का उद्देश्य है कि आपसी भागीदारी के माध्यम से वाणिज्यिक सौर परियोजनाओं को संयुक्त रूप से आगे बढ़ाया जाए।

कर एवं बैंकिंग मुद्दों पर सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए भारत एवं ब्रुनेई के बीच MoU

भारत और ब्रुनेई के बीच नई दिल्ली में जो इस MoU पर हस्ताक्षर किए गए हैं, इसका मुख्य उद्देश्य कर की चोरी और कर परिहार पर अंकुश लगाने के लिए करों को लेकर सूचनाओं को आपस में आदान-प्रदान करके एक दूसरे की सहायता करना है। दोनों देशों के बीच इस MoU के हो जाने से वैसी सूचनाओं का आदान-प्रदान हो पाएगा, जिसमें कर उद्देश्यों के लिए बैंकिंग और स्वामित्व की जानकारी शामिल होगी। इससे कर राजस्व दावों के संग्रह में दोनों एक-दूसरे को सहयोग भी कर पाएंगे।

ई-बाजार में उचित एवं प्रतिस्पर्धात्मक माहौल बनाने के लिए GIM व CCI के बीच MoU

सरकारी ई मार्केटप्लेस (GIM) और भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (CCI) के बीच बीते 6 फरवरी को एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए गए हैं, जिसका उद्देश्य प्रतिस्पर्धा के खिलाफ गलत परंपराओं की पहचान करने के लिए सार्वजनिक क्षेत्र में दोनों संस्थाओं की कुशलता को इस्तेमाल में लाना है। भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग जहां देश में प्रतिस्पर्धा को गलत तरीके से प्रभावित करने वाली गतिविधियों को रोकने का काम करती है, वहीं GIM वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के अंतर्गत राष्ट्रीय सार्वजनिक खरीद का मंच है।

साइबर सुरक्षा के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने को लेकर भारत का मोरक्को के साथ MoU

भारत और मोरक्को के बीच जो साइबर सुरक्षा के क्षेत्र में MoU पर हस्ताक्षर किए गए हैं, इसका मुख्य उद्देश्य सुरक्षा से संबंधित घटनाओं की पहचान करके उनका हल निकालने और उनकी रोकथाम करने में आपस में अनुभवों एवं ज्ञान का आदान-प्रदान करने के लिए नजदीकी सहयोग को प्रोत्साहित करना है।

भारतीय नोसेना और CSIR के बीच MoU

नौसेना में उन्नत तकनीकों वाली प्रणालियों का विकास करने के लिए भारतीय नौसेना ने वैज्ञानिक और औद्योगिक शोध परिषद यानी कि Council of Scientific and Industrial Research (CSIR) के साथ एक MoU पर हस्ताक्षर किया है। MoU के तहत CSIR की प्रयोगशालाएं अन्य उद्योगों और नौसेना के सहयोग से तकनीकों का विकास करने के लिए आपस में सहयोग करेंगे।

फूड प्रोसेसिंग सेक्टर की क्षमता बढ़ाने के लिए IGNOU एवं FICSI के बीच MoU

इस एमओयू के तहत IGNOU की ओर से फूड प्रोसेसिंग सेक्टर में कौशल विकास के लिए गतिविधियों का संचालन किया जाएगा। इसके तहत इग्नू शैक्षणिक एवं प्रशिक्षण कार्यक्रमों की रूपरेखा राष्ट्रीय व्यावसायिक मानकों (NOS) के अनुसार तैयार करेगा।

निष्कर्ष

ये सभी MoUs बेहद महत्वपूर्ण हैं। IBPS 2019 में इनके पूछे जाने की बड़ी संभावना है। बताएं, इन सभी MoUs में से कितने MoUs के बारे में आप पहले से ही जानते थे?

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.