Jimmy Carter: US के 39 वें President

600
39th US President

Jimmy Carter President बनने से पहले संयुक्त राज्य अमेरिका की नौसेना में भी सेवा दे चुके थे और जॉर्जिया में सीनेटर के साथ जॉर्जिया के गवर्नर भी रह चुके थे, जिसके अनुभव की वजह से अमेरिका के 39वें राष्ट्रपति का पद संभालने के बाद उन्होंने अपने कार्यकाल में जो कदम उठाए, वे यादगार बन गए। इस लेख में हम आपको जिमी कार्टर के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी उपलब्ध करा रहे हैं।

इस लेख में आप जानेंगे:

  • Jimmy Carter का प्रारंभिक जीवन
  • Jimmy Carter का Career
  • 39th US President के तौर पर Jimmy Carter
  • 39th US President के रूप में Jimmy Carter का कार्यकाल
  • राष्ट्रपति पद से हटने के बाद Jimmy Carter

Jimmy Carter का प्रारंभिक जीवन

  • जिमी कार्टर का जन्म 1 अक्टूबर, 1924 को जॉर्जिया के प्लेंस शहर में स्थित वॉइस क्लीनिक अस्पताल में हुआ था। इसी अस्पताल में उनकी मां लिलियन कार्टर नर्स के तौर पर कार्यरत थीं। वहीं, इनके पिता अर्ल कार्टर खेती किया करते थे। वे कपास व मूंगफली की फसलें उगाया करते थे।
  • Jimmy Carter Age को मात देते हुए अपनी जिंदगी में आगे बढ़ रहे हैं और आज 1 अक्टूबर को वे 96 साल के हो गए हैं। जिमी कार्टर की छोटी बहनों के नाम ग्लोरिया और रूथ, जबकि उनके छोटे भाई का नाम बिली है।
  • प्लेंस हाई स्कूल से जिमी कार्टर ने 1941 में दसवीं की परीक्षा पास की थी और जॉर्जिया के साउथवेस्टर्न कॉलेज में उन्होंने पढ़ाई की थी। इस कॉलेज को छोड़ने के बाद 1942 में जॉर्जिया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में भी उनकी पढ़ाई हुई थी।
  • वर्जीनिया विश्वविद्यालय के मिलर सेंटर के प्रकाशन American President: Jimmy Carter: A Life in Brief के अनुसार मैरीलैंड स्थित यूएस नेवल एकेडमी में उन्हें वर्ष 1943 में प्रवेश मिल गया था, जहां से 1946 में उत्तीर्ण होने के बाद यूएस की नौसेना की पहली परीक्षणात्मक पनडुब्बी में उन्हें सेवा देने का अवसर मिल गया था।
  • अपनी बहन रूथ की सहेली एलानोर रोजालिन स्मिथ के साथ 7 जुलाई, 1947 को जिमी कार्टर विवाह के बंधन में बंध गए थे और इसी साल उनके बेटे जॉन विलियम ने जन्म लिया था। जिमी कार्टर को वर्ष 1950 में जेम्स तृतीय व 1952 में डोंनल जेफरी नाम के बेटे हुए और 1967 में बेटी एमी लिन हुई।
  • वर्जीनिया विश्वविद्यालय के मिलर सेंटर के प्रकाशन American President: Jimmy Carter: Life Before The Presidency के मुताबिक जिमी के पिता अर्ल कार्टर का जब 1953 में निधन हो गया तो इसके बाद जिमी कार्टर अपनी पत्नी के साथ जॉर्जिया लौट गए। यहां उन्होंने अपने पिता की खेती के कारोबार को संभाल लिया था।

Jimmy Carter का Career

  • Jimmy Carter का चयन वर्ष 1962 में जॉर्जिया सीनेट में हो गया था। जॉर्जिया के गवर्नर पद के लिए जिमी कार्टर ने 1966 में चुनाव भी लड़ा था, लेकिन इसमें उन्हें हार का सामना करना पड़ा था।
  • एक बार फिर से जिमी कार्टर जॉर्जिया के गवर्नर पद के चुनाव में 1971 में खड़े हुए थे और इस बार उन्होंने अपने माथे पर जीत का सेहरा बांध ही लिया।
  • Jimmy Carter अपने साथ Vice President अपने सहयोगी Walter Frederick Mondale को बनाना चाहते थे। यही वजह थी कि वर्ष 1976 में जब डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से Jimmy Carter राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बने थे, तो Mondale उपराष्ट्रपति पद का चुनाव लड़ रहे थे। दोनों ने मिलकर राष्ट्रपति Gerald Ford और उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार Bob Dole को हरा दिया था।
  • जिमी कार्टर जिनका पूरा नाम जेम्स अर्ल कार्टर जूनियर था, वे वर्ष 1976 से लेकर 1980 तक संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति रहे थे।

