नौकरी और वर्क फ्रॉम होम के बीच अंतर

25

आज के समय में देखा गया है की बढ़ते हुए तकनीकी युग में जहां घर से काम करना आसान हो गया है वहीं कुछ लोग ऑफिस के अनुशासित माहौल में बैठकर काम करना ज्यादा पसंद करते हैं।

कुछ नियोक्ताओं का मानना है कि एक व्यवसाय के सफल होने के लिए, कर्मचारियों के कार्यालय में होना अति आवश्यक है तो कुछ नियोक्ताओं के अनुसार घर से काम करने का विकल्प देकर कर्मचारियों की नौकरी से संतुष्टि दर बढ़ाई जा सकती है और इसके इलावा उनकी रचनात्मकता को भी इस से बढ़ावा मिलता है।

इन दोनों विकल्पों में से आपके लिए कौन सा विकल्प सही है ये निर्णय लेने के लिए हम यहाँ दोनों विकल्पों के कुछ पक्ष आपको दिखाने की कोशिश कर रहे हैं जिनको पढ़ने के बाद हम उम्मीद करते हैं कि नौकरी और वर्क फ्रॉम होम के बीच अंतर को आप बेहतर ढंग से समझ पाएंगे और स्वयं निश्चित कर पाएंगे कि आपके लिए दोनों में से काम करने का कौन सा तरीका बेहतर है :

घर से काम करने के सकारात्मक पक्ष:

1. सुविधानुसार काम का समय
अधिकांश ऑफिस की नौकरियां कर्मचारी से नौ से पांच बजे तक कार्यालय में रहने की अपेक्षा करती हैं जो की कई बार उत्पादक घंटो में नही बदल पाते। कुछ लोग अपने पसंदीदा समय पर काम करके ज्यादा रचनात्मक सिद्ध हो सकते हैं और घर से कार्य करना अपने लिए सबसे अधिक उत्पादक घंटो का चुनाव करने का विकल्प देता है।

2. तनाव मुक्त कर्मचारी
ऑफिस आने जाने में होने वाली दिक्कतों से निजात, अच्छी नींद , काम करने के लिए अपना पसंदीदा माहौल उत्पादकता के परिणामों में स्पष्ट रूप से प्रभावी अंतर दिखाता है जिस से कर्मचारी भी तनाव मुक्त रह कर अपना काम अच्छे से कर पाते हैं।

3. परिवार और दोस्तों के साथ बिताने के लिए समय
कुछ विशेष पारिवारिक अवसरों को काम प्रतिबद्धताओं के कारण छोड़ने की आम नीति इस घर से काम करने की प्रक्रिया में नहीं अपनानी पड़ती। चाहे वो किसी ख़ास दोस्त का कोई ख़ास दिन हो या फिर परिवार में कोई पार्टी घर से काम करना एक व्यक्ति को सक्षम बनाता है की वो काम को अपने ढंग से व्यवस्थित करके सामाजिक जीवन भी बिना किसी अड़चन के अच्छे से चला सके।

4. समय और धन की बचत
जहां घर पर बैठकर काम करने से ऑफिस आने जाने में लगने वाला समय बचता है वहीं शरीर भी यात्रा में होने वाली थकान से मुक्त रहता है। इसके इलावा धन की भी काफी बचत इस सुविधा से हो जाती है क्योंकि इस से ना तो अपना पेट्रोल लगता है न ही सार्वजनिक परिवाहन का किराया।

5. कहीं भी बैठकर काम करने की आज़ादी
रोज़ रोज़ एक ही वातावरण में बैठकर काम करना काफी उबाऊ हो सकता है और इस विकल्प में आप कोई भी आरामदायक जगह अपने काम करने के लिए चुन सकते हैं फिर चाहे वो जगह कॉफ़ी हाउस हो या फिर कोई पार्क या लाइब्रेरी। ये बेचैनी वाली भाव-दशा से निकल कर काम पर आसानी से ध्यान केंद्रित करने का आसान और उपयोगी तरीका है।

ऑफिस से नौकरी करने के सकारात्मक पक्ष:

1. सामाजिक संपर्कों में बढ़ोतरी
समाज में रहने के लिए सामाजिक नेटवर्क बनाये रखना अति महत्वपूर्ण है और सहकर्मियों से अच्छा मेलजोल, उनके साथ खाना पीना , छुट्टी के दिन बाहर अच्छा समय बिताना जहां आपके संपर्क बढाने में मदद करता है वहीं आपको खुश और संतुष्ट भी बनाता है।

2. समय प्रबंधन
एक कार्यालय आमतौर पर निश्चित समय में काम पूरा होने की उपेक्षा आपसे रखता है जिस से आपको भावी ढंग से प्रबंधन करने की सीख मिलती है। आप निर्धारित समय में ज्यादा से ज्यादा उत्पादक ढंग से काम करना सीखते हैं ताकि घर जाने के समय तक आप निश्चिन्त होकर घर जा सकें।

3. व्यावसायिक माहौल में अपने आप को प्रस्तुत करने की कला
अपने आप को प्रस्तुत करने की कला आपके व्यक्तित्व को निखारती है और इस कौशल से भविष्य में आप अपने आपको आत्मविश्वास वाले व्यक्तियों में शामिल करने के काबिल बनते हैं। इस से आपको पहनने, बोलने , उठने ,बैठने का ढंग पता चलता है।

4. कैरियर के विकास के लिए प्रेरणा
जब आप एक दफ्तर के माहौल में काम करते हैं, तो सहयोगियों को देखकर प्रतिस्पर्धा की भावना उत्पन्न होती है। आप उनसे अच्छा करने के लिए प्रेरित होते हैं जो व्यक्तिगत और व्यावसायिक लक्ष्य – सिद्धि दोनों के लिए अच्छा है। आपको उच्च अधिकारियो से भी काफी कुछ सीखने को मिलता है जो आपको अपने क्षेत्र में उत्कृष्टता प्राप्त करने में सहाई है।

5. सहयोगियों से सहायता
आप एक कार्यालय में हैं और आपको अपने काम में कोई दिक्कत आ रही है तो आप तुरंत अपने सहयोगी से इस बारे में पूछ सकते हैं। आप उन्हें अपने डेस्क पर बुलाकर अपनी कंप्यूटर स्क्रीन पर भी दिखाकर अपनी समस्या सुलझा सकते हैं। इस तरह से कोई भी परेशानी को किसी के साथ मिलकर सुलझाना आसान हो जाता है।

अंत में हम कह सकते हैं की दोनों ही तरह से काम करने के अपने अपने अलग अलग लाभ हैं। ये आप पर निर्भर करता है की आप किसको ज्यादा महत्तव देते हैं।कुछ लोगों को एक कार्यालय में काम करना ख़ुशी देता है और कुछ लोग घर से काम कर के खुश हैं।आपको अपने विकल्पों को अपने तरीके से तोलना होगा और निर्णय करना होगा कि आप के लिए सबसे अच्छा क्या है। क्या आप घर बैठकर काम करने के लिए पर्याप्त रूप से अनुशासित हैं, बिना किसी की सहायता लिए काम करने के लिए तैयार हैं या फिर आपको रोज़ नए लोगों से नई चीज़े सीखना आकर्षित करता है और आप एक अनुशासित माहौल में अपने आप को ज्यादा उत्पादक पाते हैं। इन सवालों के जवाब आप खुद अपने आप को दे सकते हैं और फिर अपने आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प तय कर सकते हैं।

Comments