Katalin Novák – हंगरी की पहली महिला राष्ट्रपति

738
Katalin Novák
PLAYING x OF y
Track Name
00:00

00:00


Katalin Novák कुछ दिनों पहले हंगरी की पहली महिला राष्ट्रपति चुन ली गई हैं और इस तरह से दुनिया के कुछ चुनिंदा महिला राष्ट्रपति में अब उनका नाम भी शामिल हो गया है।

मध्य यूरोपीय देश हंगरी ने पहली बार अपने लिए एक महिला राष्ट्रपति को चुना है। कैटलिन नोवाक हंगरी की पहली महिला राष्ट्रपति बनी हैं और वर्तमान परिस्थितियों में उनका राष्ट्रपति के रूप में चुना जाना इसलिए भी मायने रखता है, क्योंकि वे रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध की धुर विरोधी हैं। साथ ही Katalin Novák ने अपने साहसिक कदमों के लिए भी जानी जाती हैं। कैटलिन नोवाक आखिर हैं कौन और राष्ट्रपति बनने तक का उनका सफर कैसा रहा है, इसके बारे में हम आपको इस लेख में विस्तार से बता रहे हैं।

Hungary’s First Female President कैटलिन नोवाक का परिचय

इस दुनिया में female presidents की सूची में अपना नाम दर्ज कराने वालीं कैटलिन नोवाक का जन्म 6 सितंबर, 1977 को सेजेड में हुआ था। बचपन से ही राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मामलों में रुचि रखने वाली कैटलिन ने अपनी माध्यमिक शिक्षा वर्ष 1996 में Szeged के सगवरी एंड्रे सेकेंडरी स्कूल से पूरी की थी। इसके बाद उन्होंने कोरविनस यूनिवर्सिटी ऑफ बुडापेस्ट में अर्थशास्त्र की पढ़ाई की। इसके अलावा उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ सेजेड में कानून की भी पढ़ाई की। शिक्षा हासिल करने में कैटलिन कभी पीछे नहीं रहीं। उन्होंने विदेश जाकर पेरिस नेटेरे यूनिवर्सिटी में भी अतिरिक्त शिक्षा हासिल की।

Katalin Novák का कॅरियर

Hungary’s First Female President कैटलिन नोवाक अपने कॅरियर में लगातार नई ऊंचाइयों को छूती रही हैं। सबसे पहले तो विदेश मामलों के मंत्रालय में वर्ष 2001 में उन्हें सलाहकार की भूमिका मिली थी और इस तरीके से उनके राजनीतिक जीवन का आगाज हो गया। उन्होंने 2 वर्षों तक इस पद पर काम किया। इसके बाद वर्ष 2003 में उन्होंने इसे अलविदा कह दिया। हालांकि, इसके बाद भी नोवाक अपनी राजनीतिक जमीन तैयार करने में जुटी रहीं।

वर्ष 2010 में Katalin Novák की जिंदगी में एक और बड़ा मौका आया और इस बार विदेश मामलों के मंत्री की सलाहकार बनने का उन्हें अवसर मिल गया। उनकी मेहनत रंग लाई। सिर्फ दो साल के अंदर वर्ष 2012 में उन्हें हंगरी के मानव संसाधन मंत्री की जिम्मेवारी मिल गई। कैटलिन नोवाक का कॅरियर तेजी से आगे बढ़ रहा था। जब वर्ष 2014 के चुनाव हुए तो इसके बाद कैटलिन नोवाक परिवार और युवा राज्य सचिव भी नियुक्त कर दी गईं। नोवाक को अक्टूबर, 2020 में पारिवारिक मामलों की मंत्री बनने का अवसर प्राप्त हुआ था और दिसंबर 2021 तक वे इस पद पर बनी हुई थीं।
Katalin Novák वर्ष 2017 से 2021 तक फाइड्ज की उपाध्यक्ष भी रहीं। वे वर्ष 2018 से संसद की सदस्य भी रही हैं। कैटलिन नोवाक कितनी प्रतिभाशाली हैं, इसका अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि उन्हें न केवल हंगेरियन भाषा आती है, बल्कि अंग्रेजी, फ्रेंच और जर्मन भाषाओं पर भी उनकी जबर्दस्त पकड़ है।