39th US President के तौर पर Jimmy Carter

  • Jimmy Carter Oldest Living President के रूप में जाने जाते हैं। दो साल पहले जिमी कार्टर ने 94 साल और 172 दिन की उम्र में पहुंचने के बाद अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज एच डब्ल्यू बुश का रिकॉर्ड तोड़ दिया था और इस उपलब्धि को उन्होंने हासिल किया था।
  • जॉर्ज एच डब्ल्यू बुश संयुक्त राज्य अमेरिका के 41वें राष्ट्रपति रहे थे, जिनका निधन 94 साल 171 दिनों की आयु में हुआ था।
  • Jimmy Carter Death को भी चकमा देते हुए आज अपना 96वां जन्मदिन मना रहे हैं।

39th US President के रूप में Jimmy Carter का कार्यकाल

जिम्मी कार्टर के राष्ट्रपति के तौर पर कार्यकाल के दौरान घटने वालीं कुछ प्रमुख घटनाएं निम्नवत हैं:

  • मिस्र के राष्ट्रपति अनवर अल-सदात और इजरायल के प्रधानमंत्री मेनाखम बेगिन के बीच जिमी कार्टर ने वर्ष 1978 में कैंप डेविड में एक समझौता करवाया था, जिसकी वजह से इसराइल और मिस्र के दरम्यान वर्ष 1979 में शांति कायम हो सकी थी।
  • चीनी जनवादी गणराज्य को राजनयिक मान्यता भी जिमी कार्टर के ही राष्ट्रपति कार्यकाल में 1 जनवरी, 1979 को संयुक्त राज्य अमेरिका ने प्रदान की थी। इस तरह से दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंध स्थापित हो गए थे।
  • ईरान की इस्लामी क्रांति जब 1979 में हुई थी तो तेहरान स्थित अमेरिकी दूतावास पर नवंबर में उग्रवादी छात्रों ने कब्जा करके 50 से भी अधिक अमेरीकियों को बंधक बना लिया था। ईरान और संयुक्त राज्य अमेरिका के कूटनीतिक समाधान नहीं निकाल पाने के कारण सैन्य बल पर 1980 में बंधकों को छुड़ाने की कोशिश तो हुई, मगर इसमें कई अमेरिकी सैनिकों की मौत हो गई। आखिरकार 444 दिनों के बाद वर्ष 1981 में बंधक रिहा किए गए थे।
  • अफगानिस्तान पर जब सोवियत संघ ने धावा बोल दिया था तो जिमी कार्टर ने मास्को में चल रहे 1980 ग्रीष्मकालीन ओलिम्पिक खेलों का अमेरिकी खिलाड़ियों को बहिष्कार करने का आदेश दिया था।
  • जिमी कार्टर वर्ष 1980 में भी राष्ट्रपति चुनाव में फिर से खड़े हुए थे, लेकिन इस बार उन्हें हार का स्वाद चखना पड़ा था।

राष्ट्रपति पद से हटने के बाद Jimmy Carter

Jimmy Carter ने राष्ट्रपति के तौर पर अपना कार्यकाल जब पूरा कर लिया तो इसके बाद वे मानवाधिकार से संबंधित अनेक संस्थाओं से जुड़ कर लोगों के कल्याण के लिए काम करते रहे। उन्होंने इसके बाद कई किताबें भी लिखीं।

अंत में

Jimmy Carter President के तौर पर अमेरिका में जितने सक्रिय रहे, राष्ट्रपति पद से हटने के बाद भी लोगों के मानवाधिकारों की रक्षा और दुनिया में शांति स्थापना के लिए अपने प्रयासों में भी वे उतने ही सक्रिय रहे। यही वजह रही कि जिमी कार्टर को वर्ष 2002 में नोबेल शांति पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया।

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.