दुनिया के 10 सबसे भयावह भूकंप

earthquakeप्राकृतिक आपदा कभी भी किसी भी वक्त आ सकती है। देश आए दिन बाढ़, भूकंप, तूफान इत्यादि प्राकृतिक आपदा झेलता रहता है । इन्हीं में से भूकंप भी एक ऐसी प्राकृतिक आपदा है जो मानव जीवन को समाप्त करने के साथ-साथ भविष्य को भी अस्त-व्यस्त कर देता है। आइए जानते है भूकंप क्या है और किन कारनों से आता है ?

भूकंप कैसे आता है :-

धरती मुख्य तौर पर चार परतों से बनी हुई है, इनर कोर, आउटर कोर, मैनटल और क्रस्ट। क्रस्ट और ऊपरी मैन्टल को लिथोस्फेयर कहते हैं। ये 50 किलोमीटर की मोटी परत, वर्गों में बंटी हुई है, जिन्हें टैकटोनिक प्लेट्स कहा जाता है। ये टैकटोनिक प्लेट्स अपनी जगह से हिलती रहती हैं लेकिन जब ये बहुत ज्यादा हिल जाती हैं, तो भूकंप आता है। ये प्लेट्स क्षैतिज और ऊर्ध्वाधर, दोनों ही तरह से अपनी जगह से हिल सकती हैं। इसके बाद वे अपनी जगह तलाशती हैं और ऐसे में एक प्लेट दूसरी प्लेट के नीचे आ जाती है।

भूकंप किन कारणों से आता है :-

  1. प्राकृतिक कारणों से आने वाले भूकंप – प्राकृतिक रूप से आने वाले भूकंप विवर्तनिक भूकंप भी कहलाते हैं क्योंकि ये पृथ्वी के विवर्तनिक गुण से संबंधित होते हैं। प्राकृतिक रूप से आने वाले अधिकतर भूकंप भ्रंश (फाल्ट) के साथ आते हैं। भूविज्ञान कालक्रम के दौरान अधिकतर भ्रंश दोहरे विस्थापनों का निर्माण करते हैं।
  1. मानव गतिविधियों से भूकंप – गहरे कुओं से तेल निकालना-भरना अथवा निकालना, जल की विशाल मात्रा को रखने वाले विशाल बांधों का निर्माण करना और नाभिकीय विस्फोट जैसी विनाशकारी घटना के समान गतिविधियाँ मानव प्रेरित भूकंप का कारण हो सकती हैं।

 दुनिया के सबसे दस भयावह भूकंप :-

  1. 23 जनवरी, 1556 (सांक्सी प्रांत, चीन)

चीन के सांक्सी प्रांत में 23 जनवरी, 1556 को भूकंप आया था। रिक्टर स्केल पर 8 तीव्रता वाले इस भूकंप से 520 मील (840 किमी.) एरिया तबाह हो गया था। करीब 8 लाख 30 हजार लोगों की मौत हुई थी।

  1. 28 जुलाई 1976 (तांगशान, चीन)

चीन का तांगशान शहर 7.8 तीव्रता वाला भूकंप आया था। इसमें 5 लाख से अधिक लोग मारे गए थे।

  1. 22 मई, 1960 (वाल्डिविया, चिली)

चिली के वाल्डिविया में रिक्टर स्केल पर 9.5 तीव्रता वाले इस भूकंप ने भारी तबाही मचाई थी। इसमें 6 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी।

  1. 1 सितंबर 1923 (टोक्यो, जापान)

जापान की राजधानी टोक्यो में ग्रेट कांटो भूकंप आया । इसकी वजह से 142,800 लोगों को अपनी जान गवाई थी।

  1. 26 जनवरी 2001 (गुजरात, भारत)

भारत के गुजरात राज्य में रिक्टर स्केल पर 7.9 तीव्रता का एक शक्तिशाली भूकंप आया। इसमें कम से कम 30 हज़ार लोग मारे गए थे ।

  1. 31 मई, 1935 (क्वेटा, पाकिस्तान)

क्वेटा और उसके आसपास के इलाक़ों में आए ज़बरदस्त भूकंप में लगभग 35 हज़ार लोगों की जानें गईं थी।

  1. 8 अक्तूबर, 2005 (पाकिस्तान)

पाकिस्तान में 7.6 तीव्रता वाला भीषण भूकंप आया, जिसमें करीब 75 हज़ार लोग मारे गए थे।

  1. 26 दिसंबर, 2004, (श्रीलंका, फिलीपींस व दक्षिणी भारत)

भूकंप के कारण पैदा हुईं सुनामी लहरों ने एशिया में 2 लाख 30 हजार लोगों की जान ले ली थी। 8.9 तीव्रता वाला भूकंप था।

  1. 21 जून 1990 (गिलान, ईरान)

ईरान के उत्तरी राज्य गिलान में आए भूकंप ने 40 हज़ार से भी अधिक लोगों की जान ले ली थी।

  1. 26 दिसंबर, 2003 (ईरान)

दक्षिणी ईरान में आए भूकंप में 26 हज़ार से अधिक लोगों की मौत हो गई थी।

 

Comments