ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है ?

1703

ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर में प्रयोग किया जाने वाले सॉफ्टवेयर का समूह है। जिसके बिना कंप्यूटर कुछ भी नहीं है। किसी भी कंप्यूटर में इंस्टाल होने वाले हर सॉफ्टवेयर को चलाने के लिए तथा कंप्यूटर और उपभोक्ता के बीच सम्बन्ध  स्थापित करने के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम की बहुत बड़ी भूमिका है। उदहारण के लिए जैसे घर के लिए नीव की महत्ता होती है, किसी भी मनुष्य को जीवित रहने के लिए दिल महत्ता होती है, ठीक उसी तरह से एक कंप्यूटर को चलाने के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम की आवश्यकता होती है। तो जानते हैं की ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है ?

 ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है ?

ऑपरेटिंग सिस्टम को शोर्टकट में ओएस भी कहते हैं। यह एक ऐसा सॉफ्टवेयर  है, जो कंप्यूटर में मौजूद एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर जैसे MS Word, Adobe Reader, Audio Player etc. इन सब को चलाता है और न सिर्फ चलाता है बल्कि कंप्यूटर के इनपुट-आउटपुट डिवाइस जैसे कीबोर्ड, माउस, प्रिंटर, मॉनिटर के बीच और कंप्यूटर के बीच सम्बन्ध स्थापित भी करता है । जिससे कंप्यूटर दिए जाने वाले निर्देश को समझ पाता है और इसके माध्यम से उपभोक्ता कंप्यूटर की स्क्रीन (Interface) पर हो रही प्रक्रिया को समझ पाते हैं ।

ऑपरेटिंग सिस्टम क्यों आवश्यक है :

ऑपरेटिंग सिस्टम उपभोक्ता तथा कंप्यूटर के बीच एक माध्यम का कार्य करता है। इसके अलावा यह हार्डवेयर्स तथा सॉफ्टवेयर्स के मध्य एक सेतु का कार्य भी करता है। ऑपरेटिंग सिस्टम के बिना कंप्यूटर का अपने आप में कोई अस्तित्व नहीं है। यदि ऑपरेटिंग सिस्टम न हो तो कंप्यूटर अपने हार्डवेयर्स जैसे कि कुंजीपटल (Keyboard), मानिटर (Monitor), सीपीयू (CPU) आदि के बीच कभी भी संबंध स्थापित नहीं कर पाएगा। ऑपरेटिंग सिस्टम किसी कंप्यूटर का प्रयोग करने वाले को इस समस्या से बचाता है कि वह कंप्यूटर के समस्त भागों की जानकारी रखे।

ऑपरेटिंग सिस्टम के कार्य :

ऑपरेटिंग सिस्टम अनेक प्रकार के उपयोगी कार्य करता है जिनमें से कुछ प्रमुख कार्य नीचे दिए जा रहे हैं-

  • फाइल पद्धति – फाइल बनाना, मिटाना तथा फाइलों को एक स्थान से दूसरे स्थान ले जाना और फाइल को व्यवस्थित रूप से रखना।
  • प्रक्रिया – प्रोग्राम और आँकडों को मेमोरी में बाँटना, प्रक्रिया को आरंभ करके समुचित रूप से चलाना और उसे व्यवस्थित रखना।
  • इनपुट/आउटपुट – सीपीयू और मानिटर, प्रिंटर, डिस्क आदि के बीच मध्यस्थता करना।

ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार :

वैसे तो ऑपरेटिंग सिस्टम बहुत लोगों ने बहुत प्रकार के स्थापित किए है लेकिन जो सबसे ज्यादा प्रचलित हैं वो निम्नलिखित हैं –

  • विन्डोज सीई (Windows CE)
  • विन्डोज x (Windows 3.x)
  • विन्डोज 95 (Windows 95)
  • विन्डोज 98 (Windows 98)
  • विन्डोज 98 एस ई (Windows 98 SE)
  • विन्डोज एमई (Windows ME)
  • विन्डोज एनटी (Windows NT)
  • विन्डोज 2000 (Windows 2000)
  • विन्डोज एक्सपी (Windows XP)
  • विन्डोज 7  (Windows 7)
  • विन्डोज  8 (Windows 8 )
  • विंडोज  10 (Windows 10)
  • लिनक्स (Linux)
  • मैक ओ एस (Mac OS)
  • एमएस डॉस  (MS-DOS)
  • आईबीएम ओएश/2 (IBM OS/2)
  • यूनिक्स (Unix)

 

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.