मर्चेन्ट नेवी में कैरियर कैसे बनाएँ

1385

अगर आप रोमांच भरा जीवन जीना चाहते हैं, नौकरी करते हुए विदेशी भूमि छुना आपको पसंद है और पृथ्वी पर फैली हुई जल राशि आपको आकर्षित करती है तो आप बेहिचक पानी के जहाज पर नौकरी कर सकते हैं। इसका एक तरीका तो यह है की आप देश सेवा करने के लिए नौ सेना में भर्ती हो जाएँ।लेकिन यदि आप कुछ हटकर काम करना चाहते हैं तो आपके लिए मर्चेन्ट नेवी एक अच्छा विकलप है।

मर्चेन्ट नेवी क्या है:

पानी पर चलने वाले वो जहाज जिनका मुख्य काम यात्रियों और सामान को एक देश से दूसरे देश लाना और लेजाना होता है, ऐसे जहाज मर्चेन्ट नेवी के जहाज कहलाते हैं। इनमें यात्री ,मालवाहक, तेल और रेफ़िज्रेटिड जहाज शामिल होते हैं।

मर्चेन्ट नेवी में कैसे शामिल हों :

मर्चेन्ट नेवी में शामिल जहाजों पर जहाज के संचालन, तकनीकी रखरखाव और यात्रियों की सेवाएँ और सुविधाओं से संबन्धित कार्य किए जाते हैं। इन सभी सेवाओं के लिए दसवीं पास से लेकर स्नातक स्तर के युवा मर्चेन्ट नेवी का हिस्सा बनने के योग्य हो सकते हैं। इस क्षेत्र में शामिल होने के लिए आप निम्न संस्थानों से विभिन्न प्रकार के कोर्स करके मर्चेन्ट नेवी का हिस्सा बन सकते हैं:

  • इंडियन मेरीटाइम यूनिवर्सिटी, चेन्नई (imu.tn.nic.in)
  • ट्रेनिंग शिप चाणक्य, नवी मुंबई (dgshipping.com)
  • मरीन इंजीनियरिंग एंड रिसर्च संस्थान, कोलकाता( merical.ac.in)
  • लाल बहादुर शास्त्री कॉलेज ऑफ एडवांस मरीनटाइम स्टडीज एंड रिसर्च, मुंबई (imu.tn.nic.in)
  • चेन्नई पोर्ट ट्रस्ट, चेन्नई (chennaiport.gov.in)
  • कोचीन पोर्ट ट्रस्ट, कोच्चि( cochinport.com)

शैक्षिक योग्यता :

मर्चेन्ट नेवी का हिस्सा बनने के लिए आपकी शैक्षिक योग्यता निम्न होनी चाहिए :

  • कक्षा बरहवीं में भौतिकी, रसायन और गणित विषयों की परीक्षा पास करी हो; और अथवा
  • समुद्री इंजीनियरी विषय के साथ बीएससी पास करी हो

इसके अतिरिक्त आप निम्न कोर्स करके भी इस क्षेत्र का हिस्सा बन सकते हैं:

  • तीन साल की नॉटिकल साइंस में डिग्री
  • चार साल की मरीन इंजीनियरिंग डिग्री
  • दो साल का डिप्लोमा होल्डर्स के लिए विशेष कोर्स
  • ग्रेजुएट मेकेनिकल इंजीनियर्स के लिए एक साल का विशेष पाठ्यक्र्म
  • डेक कैडेट के लिए तीन महीने का पाठ्यक्र्म
  • 3 महीने का डेक रेटिंग में कोर्स
  • इंजन रेटिंग का 3 महीने का पाठ्यक्र्म
  • सेलून रेटिंग के लिए 4 महीने का पाठ्यक्र्म

इन सभी पाठ्यक्रमों में आवेदन करने से पूर्व भारत सरकार के द्वारा लिए जाने वाली एक कॉमन प्रवेश परीक्षा पास करनी अनिवार्य होती है। इसमें सफल युवा व्यक्तिगत काउन्सलिन्ग के लिए चुने जाते हैं। जो इस परीक्षा को सफलता पूर्वक पास कर लेते हैं फिर उन्हें उनके निर्धारित संस्थान में प्रवेश मिल जाता है। पाठ्यक्र्म पूरा होने के बाद भारत सरकार की ओर से सफल युवाओं को इंडियन सीडीसी लाइसेन्स जारी किया जाता है। यह लाइसेन्स आपको विश्व की किसी भी जहाज़ी कंपनी में काम करने की अनुमति देता है।

 प्रशिक्षण और पदमान :

यदि कोई युवा बारहवीं के बाद मर्चेन्ट नेवी में काम करना चाहता है तो उसे जहाज पर डेक केडेट के रूप में काम मिल सकता है। इसके बाद तीन साल तक काम के साथ प्रशिक्षण मिलता है और आप आगे के पद के लिए तैयार होते हैं।

यदि आप समुद्री इंजनियार विषय के साथ काम करना चाहते हैं तो नेविगेटिंग ऑफिसर के रूप में आपका चयन हो सकता है। इसके बाद निर्धारित प्रशिक्षण मिलता है। इसे सफलता पूर्वक प्राप्त करने के बाद आप भारत सरकार के भूतल परिवहन मंत्रालय के द्वारा आयोजित दक्षता परीक्षा को पास करना अनिवार्य होता है। इसके बाद आपकी नियुक्ति कैप्टन वर्ग के पद पर हो सकती है।

मर्चेन्ट नेवि में नौकरी के अवसर :

भारत के प्रशिक्षित मर्चेन्ट नेवी के युवा भारत के अतिरिक्त विभिन्न देशों की जहाज़ी कंपनियों के साथ निम्न पदों पर कार्य कर सकते हैं:

  • डेक विभाग
  • उप कप्तान
  • सहायक कप्तान
  • थर्ड मेट
  • पायलट ऑफ शिप
  • इंजन विभाग
  • जहाज इंजिनियर
  • इलेक्ट्रिकल ऑफिसर
  • नॉटिकल सर्वेयर
  • रेडियो ऑफिसर
  • सेवा विभाग
  • सेरंग

Leave a Reply !!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.