ऐसे बनीं कैटलिन नोवाक Hungary की First Female President

Katalin Novák का Hungary की First Female President बनना भी ऐतिहासिक रहा है। उनका सीधा मुकाबला अर्थशास्त्री पीटर रोना से हुआ था। हंगरी की नेशनल असेंबली में 188 सदस्य हैं और इनमें से 137 मत नोवाक को हासिल हुए। उनके प्रतिद्वंद्वी पीटर रोना को सिर्फ 51 वोट पाकर ही संतोष करना पड़ा। कैटलिन नोवाक, जो कि 3 बच्चों की मां भी हैं और इस वक्त जिनकी उम्र 44 साल की है, फीडेक राजनीतिक दल से उनका रिश्ता है और हंगरी की राष्ट्रपति चुन लिए जाने के बाद वे न केवल देश की पहली महिला राष्ट्रपति बनी हैं, अपितु उन्हें हंगरी की सबसे युवा राष्ट्रपति बनने का गौरव भी हासिल हुआ है।

जिन पीटर रोना से कैटलिन नोवाक का राष्ट्रपति चुनाव में मुकाबला हुआ, वे ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर के तौर पर पढ़ाते हैं और अर्थशास्त्री के रूप में उनकी पहचान है। पीटर पूर्व की हंगरी की सरकारों की योजनाओं के बड़े आलोचक रहे हैं। वे कई बार कह चुके हैं कि हंगरी की आबादी का एक बड़ा हिस्सा गरीबी रेखा से नीचे की जिंदगी व्यतीत कर रहा है।

Katalin Novák के बारे में अतिरिक्त जानकारी

कैटलिन नोवाक की पहचान हंगरी में एक बड़े राष्ट्रवादी नेता के तौर पर रही है। हंगरी के वर्तमान राष्ट्रपति जानोस एडर का कार्यकाल समाप्त होने के उपरांत 10 मई को कैटलिन नोवाक हंगरी के राष्ट्रपति का कार्यभार संभाल लेंगी। रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे जंग का कैटलिन नोवाक जमकर विरोध कर चुकी हैं। साथ ही हंगरी में समलैंगिकों के खिलाफ जब कानून बनाए जा रहे थे, तो इसमें भी उन्होंने बड़ी ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। हंगरी में जो फीड्यूस पार्टी है, वह देश में ईसाई रूढ़िवादी एजेंडे को प्रोत्साहित करने के लिए जानी जाती है। यह हंगरी के प्रधानमंत्री क्विटर ओर्बन की पार्टी है। नोवाक को इसी सरकार में कई वर्षों तक पारिवारिक मामलों से जुड़े मंत्रालय की जिम्मेवारी संभालने का अवसर मिला है।

हंगरी में अप्रैल में आम चुनाव होने जा रहे हैं। ऐसे में यह माना जा रहा है कि हंगरी के प्रधानमंत्री क्विटर ओर्बन ने इसलिए नोवाक को राष्ट्रपति बनाने का कदम उठाया है, ताकि उन्हें महिला मतदाताओं का समर्थन मिल सके। हंगरी के वर्तमान राष्ट्रपति जानोस एडर दो बार हंगरी के राष्ट्रपति रह चुके हैं और नियमों के मुताबिक दोबारा उनका राष्ट्रपति चुनाव लड़ना मुमकिन नहीं था। हंगरी में राष्ट्रपति पूरी तरह से निष्पक्ष होता है और भारत की तरह ही उसकी जिम्मेदारियां भी औपचारिक ही होती हैं। हालांकि, हंगरी का राष्ट्रपति देश की एकता का प्रतिनिधित्व करता है। राष्ट्रपति के तौर पर कैटलिन नोवाक का कार्यकाल 5 वर्षों का रहेगा।

और अंत में

Katalin Novák के हंगरी की प्रथम महिला राष्ट्रपति बनने से केवल हंगरी में महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा नहीं मिला है, बल्कि इससे पूरी दुनिया में एक मजबूत संदेश गया है कि महिलाएं भी किसी से कम नहीं हैं और वे भी किसी देश में सर्वोच्च पद पर आसीन हो सकती हैं। दूसरी ओर दूसरी कैटलिन नोवाक की सराहना इसलिए भी की जानी जरूरी है, क्योंकि उन्होंने यह साबित करके दिखाया है कि महिलाएं भी एक कुशल राजनीतिज्ञ हो सकती हैं और राष्ट्रवाद को हथियार बनाकर देश की सत्ता में अपने लिए महत्वपूर्ण जगह बना सकती हैं।

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.