छुट्टियों में सीखने के लिए कंप्यूटर कोर्स!

17

सीखने की न कोई उम्र होती है न ही कोई सीमा|

और जब आपके पास समय की कमी न हो तब सीखने के विकल्प भी बढ जाते हैं| जैसे कि गर्मी की छुट्टियां या फिर परीक्षा के बाद की छुट्टियां| यह समय बहुत अच्छा माना जाता है कुछ नया सीखने व करने के लिए| आज का समय टेक्नोलॉजी-प्रधान माना जाता है| तो कोई नई टेक्नोलॉजी सीखने से बेहतरीन और क्या हो सकता है!

टेकनोलोजी की बात करे और कंप्यूटर की बात ना हो, ये तो कुछ नामुमकिन सा ही है| छुट्टियों में कंप्यूटर व उससे जुड़े हुए कुछ कोर्स सीखे जा सकते हैं| यह कोर्स छुट्टियों को ध्यान में रखते हुए कम समय के लिए ही बनाये गए हैं| भविष्य में इनका ज्ञान आपके लिए अत्यंत उपयोगी साबित हो सकता है |

1) एम. ऐस. ऑफिस सर्टिफिकेट प्रोग्राम (M.S. Office Certificate Program)= एम. ऐस. ऑफिस से कहीं ना कहीं हम सब परिचित हैं| हम अक्सर इसका प्रयोग भी करते रहते हैं| लेकिन ये बात भी माननी होगी कि हम इसमें पूरी तरह से सक्षम नहीं हैं| हर ऑफिस इसको प्रयोग में जरूर लाता है| तो एम. ऐस. ऑफिस की पूरी जानकारी लेना अच्छा विकल्प है| इसके कई उपयोगों के बारे में हम अपरिचित है |

2) ऐस.क्यू.एल.(SQL) या अन्य कोई डेटाबेस = काम जहाँ होगा, वहाँ डाटा भी जरूर होगा| इसलिए हर क्षेत्र, हर ऑफिस किसी न किसी डेटाबेस का इस्तेमाल जरूर करता है| डेटाबेस में ऑफिस की सब तरह की जानकारी, संभाल के व सलीके से रखी जाती है जिससे जब भी जरुरत पड़े तब पुराने आंकड़े देखे जा सके| तो कोई भी डेटाबेस सीखना अच्छा विकल्प है| ओरेकल (Oracle) डेटाबेस भी काफी चर्चा में हैं|

3) एथिकल हैकिंग = हर कंपनी और ऑफिस का अपना डाटा होता है जो कि महत्त्वपूर्ण एवं गुप्त होता है| कंपनी अपने इस डाटा को बचाकर रखने के लिए हर मुमकिन जतन करती है| लेकिन जो इस डाटा/जानकारी को निकाल कर ले जाए उन्हें हैकर्स (Hackers) कहते है| और इस कार्य को हैकिंग (Hacking) कहते हैं| आप सोच रहे होंगे कि यह एक गैर क़ानूनी कार्य है | आप सही है ! लेकिन एथिकल हैकर का कार्य कंपनियों को इन हैकर से बचाना है | यह वे लोग है जो कंपनी के नेटवर्क में जितनी भेद्यता (vulnerabilities) है उन्हें ढूँढ कर उजागर करते है ताकि इन्हें सुधार कर सुरक्षा और कड़ी की जा सके | आने वाले दिनों में इस क्षेत्र में पारंगत लोगों की बहुत जरुरत होने वाली है |

4) एनीमेशन / मल्टीमीडिया (Animation/Multimedia) = इसका प्रयोग हर रंगीन स्क्रीन पर होता है, फिर चाहें वो टीवी हो, फिल्में हो, बच्चों के पसंदीदा कार्टून्स हों, रंग बिरंगी किताबे हों, विडियो गेम्स हों या अन्य कुछ| एनीमेशन का प्रयोग खूब जोर-शोर से लगभग हर क्षेत्र में हो रहा है| टीवी, फिल्मों में दृश्य प्रभाव (visual effects) एनीमेशन के द्वारा ही डाले जाते हैं| इस कोर्स के अन्तर्गत कुछ निम्नलिखित विषय आते हैं: –

  • विषुयल इफेक्ट्स आर्टिस्ट (Visual Effect Artist)
  • एडवरटाइजिंग (Advertising)
  • गेम डिजाईन (Game Design)
  • फिल्म डिजाईन (Film Design)
  • मल्टीमीडिया डिजाईन (Multimedia Design)
  • डिजिटल पब्लिशिंग (Digital Publishing)
  • वीएफएक्स एवं वीएफएक्स प्रो (VFX & VFX Pro)

5) क्लाउड कंप्यूटिंग (Cloud Computing)= टेक्नोलॉजी मार्किट में इसका बहुत नाम है| अक्सर आप अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में काफी तरह के सॉफ्टवेयर्स रखते हैं परंतु अब इसकी जरुरत नहीं हैं| क्लाउड कंप्यूटिंग के द्वारा आप ये सब सॉफ्टवेयर्स इत्यादि इन्टरनेट से ही ले सकते हैं| वेब सेवाएं अर्थात वेब सर्विस से आप मन चाहें सॉफ्टवेयर्स इन्टरनेट से ही उपयोग कर सकते हैं| क्लाउड कंप्यूटिंग वेब ब्राऊज़र पर आधारित है| काफी बड़ी कंपनियो द्वारा क्लाउड कंप्यूटिंग प्रदत्त है, जैसे अमेज़न.कॉम | इसका अर्थ यह है कि क्लाउड कंप्यूटिंग काफी विश्वसनीय है| यह एक वर्च्युअल हार्ड डिस्क जैसा ही है|

इसी तरह इन कम अवधि वाले कोर्स की लिस्ट में बहुत से नाम और भी है – जैसे वेब डिजाइनिंग, प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेज (जैसे C, C++, Java), इत्यादि| बढ़ते हुए मोबाइल के उपयोग को देखते हुए एंड्राइड एप बनाना सीख कर आप खुद का एप भी बना सकते है! तो इनमें से कोई कोर्स करें और और इन् छुट्टियों में अपना ज्ञान व आत्मविश्वास बढ़ाइएं |

Comments